[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Ethics GS Paper 4/Part 4

Sansar LochanEthics, GS Paper 4, Sansar Manthan5 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 4 Case Study – Ethics “जिला आरोग्य, हिमालय की तलहटी में स्थित है और यहाँ मानव विकास के संकेतक कम हैं. यह राज्य की राजधानी से दूर स्थित है. भौगोलिक दृष्टि से बड़ा और अनेक विशेषताएँ जैसे कि घने जंगलों से ढकी हुई पहाड़ियाँ, छोटी दरार वाली घाटियाँ, ऊँचाई से बहती हुई नदियाँ और झरने होने … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Ethics GS Paper 4/Part 3

Sansar LochanEthics, GS Paper 4, Sansar Manthan3 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 4 लोक-सेवा के सन्दर्भ में “जवाबदेही” का क्या अर्थ है? लोक-सेवकों की व्यक्तिगत और सामूहिक जवाबदेही को सुनिश्चित करने के लिए क्या उपाय अपनाए जा सकते हैं? (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 4 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “लोक प्रशासनों में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Ethics GS Paper 4/Part 2

Sansar LochanEthics, GS Paper 4, Sansar Manthan6 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 4 प्रशासनिक नैतिकता को बनाए रखने या नैतिकता स्तर को ऊँचा उठाने के उपाय सुझाएँ. (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 4 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “लोक प्रशासनों में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र : स्थिति तथा समस्याएँ ; सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएँ … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Ethics GS Paper 4/Part 1

Sansar LochanEthics, GS Paper 4, Sansar Manthan2 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 4 नीतिशास्त्र (Ethics) की परिभाषा लिखें.  नैतिक अभिशासन से आप क्या समझते हैं? (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 4 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “नीतिशास्त्र तथा मानवीय सह-सम्बन्ध मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सार तत्त्व, इसके निर्धारक और परिणाम : नीतिशास्त्र के आयाम, निजी और सार्वजनिक … Read More