टेक्नोलॉजी नवाचार हब (TIH) और NM-ICPS का कार्यान्वयन

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

IIT मंडी को टेक्नोलॉजी इनोवेशन हब (Technology Innovation Hub – TIH) स्थापित करने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST) ने 7.25 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी है.

यह धनराशि अंत:शाखीय साइबर-भौतिक प्रणालियों से सम्बंधित राष्ट्रीय मिशन (NM-ICPS) के अन्दर मुहैया की गई है.

टेक्नोलॉजी नवाचार हब (TIH) के मुख्य कार्य

  • यह विद्यालयों, महाविद्यालयों और उन्नत तकनीकी प्रशिक्षण संस्थानों के लिए नवाचार का एक मंच प्रदान करेगा.
  • इस हब के माध्यम से जिन चुनौतियों के लिए तकनीक विकसित की जायेगी उनमें से प्रमुख हैं – भूस्खलन, जलवायु परिवर्तन, वायु प्रदूषण, कृषि, साइबर सुरक्षा, रक्षा सेनाएँ, स्वास्थ्य की देखभाल और विधि-विज्ञान.
  • टेक्नोलॉजी नवाचार हब (TIH) कार्यशालाएं और सेमिनार आयोजित करके स्नातक, स्नातकोत्तर, PHD और संकाय के स्तर पर कौशल युक्त कार्यबल का सृजन करेगा.
  • यहाँ साइबर से जुड़े शोध किए जाएंगे और देश को साइबर अपराध से बचाया जा सकेगा.
  • प्रमुख रूप से क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर, ऑटोमोटिव और यूएवी (अनमैंड एरियल व्हीकल) सिक्योरिटी पर शोध होगा.
  • अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस हब का काम देश-विदेश के विश्वविद्यालयों और संगठनों के बीच नए सहयोग गढ़ना और वर्तमान सहयोग को सुदृढ़ करना होगा.
  • टेक्नोलॉजी नवाचार हब IIT मंडी के साथ सहभागिता करते हुए स्टार्ट-अप कम्पनियों के लिए एक परिवेश की रचना करेगा.

NM-ICPS का कार्यान्वयन

  • इस मिशन के अन्दर 15 टेक्नोलॉजी नवाचार हब (TIH), 6 एप्लीकेशन नवाचार हब (Application Innovation Hubs (AIH) तथा 4 टेक्नोलॉजी ट्रांसलेशन रिसर्च पार्क (TTRP) का सृजन होगा.
  • यह सभी हब और पार्क शिक्षा जगत, उद्योग जगत, केंद्र और राज्य सरकारों के साथ मिलकर देश के विभिन्न प्रतिष्ठित शैक्षणिक, अनुसंधानपरक एवं अन्य संगठनों में तकनीकी समाधान विकसित करेंगे.

Tags : Key features of NM- ICPS, targets in Hindi. National Mission on Interdisciplinary Cyber Physical Systems. Need for and significance of the mission.  Department of Science and Technology (DST).

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.