स्मार्ट गंगा सिटी स्कीम- Smart Ganga City Scheme in Hindi

RuchiraEnvironment and Biodiversity, Govt. Schemes (Hindi)9 Comments

namami_gange
Print Friendly, PDF & Email

केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री और नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री (Minister of Water Resources, River Development and Ganga Rejuvenation) सुश्री उमा भारती और केंद्रीय शहरी विकास मंत्री (Minister of Urban Development of India) श्री एम. वेंकैया नायडू ने क्रमशः उज्जैन और हैदराबाद से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से दस महत्त्वपूर्ण शहरों में स्मार्ट गंगा नगर योजना का शुभारंभ 13 अगस्त, 2016 को किया.

इन शहरों के नाम हैं – हरिद्वार , ऋषिकेश, मथुरा-वृंदावन , वाराणसी, कानपुर , इलाहाबाद, लखनऊ , पटना, साहबगंज और बैरकपुर. राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन  के अंतर्गत मलजल उपचार के लिए बुनियादी ढांचे के विकास के लिए पहले चरण में इन शहरों को चुना गया है. इस योजना को संकर वार्षिकी पीपीपी मॉडल (Hybrid annuity mode based on PPP model) पर आधारित मोड पर किया जाएगा.

सुश्री उमा भारती ने कहा कि केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सहयोग से ही नमामि गंगे (Namami Gange) कार्यक्रम सफल हो पाया है. मंत्री ने कहा कि नमामि गंगे कार्यक्रम के शीघ्र कार्यान्वयन की निगरानी के लिए जिला-स्तर सलाह समितियाँ  गठित की जायेंगी. हालांकि पहले चरण में केवल दस शहरों को लिया गया है, लेकिन धीरे-धीरे अधिक से अधिक शहरों को इस लिस्ट में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन और नगर निगम की भागीदारी ही इस कार्यक्रम की सफलता की कुंजी है।

namami_gange

स्मार्ट गंगा सिटी स्कीम के महत्त्वपूर्ण बिंदु: Important Highlights of Smart Ganga City Scheme

1. स्वच्छ गंगा के लिए राष्ट्रीय मिशन (NMCG – National Mission for Clean Ganga) को मलजल उपचार के लिए बुनियादी ढांचे के विकास के लिए पहले चरण में  दस शहरों को चुनाव किया गया है ।

2. इस स्कीम को संकर वार्षिकी पीपीपी मॉडल (Hybrid annuity mode based on PPP model) के आधार पर लागू किया जायेगा.

3. पहले चरण में केवल दस शहरों का चुनाव किया गया है, लेकिन धीरे-धीरे अधिक से अधिक शहरों को इसमें सम्मिलित किया जाना है.

4. पिछली योजनाओं में केंद्र और राज्यों द्वारा एसटीपी (STPs-Sewage Treatment Plants) स्थापित करने के लिए लागत-वहन का अनुपात 70:30  था परन्तु अब कार्यक्रम पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित किया जाएगा.

5. Namami Gange Programme/नमामि गंगे कार्यक्रम के शीघ्र कार्यान्वयन की निगरानी के लिए जिला स्तरीय समितियों का गठन किया जाना है.

एसटीपी (STPs-Sewage Treatment Plants) क्या है?

1. एसटीपी/STP मलजल उपचार, मुख्य रूप से घरेलू सीवेज में जो गंदे पानी होता हैऔर उससे जो दूषित पदार्थ उपजते हैं, उन पदार्थों को हटाने की एक  प्रक्रिया है ।

2. इसके द्वारा दूषित जल से भौतिक , रासायनिक और जैविक प्रक्रियाओं द्वारा संदूषकों/contaminants (physical, chemical, biological or radiological substance or matter in water ) को दूर किया जाता है.

Hybrid Annuity क्या है?

इस शब्द का प्रयोग प्रायः वित्तीय शब्दावली में ही किया जाता है. Hybrid Annuity का मतलब उस भुगतान विधि (payment method) से है जिसे दो अवधियों में किया जाना है. भुगतान का अधिकांश भाग प्रथम तय की हुई अवधि और शेष भुगतान दूसरी अवधि में किया जाना है. Hybrid Annuity पद्धति HAM (Hybrid Annuity Model) से जुड़ी हुई है.

Hybrid Annuity Model (HAM) क्या है?

भारत में HAM, वार्षिक बीओटी (BOT) और ईपीसी मॉडल (EPC Model) का एक मिश्रण है. इस मॉडल के अनुसार, सरकार द्वारा परियोजना लागत का 40% वार्षिक भुगतान पहले पाँच वर्ष में किया जाता है और बाकी का 60% अगले वर्षों में.  शेष भुगतान परिसंपत्तियों और डेवलपर के प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है.

9 Comments on “स्मार्ट गंगा सिटी स्कीम- Smart Ganga City Scheme in Hindi”

  1. Mam ye lagta hai apka sansarlochan dot IN par pehla post hai. Aap isi tereh jaankari deti rehiyega. schemes ka pls detail me bataiye January se current month tak ka

  2. धन्यवाद रुचिरा मैम. आपकी इस बहुमूल्य जानकारी के लिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.