विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट – 2021

Sansar LochanEnvironment and Biodiversity, PollutionLeave a Comment

GS Paper 3 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus: पर्यावरण एवं संरक्षण.

Topic : विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2021

संदर्भ

एक स्विस संगठन आइ क्यू एयर (IQAir) ने “विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2021” शीर्षक से रिपोर्ट तैयार की है. इसमें विश्व के विभिन्‍न शहरों को वायु प्रदूषण के आधार पर रैंकिंग दी गई है. यह प्रतिवेदन 117 देशों के 6,475 शहरों के PM 2.5 डेटा पर आधारित है, जिसे स्थानीय निगरानी स्टेशनों द्वारा मापा जाता है, जिनमें से ज्यादातर निगरानी स्टेशन, सरकारी एजेंसियों द्वारा संचालित होते हैं.

विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट 2021 से सम्बंधित प्रमुख बिंदु

  • वर्ष 2021 में मध्य और दक्षिण एशिया के 15 सबसे प्रदूषित शहरों में से 11 शहर भारत के थे.
  • नई दिल्ली में PM 2.5 की सांद्रता 2021 में 14.6% बढ़कर 96.4 lg/m3 हो गई, जबकि 2020 में यह 84 lg/m3 थी.
  • भारत का वार्षिक औसत PM 2.5 स्तर वर्ष 2021 में 58.1 ug/m3 (माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर) तक पहुँच गया था. 
  • बांग्लादेश सबसे प्रदूषित देश था, उसके बाद चाड, पाकिस्तान और ताजिकिस्तान थे.
  • भारत 5वां सबसे प्रदूषित देश था.

अन्य तथ्य

  • 2021 में एक भी देश विश्व स्वास्थ्य संगठन के वायु गुणवत्ता मानक को पूर्ण करने में सफल नहीं हुआ. WHO के सितंबर 2021 के दिशानिर्देशों के अनुसार, 0-5 g/m3 के बीच PM 2.5 सांद्रता स्तर एक अच्छी वायु गुणवत्ता के रूप में माना जाता है.
  • प्रतिवेदन में कहा गया है कि वायु प्रदूषण को अब विश्व का सबसे बड़ा पर्यावरणीय स्वास्थ्य खतरा माना जाता है, जो हर साल पूरे संसार में 70 लाख मौतों का कारण बनता है.
  • साथ ही, वायु प्रदूषण दमा (अस्थमा) से लेकर कैंसर, फेफड़ों के रोगों एवं हृदय रोग तक अनेक रोगों का कारण बनता है और उन्हें बढ़ाता है.
  • इसके अतिरिक्त, वायु प्रदूषण की अनुमानित दैनिक आर्थिक लागत 8 अरब डॉलर (अमेरिकी डॉलर/यूएसडी) या सकल विश्व उत्पाद का 3 से 4% आंकी गई है.
  • इन प्रदूषकों के संपर्क में आने से मरीजों में अस्थमा या एलर्जी जैसी श्वास संबंधी वर्तमान रोगों को और बदतर कर रही हैं.

इस टॉपिक से UPSC में बिना सिर-पैर के टॉपिक क्या निकल सकते हैं?

  1. 2021 विश्व वायु गुणवत्ता रिपोर्ट
  2. राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (NCAP)
  3. BS-VI वाहन
  4. सम-विषम नीति
  5. वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिये नया आयोग
  6. टर्बो हैप्पी सीडर (THS) मशीन.
भारतीय या राज्य सरकार ने वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने हेतु क्या-क्या कदम उठाए हैं?”200-शब्द

मेरी राय – मेंस के लिए

वायु प्रदूषण को नियंत्रित के लिये सरकार द्वारा उठाए गए कदम

  • ‘वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान तथा अनुसंधान प्रणाली’- सफर (The System of Air Quality and Weather Forecasting And Research- SAFAR) पोर्टल
  • वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI): इसे आठ प्रदूषकों को ध्यान में रखते हुए विकसित किया गया है. जिसमे शामिल हैं – PM2.5, PM10, अमोनिया, लेड, नाइट्रोजन ऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड, ओज़ोन और कार्बन मोनोऑक्साइड.
  • ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान.
  • वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग
  • टर्बो हैप्पी सीडर (THS) मशीन खरीदने पर किसानों को सब्सिडी
  • वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाए गये हैं:-
    i) बीएस-VI वाहन,
    ii) इलेक्ट्रिक वाहनों (EVs) को बढ़ावा देना,
    iii) एक आपातकालीन उपाय के रूप में ‘ऑड-इवन’ नीति

Tags: General Studies paper 3, steps to control air pollution. Report of IQAir. World air quality report in Hindi.

 

Read them too :
[related_posts_by_tax]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.