[Sansar Surgery Part 7, 2018] Left Topics of Sansar DCA

Sansar LochanSansar Surgery2 Comments

Print Friendly, PDF & Email

कई बार ऐसा होता है कि हमारी लाख मेहनत के बावजूद करंट अफेयर्स का कोई न कोई टॉपिक छूट ही जाता है. यह सिर्फ हमारे साथ ही नहीं, बड़ी-बड़ी कोचिंग संस्थाओं के साथ भी होता है. हम तो खैर छोटे लोग हैं और वैसे भी मानव की प्रकृति है कि कुछ भी परफेक्ट नहीं हो सकता.

खैर, जब हमने फिर से The Hindu और अन्य अखबारों पर अपनी पैनी नज़र दौड़ाई तो देखा कि कुछ important current affairs को हमने Sansar DCA में cover नहीं किया है.

फिर हमने सोचा जो लोग UPSC Prelims 2019 को टारगेट कर रहे हैं और संसार लोचन टीम पर आँख मूँद कर भरोसा कर रहे हैं, हमारी यह भूल उनके लिए नाइंसाफी होगी. इसलिए हमने Sansar DCA से हटकर “Sansar Surgery Series” शुरू की है जिसमें वर्ष 2018 और आगामी वर्ष 2019 के वही टॉपिक शामिल होंगे जो हमारे द्वारा भूल से Sansar DCA में कवर नहीं किये गए हों. यह Sansar Surgery Series का पार्ट 7 है.

Sansar Surgery Part 7, 2018

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP)

हाल ही में, CSO (Central Statistics Office) ने इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (आईआईपी) डेटा जारी किया है. वर्तमान आईआईपी का आधार वर्ष 2011-12 है, जिसे पुरानी शृंखला आधार वर्ष 2004-05 से बदल दिया गया है. अब, इसमें 865 वस्तुएं (पहले 682 वस्तु) शामिल हैं, इसलिए यह ट्रेंड की बेहतर तरीके से व्याख्या करता है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

आपको prelims में ऐसा सवाल आ सकता है कि “हाल ही में, सीएसओ ने इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (आईआईपी) डेटा जारी किया है. अगर यह कहता है कि आईआईपी 105 है तो, इसका क्या मतलब है?”

सीधे पूछने के बजाय, हम विश्लेषणात्मक भाग से पूछ रहे हैं जो समझ को और अधिक संहत (terse) और स्पष्ट बनाता है. चूँकि आधार वर्ष को सौंपा गया मूल्य = 100 है; इसलिए, 105 का मतलब है कि वर्ष 2011-12 के आधार वर्ष में 5% की वृद्धि हुई है.

परिवेश (PARIVESH) पोर्टल

परिवेश(PARIVESH) में सभी प्रकार की मंजूरीयों (यानी पर्यावरण, वन, वन्यजीवन और सीआरजेड) के लिए ‘एकल पंजीकरण’ और ‘एकल साइन-इन’ शामिल है. परिवेश (PARIVESH)प्रोजेक्ट समर्थकों, नागरिकों को कार्य स्थिति देखने, ट्रैक करने और सीधे जांच अधिकारियों के साथ बातचीत करने के लिए सक्षम बनाता है और ऑनलाइन निकासी पत्र जारी करता है, इस प्रकार यह प्रक्रिया में तेजी प्रदान करता है.

कंचनजंगा बायोस्फीयर रिजर्व

हाल ही में, कंचनजंगा बायोस्फीयर रिजर्व को यूनेस्को की व‌र्ल्ड नेटवर्क ऑफ बायोस्फीयर रिजर्व (डब्लूएनबीआर) की सूची में शामिल किया गया है. कंचनजंगा बायोस्फीयर रिजर्व उच्चतम पर्यावरण प्रणालियों में से एक है. यह हिमालयी वैश्विक जैव विविधता हॉटस्पॉट के अंतर्गत आता है. अकेले कोर जोन में 150 से अधिक ग्लेशियर और 73 हिमनद झीलें हैं जिनमें से 26 किमी लंबा ज़ेमु ग्लेशियर प्रसिद्ध हैं. लेपचा, नेपाली और भूटिया जैसी जातीय जनजातियां वहां रहती हैं.

प्रारंभिक परीक्षा में यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

भारत के संबंध में यह प्रमुख विकासों में से एक है, इसलिए इसे बहुत विस्तार से कवर किया जाना आवश्यक है.

इथेनॉल

पेट्रोल की तुलना में इथेनॉल में कम कैलोरीफिक मूल्य होता है, यानी इथेनॉल द्वारा जारी की गई प्रति इकाई ऊर्जा, पेट्रोल की तुलना में कम होती है, लेकिन इसमें ऑक्टेन नंबर पेट्रोल की तुलना में अधिक होता है, यानी ऑक्टेन नंबर हमें बताता है कि इंजन सुचारू रूप से चलेंगे. अतः इथेनॉल के साथ पेट्रोल का मिश्रण नॉकिंग पॉइंट ऑफ व्यू से भी करना वांछनीय है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

चूँकि समाचार पत्र इथेनॉल के गुणों को विस्तार से कवर नहीं कर रहे हैं, एवं इसकी उपयोगिता को देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है कि इथेनॉल के गुणों के संबंध में गहराई से जानना आवश्यक है, अतः हमने इसे विस्तृत रूप से कवर किया है.

संघीय कार्यपालिका में कौन-कौन शामिल होते हैं?

