सिन्धु घाटी सभ्यता स्थलों से प्राप्त अवशेष

Dr. SajivaAncient History1 Comment

आज इस पोस्ट में हम सिन्धु घाटी सभ्यता (Indus Valley Civilization) के विभिन्न स्थलों (हड़प्पा, मोहनजोदड़ो, धौलावीरा, लोथल, चन्हूदड़ो, रंगपुर, कालीबंगा, बनावली, सुरकोटड़ा इत्यादि) से प्राप्त अवशेषों एवं साक्ष्यों के विषय में क्रम से आपको बताने वाले हैं. हड़प्पा पाषाण नर्तक श्रमिक आवास काले पत्थर का शिव लिंग डेढ़ फीट का पैमाना स्वस्तिक (शुभ-लाभ) ताम्बे का वृषभ धोति पहने एवं … Read More

हड़प्पा समाज, राजनैतिक संगठन, प्रशासन एवं धर्म

Dr. SajivaAncient History3 Comments

आज इस पोस्ट में हड़प्पा समाज, राजनैतिक संगठन, प्रशासन एवं धर्म के विषय में बात करेंगे. इस पोस्ट को लिखने में NCERT, IGNOU आदि किताबों की मदद ली गई है और शोर्ट नोट्स बनाने का प्रयास किया गया है. सामाजिक व्यवस्था लिखित सामग्री के अभाव में सामाजिक व्यवस्था की पूर्ण जानकारी प्राप्त नहीं है, पर खुदाई में प्राप्त सामग्री के … Read More

सिन्धु घाटी सभ्यता में नगर-योजना – Town Planning in Hindi

Dr. SajivaAncient History4 Comments

सिन्धु सभ्यता में संपादित उत्खननों पर एक विहंगम दृष्टि डालने से प्रतीत होता है कि यहाँ के निवासी महान् निर्माणकर्ता थे. उन्होंने नगर नियोजन करके नगरों में सार्वजनिक तथा निजी भवन, रक्षा प्राचीर, सार्वजनिक जलाशय, सुनियोजित मार्ग व्यवस्था तथा सुन्दर नालियों के प्रावधान किया. हड़प्पा सभ्यता – नगर नियोजन वास्तव में सिन्धु घाटी सभ्यता अपनी विशिष्ट एवं उन्नत नगर योजना … Read More

प्रमुख बौद्ध स्थल – Buddhist Places in India

Dr. SajivaAncient HistoryLeave a Comment

किसी बौद्ध धर्म के व्यक्ति को इन चार स्थानों का वैराग्य की वृद्धि के हेतु दर्शन करना चाहिए. वे चार स्थान हैं – लुम्बिनी वन, जहाँ तथागत का जन्म हुआ. बोधगया, जहाँ उन्होंने ज्ञानप्राप्त किया. ऋषिपतन मृगदाव (सारनाथ), जहाँ उन्होंने प्रथम धर्मोपदेश, और कुशीनगर, जहाँ उन्होंने अनुपाधिशेष निर्वाण में प्रवेश किया. उपर्युक्त चार स्थलों के अतिरिक्त चार अन्य स्थल हैं, … Read More

मौर्य साम्राज्य का पतन – Decline of the Maurya Dynasty

Dr. SajivaAncient HistoryLeave a Comment

साम्राज्यों का उत्थान और पतन एक ऐतिहासिक सत्य है, लेकिन यह भी एक महत्त्वपूर्ण प्रश्न है कि क्या साम्राज्यों के पतन के कारणों का ज्ञान होने के बावजूद भी उनके पतन को कभी रोका जा सकता है. इसका अर्थ यह हुआ कि साम्राज्यों के अंत के कारणों का विश्लेषण इतिहासकार के अपनी दृष्टिकोण पर निर्भर करता है. फिर भी साम्राज्य … Read More

UPSC में प्राचीन भारत से आये सवालों के One-Liner नोट्स : Part 2

Dr. SajivaAncient HistoryLeave a Comment

आशा है कि आपने प्राचीन इतिहास से सम्बंधित One-Liner का पार्ट 1 पढ़ लिया होगा. यदि नहीं पढ़ा है तो यहाँ क्लिक करें > One Liner Part 1. One-Liner में हमने UPSC के सवालों को (प्राचीन भारत – Ancient India) आपके सामने परोसा ही है, साथ-साथ UPSC Prelims परीक्षाओं में जो चार ऑप्शन होते हैं – उनके विषय में भी हमने one liner … Read More

UPSC में प्राचीन भारत से आये सवालों के One-Liner नोट्स : Part 1

Dr. SajivaAncient History, History3 Comments

इस आर्टिकल का शीर्षक थोड़ा भ्रामक है क्योंकि नीचे दिए गये सारे तथ्य प्रत्यक्ष रूप से UPSC की गत परीक्षाओं में नहीं पूछे गये हैं. दरअसल, इस One-Liner में हमने UPSC के सवालों को (प्राचीन भारत – Ancient India) आपके सामने परोसा ही है, साथ-साथ UPSC Prelims परीक्षाओं में जो चार ऑप्शन होते हैं – उनके विषय में भी हमने one … Read More

हड़प्पा सभ्यता : एक संक्षिप्त अवलोकन – Harappa Civilization

Dr. SajivaAncient History, History13 Comments

हड़प्पा लिपि अभी तक पढ़ी नहीं जा सकी है. इसलिए मात्र पुरातात्त्विक अवशेषों के आधार पर ही हड़प्पा सभ्यता की विशेषताओं का ज्ञान होता है. लिखित साक्ष्य के अभाव में अवशेषों से सटीक निष्कर्ष निकालना भी कठिन है. अतः हड़प्पा सभ्यता (Harappa Civilization) के बारे में हमारे सभी अनुमान विवाद का विषय हो जाते हैं. हड़प्पा सभ्यता का नामकरण प्रारम्भिक … Read More

हरिहर और बुक्का के बारे में जानें, संगम राजवंश

Dr. SajivaAncient History, History2 Comments

हरिहर ने अपने भाई बुक्का के साथ विजयनगर राज्य की नींव डालने के बाद सबसे पहले गुट्टी तथा उसके आसपास के क्षेत्रों को अपनी सत्ता स्वीकार करने के लिए विवश किया. उन्होंने तुंगभद्र नदी के दक्षिणी तट पर स्थित अणेगोंडी के आमने-सामने दो नगर बसाए – विजयनगर और विद्यानगर. हरिहर प्रथम (1336-1353) हरिहर ने 18 अप्रैल, 1336 ई. को हिंदू … Read More

धोलावीरा – सिन्धु सभ्यता का एक अत्यंत महत्त्वपूर्ण स्थल

Dr. SajivaAncient History, History3 Comments

सिन्धु घाटी सभ्यता के सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण स्थल धोलावीरा (dholavira) से अब तक उम्मीद से अधिक संख्या में अवशेष मिले हैं. यह स्थल गुरात के कच्छ जिले के मचाऊ तालुका में मासर एवं मानहर नदियों के मध्य अवस्थित है. यह सिन्धु सभ्यता का एक प्राचीन और विशाल नगर था, जिसके दीर्घकाल तक स्थायित्व के प्रमाण मिले हैं. आइए जानते हैं धोलावीरा से जुड़े … Read More