सोलर ऑर्बिटर मिशन के बारे में जानें – यूलिसिस अंतरिक्षयान

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

Solar Orbiter Mission Explained in Hindi पिछले दिनों यूरोपीय अन्तरिक्ष एजेंसी (European Space Agency – ESA) और नासा ने मिलकर सौर परिक्रमा मिशन (Solar Orbiter Mission) का अनावरण करते हुए एक सोलर ऑर्बिटर अन्तरिक्षयान सूर्य की ओर भेजा. यह अन्तरिक्षयान अमेरिका के Cape Canaveral से एक United Launch Alliance Atlas V रॉकेट द्वारा प्रक्षेपित किया गया. सोलर ऑर्बिटर क्या है? … Read More

वोयाजर मिशन क्या है? – VOYAGER 1 और 2 की उपलब्धियाँ, इंटरस्टेलर स्पेस और हेलियोस्फियर

Richa KishoreScience Tech2 Comments

NASA’s Voyager 2 spacecraft Explained in Hindi नासा के Voyager 2 खोजी अन्तरिक्षयान में हाल में हुई गड़बड़ी को ठीक कर लिया गया है. विदित हो कि यह अन्तरिक्षयान धरती से लगभग 11 . 5 बिलियन मील पर है. समस्या क्या थी? जनवरी 25, 2020 को इस अन्तरिक्षयान से जो काम लेने की योजना थी वह काम यह नहीं कर … Read More

कणिका कंप्यूटर क्या है? – Quantum Computing in Hindi

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

फरवरी 1, 2020 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन के द्वारा प्रस्तुत 2020-21 के केन्द्रीय बजट में राष्ट्रीय कणिका प्रौद्योगिकी एवं अनुप्रयोग मिशन (National Mission on Quantum Technologies and Applications) के लिए आगामी पाँच वर्षों में 8,000 करोड़ रु. का आवंटन प्रस्तावित हुआ है. कणिका प्रौद्योगिकी (Quantum Technologies) क्या है? कणिका प्रौद्योगिकी के अन्दर ये सब आते हैं – कणिका संगणन, … Read More

NASA की SPITZER दूरबीन – स्पिट्जर टेलीस्कोप in Hindi

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

Spitzer telescope NASA की SPITZER नामक अन्तरिक्षीय दूरबीन जनवरी 30, 2020 को सेवानिवृत्त हो गई. पिछले 16 वर्षों से यह दूरबीन इन्फ्रारेड प्रकाश में कोसमोस के अन्वेषण में लगी हुई थी. SPITZER क्या है? SPITZER दूरबीन NASA के वृहद् वेधशाला कार्यक्रम “Great Observatory” प्रोग्राम की सबसे बाद में बनी दूरबीन है. अगस्त 25, 2003 में यह सौर परिक्रमा पथ में … Read More

कृत्रिम मनुष्य (Virtual Human) – NEON क्या है? ये वर्चुअल असिस्टेंट से अलग कैसे?

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

‘Virtual human’ – NEONs सैमसंग कम्पनी की संस्था स्टार लैब्स ने कृत्रिम मनुष्य के निर्माण की परियोजना हाथ में ली है जिसके लिए कृत्रिम मनुष्य का नाम NEON रखा गया है. कहा जाता है कि ये विश्व के पहले कृत्रिम मनुष्य होंगे. NEON क्या हैं? NEON वे आभासी मनुष्य (virtual human) हैं जो कंप्यूटर से सृजित किये गये हैं. NEON … Read More

जूस जैकिंग क्या है और कैसे काम करता है? – इससे बचने के उपाय

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

अभी पिछले दिनों ही भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ट्विटर हैंडल से जूस जैकिंग (juice jacking) के विषय में एक सार्वजनिक चेतावनी निर्गत की है. इसमें ग्राहकों और जनसामान्य को परामर्श दिया गया है कि वे सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों पर अपना मोबाइल चार्ज करने के लिए नहीं लगायें अन्यथा हैकरगण उनके स्मार्ट फ़ोन में एक मैलवेयर (malware) डालकर भाँति-भाँति … Read More

भारती लिपि (Bharati Script) और OCR योजना – IIT मद्रास की पहल

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान – मद्रास के शोधकर्ताओं ने डॉ. श्रीनिवास चक्रवर्ती के नेतृत्व में भारती लिपि (Bharati Script) नामक एक लिपि बनाई है जो नौ भारतीय भाषाओं के लिए प्रयोग की जा सकती है. साथ ही, भारती में लिपिबद्ध प्रलेखों को पढ़ने के लिए एक बहुभाषीय आँखों से अक्षर पहचानने (Optical Character Recognition – OCR) योजना भी तैयार की गई … Read More

H9N2 वायरस क्या है? Explained in Hindi

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

भारत के वैज्ञानिकों ने देश का ऐसा पहला संक्रमण का मामला पता लगाया है जिसमें बर्ड फ्लू फैलाने वाले H9N2 वायरस के एक विरल प्रकार का प्रकोप देखने को मिला है. H9N2 क्या है? यह इन्फ्लुएंजा A वायरस का एक उप-प्रकार है जिससे मनुष्य और पंछियों में इन्फ्लुएंजा होता है. इस उप-प्रकार का पता सबसे पहले अमेरिका के विस्कोंसिन (Wisconsin) … Read More

ब्लैक बॉक्स क्या होता है? – Black Box in Hindi

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

जनवरी 8 को यूक्रेन के लिए चला एक सवारी विमान ईरान में एक खेत में जाकर टकरा गया और उसमें विस्फोट हो गया. इस घटना में 176 सवारी के प्राण चले गये. इस घटना के वास्तविक कारण का अभी तक पता नहीं लग सका है. इस विमान के ब्लैक बॉक्स में मिलने पर ही शंकाओं का समाधान हो सकता है. … Read More

उच्च क्षमता वाली लिथियम-सल्फर बैटरी (Li-S)

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

ऑस्ट्रेलिया के मोनाश विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक उच्च क्षमता वाली लिथियम-सल्फर बैटरी (super-capacity prototype by re-engineering a Lithium Sulphur (Li-S) battery) तैयार की है जिसमें ऐसी बैटरियों में होने वाली समस्याओं का निदान कर दिया गया है. लिथियम-सल्फर बैटरियों (Li-S) के साथ समस्या इस प्रकार की बैटरियाँ कोई नई नहीं हैं, पर इनमें एक मौलिक समस्या होती है कि … Read More