हमें याद रखना चाहिए कि अटॉर्नी जनरल कार्यपालिका का हिस्सा होते हैं और वह ऐसी किसी भी बहस या चर्चा में भाग ले सकते हैं जिससे वह जुड़े हों.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

हाल ही में, अटॉर्नी जनरल समाचारों में हैं और ऐसा देखा गया है कि आमतौर पर छात्र यह भूल जाते हैं कि अटॉर्नी जनरल कार्यपालिका का हिस्सा होता है, इसलिए हमने विचार कर इसे छात्रों के ध्यान में एक बार फिर लाने का प्रयास किया है.

विदेशी कीकर (प्रोसोपिस जूलीफ्लोरा)

विलायती कीकर या विलायती बबूल, जैसा कि नाम से पता चलता है, यह एक आयातित पौधा है जिसे मेक्सिको से लाया गया है, जहां इसे ‘मेस्क्विट’ के नाम से जाना जाता है. टैक्सोनोमिस्ट इसे प्रोसोपिस जूलीफ्लोरा के रूप में जानते हैं, और 1970 के दशक में, संयुक्त राष्ट्र जैसी अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों ने इससे किसानों को मिली मदद की वजह से इसे “वंडर ट्री” के रूप में सम्मानित किया. लेकिन, अब इसकी वजह से अन्य प्रजातियों के समाप्त होने के साथ-साथ पानी के स्तर में आई कमी कि ऐसी समस्या उत्पन्न हो गई है, जिस कारण अब इसे ‘डेविल ट्री’ कहा जाता है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

जटिल प्रकार के सवाल अब यूपीएससी की प्रवृत्ति बन रहे हैं (उदाहरण के लिए 2018 में), इसलिए हम छात्रों को इस संबंध में बता रहे हैं.

चीनी सरकार “उइगर” को लेकर समाचारों में है

उइगर मुसलमान हैं जो खुद को चीन के लोगों के बजाय मध्य एशियाई लोगों के अधिक करीब पाते हैं (चूँकि शिंजियांग प्रांत अपनी सीमा कजाखस्तान, क्रिगस्तान आदि जैसे देशों के साथ साझा करता है). चीन के इस क्षेत्र को उपेक्षित किया गया था, लेकिन चीन की सरकार ने काशगर से ग्वादर तक सीपीईसी गलियारा शुरू करने का फैसला किया है ताकि वह अपने सबसे उपेक्षित प्रांत में समृद्धि और नौकरियां ला सके. जातीय और धार्मिक मुद्दों के कारण इस प्रांत में हमेशा तनाव की स्थिति बनी रहती है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

इस topic को देने का उद्देश्य छात्रों को उस क्षेत्र के बारे में जागरूक करना है जिसके माध्यम से CPEC (China–Pakistan Economic Corridor) गलियारा गुजरता है और उन्हें उइगर समुदाय की समस्याओं से अवगत कराना है.

बीडाक्विलिन

इसका उपयोग टीबी के इलाज के लिए किया जाता है, चूँकि यह बहु-दवा प्रतिरोधी टीबी(MDR-TB) के लिए इलाज के समय को काफी कम करता है. हाल ही में, तेलंगाना में इसके उपयोग के लिए अस्पतालों की संख्या को सीमित कर दिया गया है.

‘स्वयं’ पोर्टल

“स्वयं” मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक पहल है, जहां सर्वश्रेष्ठ प्रोफेसरों द्वारा मुफ्त ऑनलाइन पाठ्यक्रम प्रदान कर छात्रों की मदद की जाती है. यह एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके द्वारा छात्र देश के सर्वोत्तम प्रोफेसरों से अध्ययन कर सकते हैं.

हॉट हाउस

हाल ही में, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि जलवायु परिवर्तन के संयुक्त प्रभाव पृथ्वी को ‘हॉटहाउस’ जैसे परिदृश्य की ओर लेकर जा रहा है. वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर जलवायु परिवर्तन इसी तरह से जारी रहता है तब वह समय दूर नहीं होगा जब पृथ्वी “टिपिंग प्वाइंट” तक पहुंच जाएगी, यानी वह स्थिति जहां से पृथ्वी अपनी मूल अवस्था में वापस नहीं आ सकती जिसका एकमात्र कारण जलवायु परिवर्तन होगा. ‘हॉटहाउस’ जैसे परिदृश्य का मतलब है कि यह बर्फ की चट्टानों को अन्य ग्रीन हाउस की स्थितियों के साथ पिघला देगा, जिससे पृथ्वी जीवित रहने के लिए उपयुक्त नहीं रह पायेगी.

Also read previous Surgeries >>

Sansar Surgery Part 1 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 1

Sansar Surgery Part 2 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 2

Sansar Surgery Part 3 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 3

Sansar Surgery Part 4 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 4

Sansar Surgery Part 5 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 5

Sansar Surgery Part 6 यहाँ पढ़ें >> Sansar Surgery Part 6

[stextbox id=’alert’ bgcolor=’FFFF00′]नोट:[/stextbox]

जिन्होंने Sansar DCA April-July 2018 का यह Ebook ख़रीदा है या जो इसे 31 August, 2018 तक खरीद लेंगे उन्हें Sansar Surgery के सभी series का PDF फाइल महीने के अंत में FREE में मिलेगा. PDF File को उनके email id पर mail कर दिया जायेगा.

sansar_dca_ebook

Click to buy

Books to buy

2 Comments on “[Sansar Surgery Part 7, 2018] Left Topics of Sansar DCA”

  1. Thank you so much sir…
    Please provide bihar special if can…
    Besides of these all covered topics were well and expect to come in upsc exam…

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.