यूरोपीय ग्रीन डील क्या है? जलवायुगत तटस्थता (Climate neutrality) का अर्थ

Sansar LochanClimate ChangeLeave a Comment

हाल ही में सम्पन्न वार्षिक मैड्रिड जलवायु वार्ता से हटकर यूरोपीय संघ ने यह घोषणा की कि वह जलवायु परिवर्तन के विषय में कुछ और उपाय लाने जा रहा है. इन उपायों को यूरोपीय ग्रीन डील (European Green Deal) कहा जा रहा है. यूरोपीय ग्रीन डील के मुख्य तथ्य जलवायुगत तटस्थता (Climate neutrality): यूरोपीय संघ ने वचन दिया है कि … Read More

EChO नेटवर्क क्या है और यह कैसे काम करता है?

Sansar LochanClimate ChangeLeave a Comment

बहुशास्त्रीय नेतृत्व (cross-disciplinary leadership) को प्रोत्साहन देने के लिए भारत सरकार ने ECho नेटवर्क (EChO Network) नामक एक नेटवर्क का आरम्भ किया है. इसका उद्देश्य पर्यावरण से सम्बंधित ज्ञान में विद्यमान कमियों का पता लगाना और फिर इन विषयों पर पोस्ट-डाक्टोरल अनुसंधान हेतु प्रशिक्षण देना है और साथ ही वर्तमान में इस दिशा में किये गये सार्वजनिक एवं निजी प्रयासों … Read More

अटल भूजल योजना के बारे में विस्तृत जानकारी

Sansar LochanGovt. Schemes (Hindi), PollutionLeave a Comment

भारत सरकार का जल शक्ति मंत्रालय अटल भूजल योजना (Atal Bhujal Yojana – ABHY) नामक एक केन्द्रीय प्रक्षेत्र की योजना चला रहा है जिसके लिए विश्व बैंक से 6,000 करोड़ रु. मिलेंगे. इसमें भारत सरकार और विश्व बैंक आधा-आधा पैसा लगा रहे हैं. इस योजना का उद्देश्य देश में उन क्षेत्रों में भूजल के प्रबंधन को सामुदायिक सहयोग से सुधारना … Read More

वैश्विक जलवायु जोखिम सूचकांक 2020 – Global Climate Risk Index

Sansar LochanBiodiversityLeave a Comment

जर्मनवाच नामक अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण से सम्बंधित थिंकटैंक ने पिछले दिनों 2020 का वैश्विक जलवायु जोखिम सूचकांक (Global Climate Risk Index 2020) प्रकाशित कर दिया. प्रतिवर्ष छपने वाले इस सूचकांक में यह दर्शाया जाता है कि आंधी, बाढ़, लू आदि मौसम से जुड़ी आपदाओं का विभिन्न देशों पर कितना दुष्प्रभाव पड़ा है. ज्ञातव्य है कि जर्मनी के बॉन और बर्लिन नगरों … Read More

[Sansar Editorial] वातावरण में फैलता नाइट्रस ऑक्साइड कितना खतरनाक?

Sansar LochanPollution2 Comments

नवीन शोध के अनुसार, नाइट्रस ऑक्साइड पूर्व में किये गये अनुमान की तुलना में वातावरण में अधिक मात्रा में फैल रही हैं. इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर एप्लाइड सिस्टम्स एनालिसिस (आईआईएएसए) के वैज्ञानिकों के नए शोध के अनुसार नाइट्रस ऑक्साइड के उत्सर्जन में यह वृद्धि कृषि पद्धतियों और नाइट्रोजन युक्त उर्वरकों के लगातार बढ़ते प्रयोग से हुआ है. विदित हो कि नॉर्वेजियन … Read More

[Sansar Editorial] IPCC प्रतिवेदन में कार्बन उत्सर्जन के विषय में व्यक्त चिंताएँ

Sansar LochanClimate Change, Sansar Editorial 20191 Comment

पिछले दिनों जलवायु परिवर्तन से सम्बंधित अंतर्राष्ट्रीय पैनल (Intergovernmental Panel on Climate Change – IPCC) ने अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जिसमें कार्बन उत्सर्जन के विषय में कई चिन्ताएँ व्यक्त की गईं. IPCC प्रतिवेदन में व्यक्त चिंताएँ 2030 तक पूरे विश्व में कार्बन उत्सर्जन को 2010 वर्ष के स्तर से 45% नीचे लाना अनिवार्य होगा जिससे कि 2050 तक उत्सर्जन को … Read More

[Sansar Editorial] प्लास्टिक के बढ़ते उपयोग से प्रदूषित हो रहा पर्यावरण

Sansar LochanEssay, Pollution, Sansar Editorial 20181 Comment

विश्व पर्यावरण दिवस की वैश्विक मेजबानी इस बार भारत को मिली है और हमारे कन्धों पर अब दुनिया को प्लास्टिक से मुक्त बनाने की जिम्मेदारी है. आज हम प्लास्टिक के जानलेवा असर की बात करेंगे. प्लास्टिक हमारी जिंदगी का आवश्यक हिस्सा बन चुका है. प्लास्टिक ने हमारा जीवन जितना आसान किया है उतना ही इसकी वजह से हमें कई मुश्किलों … Read More

CAMPA अधिनियम एवं कोष के बारे में विस्तृत जानकारी

Sansar LochanBiodiversity1 Comment

भारत सरकार ने विभिन्न राज्यों को वनीकरण के लिए CAMPA कोष से 47,436 करोड़ रु. निर्गत किये हैं. CAMPA क्या है? यह एक कोष है जिसकी स्थापना 2006 में क्षतिपूरक वनीकरण के प्रबंधन के लिए की गई थी. CAMPA का पूरा नाम है –  Compensatory Afforestation Fund Management and Planning Authority (क्षतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण). पृष्ठभूमि 2002 में … Read More

राष्ट्रीय संसाधन कार्यक्षमता नीति – National Resource Efficiency Policy

Sansar LochanPollutionLeave a Comment

राष्ट्रीय संसाधन कार्यक्षमता नीति (Draft National Resource Efficiency Policy – NREP) प्रारूप को लागू करने में हुई प्रगति को ध्यान में रखते हुए पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने इस पर मन्तव्य मानने की समयसीमा को एक महीना बढ़ा दिया है. इस नीति का उद्देश्य संसाधनों के उपयोग को इस प्रकार कार्यक्षम बनाना है कि पर्यावरण पर न्यूनतम दुष्प्रभाव … Read More

सामुद्रिक ऊर्जा और उसके प्रकार एवं संभावनाएँ

Sansar LochanEnergy2 Comments

रत सरकार ने सामुद्रिक ऊर्जा (ocean energy) को नवीकरणीय ऊर्जा (renewable energy) के रूप में घोषित करने से सम्बंधित एक प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया है. नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने इस निर्णय के आलोक में सभी हितधारकों को स्पष्ट कर दिया है कि सामुद्रिक ऊर्जा के विभिन्न रूपों, जैसे – ज्वारीय, तरंगीय, समुद्री ताप ऊर्जा परिवर्तन आदि का … Read More