प्रथम कर्नाटक युद्ध (1746-48 ई.) : कारण एवं परिणाम

Dr. SajivaHistory, Modern History2 Comments

first_carnatic_war

प्रथम कर्नाटक युद्ध : भूमिका मुगलों के पतन के बाद राजनैतिक प्रभुत्व के लिए देशी शासकों के साथ-साथ विदेशी ताकतें भी संघर्षरत हो गयीं. देशी ताकतों में मुख्य रूप से मराठे थे तो विदेशी ताकतों में असली लड़ाई अंग्रेजों और फ्रांसीसियों के बीच थी. इन दोनों शक्तियों में प्रभुत्व का यह संघर्ष 60-70 साल चला और नेपोलियन के पतन के … Read More

शिवाजी की विजयें और प्रमुख सफलताएँ – List of Conquests

Dr. SajivaHistory, Modern History1 Comment

शिवाजी ने 1645-47 ई. के मध्य जिन तीन किलों पर अधिकार किया वे पहाड़ी दुर्ग थे. कुछ समय बाद (1656 ई. में) उन्होंने जावली (Jawali) पर विजय की. यह विजय शिवाजी के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण विजय थी. इस विजय के बाद – अब उनके लिए अपने राज्य को दक्षिण-पश्चिम में फैलाना आसान हो गया. यहाँ से प्राप्त सैनिक (मालवी सैनिक) … Read More

पूना सार्वजनिक सभा 1870 ई. के विषय में विस्तृत जानकारी

Dr. SajivaHistory, Modern History1 Comment

पूना सार्वजनिक सभा (मराठी – पुणे सार्वजनिक सभा) की स्थापना 2 अप्रैल, 1870 ई. को महादेव गोविंद रानडे ने की थी. पूना सार्वजनिक सभा सरकार और जनता के बीच मध्यस्थता कायम करने के लिए बनाई गई थी. भवनराव श्रीनिवास राव इस संस्था के प्रथम अध्यक्ष थे. बाल गंगाधर तिलक, गोपाल हरि देशमुख, महर्षि अण्णासाहेब पटवर्धन जैसे कई प्रतिष्ठित व्यक्तित्वों ने इस संगठन के … Read More

बटलर समिति के बारे में जानें – Butler Committee 1927 in Hindi

Dr. SajivaHistory, Modern History1 Comment

Harcourt_butler_committee

प्रथम विश्वयुद्ध के समय में देशी शासकों ने ब्रिटिश सरकार की बहुमूल्य सहायता की थी. युद्ध के अंत होने पर भारत में उत्तरदायी शासन के विकास की योजना बनाई गई. फलतः देशी शासकों और ब्रिटिश सरकार के बीच के सम्बन्ध की व्याख्या करने और ब्रिटिश सार्वभौम सत्ता को पारिभाषित करने की जरूरत महसूस हुई. फलतः 1927 ई. में इसकी जाँच … Read More

ल्हासा की संधि – Treaty of Lhasa 1904 ई. in Hindi

Dr. SajivaHistory, Modern HistoryLeave a Comment

lhasa_ki_sandhi treaty

आज हम ल्हासा की संधि (Treaty of Lhasa) के बारे में जानेंगे. यह कब हुआ, किनके बीच और किन परिस्थतियों (causes) में हुआ, इन सब के विषय में चर्चा करेंगे. भूमिका लॉर्ड कर्जन की तिब्बत सम्बन्धी नीति उसके वायसराय काल की एक महत्त्वपूर्ण घटना है. गवर्नर जनरल लॉर्ड वारेन हेस्टिंग्स के समय में ब्रिटिश सरकार तिब्बत के साथ व्यापारिक सम्बन्ध … Read More

चित्तरंजन दास (1870-1925 ई.) Biography in Hindi

Dr. SajivaBiography, History, Modern HistoryLeave a Comment

चित्तरंजन दास का प्रारम्भिक जीवन (Biography) बंगाल के इने-गिने प्रसिद्ध वकीलों में देशबन्धु चित्तरंजन दास का नाम था. उनका जन्म 1870 ई. में मुंशीगंज जिले, बांग्लादेश में हुआ था. उनके पिता का नाम भुवन मोहन दास और माता का नाम निस्तारिणी देवी था. इनका जन्म एक वैद्य-ब्राहमण परिवार में हुआ था. कांग्रेस के प्रति आकर्षण होने के बाद चित्तरंजन दास … Read More

पंडित मोतीलाल नेहरू (1861-1931) Biography in Hindi

Dr. SajivaHistory, Modern HistoryLeave a Comment

मोतीलाल नेहरू का प्रारम्भिक जीवन पंडित मोतीलाल नेहरू का जन्म 6 मई, 1861 ई. को हुआ था. मोतीलाल नेहरू के पूर्वज कश्मीर से आकर इलाहाबाद में बस गए थे. मोतीलाल नेहरू उत्तर प्रदेश के एक प्रसिद्ध वकील थे. उन्होंने स्वदेशी आन्दोलन से आकृष्ट होकर राजनीति में प्रवेश किया. उन्होंने 1912 ई. में इन्डेपेंडेंट (Independent) नामक एक पत्र का प्रकाशन इलाहाबाद से … Read More

अलीगढ़ आन्दोलन – Aligarh Movement in Hindi

Dr. SajivaHistory, Modern HistoryLeave a Comment

अलीगढ़ आन्दोलन के जनक सर सैयद अहमद खां थे. यह आन्दोलन सर सैयद खां के नेतृत्व  में शुरू किया गया था. इन्होंने समाज सुधार और आधुनिक शिक्षा, वैज्ञानिक और तकनीकी विकास पर अधिक जोर दिया था. चलिए जानते हैं अलीगढ़ आन्दोलन (Aligarh Movement) के विषय में in Hindi. इस आन्दोलन के प्रणेता/जनक कौन थे, यह कब शुरू हुआ आदि की भी चर्चा … Read More

विदेशी यात्री – Foreign Travellers in Indian History

Dr. SajivaAncient History, History3 Comments

foreign travellers in india

आज हम भारत के प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक काल में विदेशों से आये यात्रियों की list आपको बताने वाले हैं. ये विदेशी यात्री (foreign travellers) भारतीय इतिहास में बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान रखते हैं. इनमें से कई यात्रियों की किताबें (books) भारत के अमूल्य इतिहास को ताजा करती हैं. उनकी किताबों से हमें पता चलता है कि उस समय भारत … Read More

[History Mains] के लिए Practice Questions for GS और Optional

Dr. SajivaHistory, History Q n A5 Comments

upsc_meme

जिन सौभाग्यशाली और मेहनती छात्रों ने UPSC Prelims clear करके Mains में प्रवेश किया है, उनको बधाई. जिनका history as optional subject है, उनके लिए भी यह पोस्ट important है. साथ ही साथ History GS Paper 1 के लिए भी ये सारे सवाल आपके काम आयेंगे. मैं हर practice question के बाद एक लिंक दूँगा जो आपको सवाल से सम्बंधित article … Read More