[आर्थिक सर्वेक्षण 2020] Vol1 अध्याय 09 – निजीकरण और धन सृजन

Sansar LochanEconomic SurveyLeave a Comment

मित्रों!  आप जानते होंगे कि हम लोग आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 की समीक्षा कर रहे हैं. इस बार के economic survey 2019-20 में कुल 11 चैप्टर हैं. चैप्टर 11 और 10 की चर्चा हम लिखित रूप में कर चुके हैं. पर इस बार हम चैप्टर 9 की चर्चा विडियो के माध्यम से कर रहे हैं. नीचे विडियो है. जरुर देखें. Other … Read More

खुला बजट सर्वेक्षण – Open Budget Survey

Sansar LochanBudgetLeave a Comment

खुला बजट सर्वेक्षण बजट से सम्बंधित सूचनाओं को लोगों के बीच पहुँचाने तथा उत्तरदायित्वपूर्ण बजट प्रणालियों के अंगीकरण को बढ़ावा देने के लिए अभिकल्पित वैश्विक शोध कार्यक्रम – अंतर्राष्ट्रीय  खुला बजट भागीदारी पहल (International Budget Partnership’s Open Budget Initiative) – के अंगस्वरूप खुला बजट सर्वेक्षण (Open Budget Survey) प्रकाशित किया गया. यह सर्वेक्षण अंतर्राष्ट्रीय बजट भागीदारी (International Budget Partnership – IBP) … Read More

[Sansar Editorial] बैंकों के विलय से कर्मचारियों और ग्राहकों पर प्रभाव

Sansar LochanBanking, Sansar Editorial 20201 Comment

आपने समाचारों में पढ़ा ही होगा कि अप्रैल 2020 से छह बैंक सिंडीकेट बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, कारपोरेशन बैंक और आंध्रा बैंक का अस्तित्व समाप्त हो चुका है. इन बैंकों का विलय 4 बैंकों में कर दिया गया है. ये जो चार बैंक होंगे, उनके नाम इस प्रकार हैं – केनरा बैंक, पंजाब … Read More

विशेष आहरण अधिकार : Special Drawing Rights (SDR)

Sansar LochanFiscal Policy and Taxation1 Comment

पिछले दिनों अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने निर्णय किया कि वह अपने सभी 189 सदस्यों को काविड-19 से उत्पन्न संकट से लड़ने के लिए बिना शर्त के निकासी के विशेष आहरण अधिकार (Special Drawing Rights – SDR) प्रदान करेगा. परन्तु, भारत इस प्रस्ताव का समर्थन नहीं कर रहा है क्योंकि उसे लगता है कि इससे महामारी-जन्य वित्तीय संकट को दूर करने … Read More

यूरो कोरोना बांड्स के बारे में जानकारी

Sansar LochanFinanceLeave a Comment

Euro Corona bonds in Hindi कोरोना वायरस आपदा से उत्पन्न वित्तीय संकट  को दूर करने के लिए कोरोना बांड निर्गत करने का प्रस्ताव है. परन्तु यूरोपीय संघ के देशों में इसको लेकर अलग-अलग प्रतिक्रियाएँ आ रही हैं. कोरोना बांड क्या हैं? कोरोना बांड यूरोपीय संघ के सदस्य देशों को वित्तीय राहत देने के लिए एक सामूहिक ऋण होगा. तात्पर्य यह … Read More

प्रतिचक्रीय पूँजी बफर योजना – COUNTER CYCLICAL CAPITAL BUFFER (CCYB)

Sansar LochanBankingLeave a Comment

भारतीय रिज़र्व बैंक ने पिछले दिनों प्रतिचक्रीय पूँजी बफर (Counter cyclical capital buffer – CcyB) योजना के कार्यान्वयन को टाल दिया और निर्यात से होने वाले लाभ के लिए वसूली की अवधि बढ़ा दी. पृष्ठभूमि प्रतिचक्रीय पूँजी बफर योजना भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा 5 फ़रवरी, 2015 को आरम्भ की गई थी जिसमें यह कहा गया था कि CCyB को परिस्थितियों के अनुसार समय-समय पर … Read More

“वेज एंड मीन्स एडवांसेज” (Ways and Means Advances – WMA)

Sansar LochanBankingLeave a Comment

भारतीय रिज़र्व बैंक ने सरकार द्वारा उससे मांगे जाने वाले अल्पावधि ऋण की सीमा बढ़ा दी है. 2020-21 के पहले पूर्वार्द्ध में यह सीमा बढ़कर अब 1.2 लाख करोड़ रु. हो गई है. ज्ञातव्य है कि इस ऋण सुविधा को “वेज एंड मीन्स एडवांसेज” (Ways and Means Advances – WMA) कहा जाता है. महत्त्व ऋण सीमा की यह बढ़ोतरी ऐसे … Read More

[आर्थिक सर्वेक्षण 2020] VOL1 अध्याय 10 – क्या भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) को बढ़ा-चढ़ाकर दर्शाया जा रहा है?

Sansar LochanEconomic Survey4 Comments

पहले तो आपको जान लेना होगा कि GDP क्या है? यदि आप नहीं जानते तो इन आर्टिकल को अवश्य पढ़िए > GDP in Hindi GDP(MP) और GDP(FC) में अंतर CPI, WPI, IIP और GDP DEFLATOR 👉आर्थिक सर्वेक्षण के अध्याय 10 से सम्बंधित मुख्य तथ्य इसमें कुल 30 पृष्ठ हैं GDP का आकलन गलत है या सही? $5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था आर्थिक … Read More

[आर्थिक सर्वेक्षण 2020] Vol1 अध्याय 11 – थालीनॉमिक्स : भारत में भोजन की थाली का अर्थशास्त्र

Sansar LochanEconomic Survey3 Comments

आज हम आर्थिक सर्वेक्षण (Economic Survey 2020) के चैप्टर 11 का विश्लेषण करेंगे और UPSC के exam point of view से इस चैप्टर से Prelims 2020 परीक्षा में क्या-क्या प्रश्न आ सकते हैं, उसका संक्षिप्त में विवरण करेंगे. आर्थिक सर्वेक्षण 2019-20 के अनुसार 2014-15 में उठाए गए मोदी सरकार के कारगर कदमों से 2015-16 में खाने की थाली सस्ती हुई … Read More

EASE 3.0 कार्यक्रम क्या है? – महत्व और इतिहास

Sansar LochanBankingLeave a Comment

Ease 3.0 for tech-enabled banking explained in Hindi पिछले दिनों वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने तकनीक से युक्त बैंकिंग के लिए EASE 3.0 कार्यक्रम का अनावरण किया. इस कदम का उद्देश्य सार्वजनिक बैंकों में जाने वाले ग्राहकों के अनुभव में परिवर्तन लाना है. EASE 3.0 कार्यक्रम क्या है? EASE का पूरा नाम Enhanced Access and Service Excellence है. इसका उद्देश्य … Read More