देहिंग पटकाई वन्यजीव अभयारण्य – चर्चा में क्यों?

Sansar LochanEnvironment and Biodiversity, VideoLeave a Comment

हाल ही में नेशनल बोर्ड फॉर वाइल्ड लाइफ (National Board for Wild Life- NBWL) ने असम में अवस्थित देहिंग पटकाई वन्यजीव अभयारण्य (Dehing Patkai Wildlife Sanctuary) के एक भाग सालेकी (Saleki) में कोयला खनन की अनुशंसा की.  आइये जानते हैं देहिंग पटकाई वन्यजीवन अभयारण्य के विषय में विस्तार से इस विडियो के माध्यम से —- विडियो को Like करना न … Read More

पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (EPI) 2020

Sansar LochanClimate ChangeLeave a Comment

येल विश्वविद्यालय द्वारा हाल ही में द्विवार्षिक पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (Environmental Performance Index – EPI) 2020 निर्गत किया गया. विदित हो कि इस बार इस सूचकांक को बनाने में 11 अलग-अलग मुद्दों से सम्बंधित 32 संकेतकों पर विचार किया गया है. ये 11 मुद्दे इस प्रकार हैं – जैव विविधता और आवास (15%), पारिस्थितिकी सेवाएँ (6%), वायु गुणवत्ता (20%), स्वच्छता … Read More

नगर वन योजना क्या है और इसकी आवश्यकता क्यों?

Sansar LochanBiodiversity, Govt. Schemes (Hindi)Leave a Comment

इस वर्ष पाँच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने नगर वन नामक एक योजना (Nagar Scheme) का सूत्रपात किया है. नगर वन योजना क्या है? नगर वन योजना शहरों में जंगल लगाने पर बल देती है. इस योजना के अंतर्गत अगले पाँच वर्षों तक पूरे देश में 200 के लगभग शहरी … Read More

भारत में टिड्डी दल का हमला – Locust attack in Hindi

Sansar LochanBiodiversityLeave a Comment

पाकिस्तान की सीमा से लगे राजस्थान के कुछ क्षेत्र हर वर्ष टिड्डियों के हमले का ख़ामियाज़ा उठाते हैं परन्तु गत तीन दशकों में ऐसा प्रथम बार हुआ है जब टिड्डियों का हमला इतना व्यापक है और टिड्डियों के ये दल उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश तक में प्रवेश कर चुके हैं. पिछले कुछ सप्ताहों से पश्चिम और दक्षिण एशिया तथा … Read More

वैश्विक वन संसाधन आकलन रिपोर्ट 2020

Sansar LochanEnvironment and Biodiversity1 Comment

मई 13, 2020 को खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) ने 2020 का वैश्विक वन संसाधन आकलन रिपोर्ट जारी कर दिया. इस रिपोर्ट में 236 से अधिक देशों और क्षेत्रों में 1990-2020 की अवधि में जंगलों की स्थिति की पड़ताल की गई है. इस रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 30 वर्षों में हम लोग 178 मिलियन हेक्टेयर जंगल खो चुके हैं. यह … Read More

[COVID-19] जैव-चिकित्सा अपशिष्ट निपटान – जैव-चिकित्सा अपशिष्ट प्रबंधन नियमवाली, 2016

Sansar LochanPollutionLeave a Comment

NGT raises concern over COVID-19 bio-medical waste disposal राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (National Green Tribunal – NGT) ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और प्रदूषण नियंत्रण समिति से कोरोना वायरस के इलाज के दौरान निकलने वाले जैव-चिकित्सा अपशिष्ट के अवैज्ञानिक निपटान से होने वाले संभावित जोखिम को रोकने के लिए निर्देश जारी किए हैं. चिंता का विषय अप्राधिकृत स्वास्थ्य सेवा प्रतिष्ठानों द्वारा … Read More

ग्रेट इंडियन बस्टर्ड, एशियाई हाथी और बंगाल फ्लोरिकन संयुक्त राष्ट्र प्रवासी प्रजाति संधि के परिशिष्ट 1 में सम्मिलित

Sansar LochanBiodiversityLeave a Comment

Species included in Appendix I of UN Convention on Migratory Species गुजरात के गांधीनगर में चल रहे प्रवासी प्रजाति संधि के पक्षकारों के 13वें सम्मेलन में ग्रेट इंडियन बस्टर्ड, एशियाई हाथी और बंगाल फ्लोरिकन को संयुक्त राष्ट्र प्रवासी प्रजाति संधि के परिशिष्ट 1 (Appendix I of UN Convention on Migratory Species) में सम्मिलित करने का निर्णय लिया गया है. एशियाई … Read More

स्टेट ऑफ़ इंडिया बर्ड 2020 रिपोर्ट (SoIB)

Sansar LochanBiodiversityLeave a Comment

State of India’s Birds 2020 गुजरात के गाँधीनगर में चल रहे प्रवासी प्रजाति संधि (Convention on Migratory Species) के पक्षकारों के 13वें संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के अवसर पर पिछले दिनों 10 संस्थानों एवं अनेक वैज्ञानिकों के द्वारा तैयार अनुसंधान पत्र निर्गत किया गया जिसे ‘State of India’s Birds 2020’ (SoIB) शीर्षक दिया गया है. इस अनुसंधान पत्र के किये आँकड़ों … Read More

जैव विविधता प्रबंधन समिति (BMC) क्या है? – गठन एवं कार्य

Sansar LochanBiodiversityLeave a Comment

Biodiversity management committees (BMC) राष्ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण (National Biodiversity Authority – NBA) राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (National Green Tribunal) को यह निवेदन करने जा रहा है कि उसने जनवरी 2020 तक 243,499 जैव विविधता प्रबंधन समितियाँ (biodiversity management committees – BMC) तथा 95,525 जन जैव विविधता पंजियाँ (people’s biodiversity registers – PBR) बना ली हैं. पृष्ठभूमि राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण एक … Read More

फ्यूचर ऑफ अर्थ प्रतिवेदन – Future of Earth 2020

Sansar LochanClimate ChangeLeave a Comment

फ्यूचर ऑफ अर्थ प्रतिवेदन 2020 दक्षिण एशियाई फ्यूचर अर्थ प्रादेशिक कार्यालय के द्वारा 2020 का फ्यूचर ऑफ अर्थ प्रतिवेदन प्रकाशित हो गया है. यह प्रतिवेदन इस उद्देश्य से तैयार हुआ है कि किस प्रकार कार्बन फुटप्रिंट घटाया जाए और 2050 तक वैश्विक तापमान को 2 डिग्री सेल्सियस से नीचे रोक दिया जाए. ज्ञातव्य है कि 2014 से 2018 के बीच … Read More