जूस जैकिंग क्या है और कैसे काम करता है? – इससे बचने के उपाय

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

अभी पिछले दिनों ही भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ट्विटर हैंडल से जूस जैकिंग (juice jacking) के विषय में एक सार्वजनिक चेतावनी निर्गत की है. इसमें ग्राहकों और जनसामान्य को परामर्श दिया गया है कि वे सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशनों पर अपना मोबाइल चार्ज करने के लिए नहीं लगायें अन्यथा हैकरगण उनके स्मार्ट फ़ोन में एक मैलवेयर (malware) डालकर भाँति-भाँति के जालसाजियों को अंजाम दे सकते हैं.

जूस जैकिंग क्या है और यह कैसे काम करता है?

  • जूस जैकिंग एक प्रकार साइबर आक्रमण है जो तब किया जाता है जब चार्ज करने वाला पोर्ट डाटा कनेक्शन का भी काम करता है, विशेषकर USB के ऊपर.
  • इसमें या तो मोबाइल में मैलवेयर डाल दिया जाता है अथवा गुप्त रूप से किसी स्मार्टफोन, टेबलेट या कंप्यूटर से संवेदनशील डाटा चुरा लिया जाता है.
  • इस प्रकार के साइबर आक्रमण की पहली सूचना ब्रायन क्रेब्स नामक शोधकर्ता ने दी थी और उसी ने जूस जैकिंग यह नाम गढ़ा था.
  • हवाई अड्डों, रेल स्टेशनों, होटलों, कैफ़े इत्यादि में कहीं-कहीं चार्जिंग स्टेशन लगे होते हैं. साइबर अपराधी इन चार्जिंग स्टेशनों में पहले से हेरा-फेरी करके रख सकते हैं. यदि कोई ग्राहक इस प्रकार के स्टेशन में अपना मोबाइल चार्ज करता है तो हैकरों को उनके बारे में बहुत-सारी गुप्त-जानकारियाँ मिल जाती हैं.
  • चार्जिंग पोर्ट में हैकर मैलवेयर डालकर यूजर डाटा को खाली कर सकते हैं. फ़ोन में अंकित व्यक्तिगत डाटा तक पहुँच के लिए वह फिरौती माँग सकता है और साथ ही व्यक्तिगत और वित्तीय खाते को हाईजैक कर सकता है.

इस समस्या का समाधान कैसे होगा?

जूस जैकिंग से बचने के लिए ग्राहक को निम्नलिखित सावधानियां बरतनी होंगी –

  1. सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन से बचना चाहिए. ऐसे स्टेशन असुरक्षित होते हैं और इनकी निगरानी बहुधा नहीं हो पाती. इसलिए हैकरों के लिए ये आसान शिकार होते हैं.
  2. सदा अपना ही AC चार्जिंग एडाप्टर और केबल प्रयोग में लाना चाहिए.
  3. अपने मोबाइल को AC वॉल सॉकेट में ही लगाना चाहिए, न कि USB वॉल सॉकेट में.
  4. किसी अनजान व्यक्ति के लैपटॉप या पी.सी. से अपने किसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को चार्ज नहीं किया करें.
  5. यदि कोई आकस्मिक परिस्थिति हुई तो अपने डिवाइस के लिए एक अभिप्रमाणित पॉवर बैंक खरीद कर रखना चाहिए.
  6. एक ऐसे केबल का प्रयोग करने की चेष्टा की जाए जो किसी डाटा केबल के रूप में नहीं अपितु मात्र चार्जिंग केबल के रूप में कार्य करे.
  7. जो लोग बहुत अधिक घूमते हैं, उनको चाहिए कि वे एक USB ब्लॉकर को व्यवहार में लाएँ.

Tags : Juice Jacking meaning and how it works explained in Hindi. Ways to prevent such malware attacks, potential threats.

Share and Enjoy !

0Shares
0
Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.