जर्मनी का एकीकरण – Unification of Germany in Hindi

Dr. SajivaHistory, World History12 Comments

unification_germany

19वीं सदी के पूर्वार्द्ध में जर्मनी भी इटली की तरह एक “भौगोलिक अभिव्यक्ति” मात्र था. जर्मनी अनेक छोटे-छोटे राज्यों में विभाजित था. इन राज्यों में एकता का अभाव था. ऑस्ट्रिया जर्मनी के एकीकरण (Unification of Germany) का विरोधी था. आर्थिक और राजनीतिक दृष्टि से जर्मनी पिछड़ा और विभाजित देश था. फिर भी जर्मनी के देशभक्त जर्मनी के एकीकरण (Unification of … Read More

यूरोप का पुनर्जागरण – Renaissance in Europe

Dr. SajivaHistory, World History29 Comments

Renaissance_in_Europe

पुनर्जागरण (Renaissance in Europe) का शाब्दिक अर्थ होता है, “फिर से जागना”. चौदहवीं और सोलहवीं शताब्दी के बीच यूरोप में जो सांस्कृतिक प्रगति हुई उसे ही “पुनर्जागरण” कहा जाता है. इसके फलस्वरूप जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में नवीन चेतना आई. यह आन्दोलन केवल पुराने ज्ञान के उद्धार तक ही सीमित नहीं था, बल्कि इस युग में कला, साहित्य और विज्ञान … Read More

अमेरिका का स्वतंत्रता-संग्राम – American Revolution

Dr. SajivaHistory, World History15 Comments

american revolution

आपको पता ही होगा कि क्रिस्टोफ़र कोलम्बस ने अमेरिका का पता लगाया था. अमेरिका का पता लगने के बाद यूरोप के बड़े-बड़े धनवान लोगों ने अमेरिका को बाँटना शुरू कर दिया. स्पेन, पुर्तगाल, हॉलैंड, फ्रांस औरइंग्लैंड ने वहाँ अपनी बस्तियाँ बसायीं. अमेरिका में अंग्रेजों के 13 उपनिवेश (Colonies) थे. उपनिवेशों में रहनेवाले अंग्रेज स्वतंत्रता-प्रेमी थे. वे अपनी स्वतंत्रता की रक्षा के … Read More

इटली का एकीकरण – Unification of Italy in Hindi

Dr. SajivaHistory, World History20 Comments

unification of italy

एकीकरण के पूर्व इटली एक “भौगोलिक अभिव्यक्ति” मात्र था. वह अनेक छोटे-छोटे राज्यों में विभाजित था. राज्यों में मतभेद था और सभी अपने स्वार्थ में लिप्त थे. एकीकरण (Unification) के मार्ग में अनेक बाधाएँ थीं. लेकिन इटली (Italy) के कुछ प्रगतिवादी लोगों ने एकता की दिशा में कदम उठाया. इटली के एकीकरण (Unification of Italy) में आर्थिक तत्त्वों की भूमिका … Read More

संविधान का 74th संशोधन अधिनियम, 1992

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes14 Comments

constitutional_amendment

1992 ई. में संविधान का 74वाँ संशोधन हुआ और संविधान में एक नया भाग IX A जुट गया. इसके अंतर्गत नगरपालिकाओं के संगठन एवं कार्य के सम्बन्ध में एक निश्चित दिशा-निर्देश दिया गया है. इसके अनुसार  नगरपालिकाओं की निम्नलिखित विशेषताओं का उल्लेख किया जा सकता है – Main characteristics of the municipalities according to 74th Amendment Act i) प्रत्येक राज्य … Read More

जानें Trump और Modi में क्या हैं Similarities या Common बातें

Sansar LochanPerson in News2 Comments

common_things_trump_modi

डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) अमेरिका के नए प्रेसिडेंट बन गए हैं. डोनाल्ड ट्रम्प ने हिलरी क्लिंटन को 276-218 वोटों से पटखनी दे दी. ऐसा कयास लगाया जा रहा था कि हिलरी आसानी से ट्रम्प को हराकर USA की पहली महिला President बन जाएगी. पर ठीक इसका उल्टा हुआ. आखिरकार Republican Party की ही जीत हुई. इतने उठा-पटक के बाद मिली इस … Read More

500 रु. और 2000 रु. के आगमन से Indian Economy पर प्रभाव

Sansar LochanBanking, Economics Notes27 Comments

2000 रु का नोट

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8.11.2016 तारीख को भारतीय मुद्रा प्रणाली में एक नया बदलाव लाया है. वहाँ अमेरिका आज वोट गिन रहा है और यहाँ भारत आज नोट गिन रहा है. सम्पूर्ण देश को संबोधित करे हुए मोदी जी ने कहा कि 11 नवम्बर की रात से भारत में प्रचालित या जमा किये गए 500 रु. और 1000 … Read More

SSC CHSL Preparation के लिए Best Hindi Books

Sansar LochanSSC10 Comments

ssc_books

आप यदि इस पोस्ट को गूगल सर्च करते हुए आये हैं तो आप जरुर SSC CHSL के लिए श्रेष्ठ किताबों (best books) की तलाश में आये हैं. शायद आपका मन विचलित है कि हिंदी माध्यम में एसएससी (SSC CHSL) की तैयारी (preparation of SSC CHSL in Hindi medium) के लिए कौन-सी पुस्तक आपके लिए मददगार/श्रेष्ठ (best books) साबित होंगे? घबराइये मत! … Read More

[Quiz] Garam Dal और Naram Dal Par Sawal-Jawab

Sansar LochanQuiz28 Comments

टॉपिक: Garam Dal और Naram Dal Par Sawal-Jawab कुल सवाल: 10 पास मार्क्स: 50% अपना मार्क्स कमेंट में जरुर शेयर करें. Quiz स्टार्ट करने से पहले यह आर्टिकल जरुर पढ़ लें, तभी आप इन प्रश्नों का उत्तर सफलतापूर्वक दे पायेंगे:- उग्रवाद का उदय (बाल, लाल और पाल) – गरम दल 1905

उग्रवाद का उदय (बाल, लाल और पाल) – गरम दल 1905

Dr. SajivaHistory, Modern History, Video1 Comment

garam dal

1885 से 1905 तक भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन की बागडोर कांग्रेस के उदारवादी दल के हाथ में थी. 1905 ई. से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का दूसरा चरण प्रारम्भ होता है, जिसे उग्रवादी युग (garam dal) की संज्ञा दी गई है. जब ब्रिटिश साम्राज्यवाद का वरदान मानने वाले तथा उनकी न्यायप्रियता में अटूट विश्वास रखनेवाले उदारवादी नेताओं का विश्वास टूटकर बिखर गया तब … Read More