Hydrogen – CNG क्या है? HCNG के लाभ एवं चुनौतियाँ

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

Print Friendly, PDF & Email

2019 में दिल्ली हाइड्रोजन संवर्धित सीएनजी (CNG) ईंधन चालित बसों को आरम्भ करने वाला भारत का पहला शहर बन जाएगा. चलिए जानते हैं HCNG के बारे में महत्त्वपूर्ण तथ्यों को और इससे होने वाले लाभ एवं चुनौतियाँ.

HCNG क्या है?

HCNG एक वाहन ईंधन है जो संपीडित प्राकृतिक गैस (CNG) और हाइड्रोजन का मिश्रण है, आमतौर पर इसमें कुल आयतन का 8-50% भाग हाइड्रोजन होती है. मौजूदा प्राकृतिक गैस ईंजनों का उपयोग HCNG के साथ किया जा सकता है, हालाँकि उच्च हाइड्रोजन मिश्रणों के इष्टतम प्रदर्शन के लिए ईंजनों के पुनः समंजन (re-tuning) की आवश्यकता होती है. अध्ययनों से पता चलता है कि प्रदर्शन और उत्सर्जन में कमी लाने के लिए आयतन के 20-30% भाग हाइड्रोजन वाला HCNG मिश्रण ईष्टतम है.

HCNG के लाभ

किसी प्रकार रेट्रोफिटमेंट की आवश्यकता नहीं – इसे इंजन में किसी भी प्रकार के परिवर्तन या रेट्रोफिटमेंट की आवश्यकता नहीं है. केवल कुछ कैलिब्रेशन की आवश्यता होती है जिससे यह सरकारों और एजेंसियों को कम लागत पर अधिक लोगों को हाइड्रोजन के उपयोग को बढ़ावा देने का अवसर प्रदान करता है. यह मौजूदा CNG अवसंरचना के साथ प्रयोग योग्य है. इसके लिए केवल प्राकृतिक हाइड्रोजन के छोटे भंडार और प्राकृतिक गैस के साथ हाइड्रोजन के मिश्रण के लिए स्तम्भ (column) की आवश्यकता होती है. सुरक्षा सबंधी विशेषताएँ CNG के समान हैं.

निम्न प्रदूषक उत्सर्जन – अभी तक किये गये वैश्विक HCNG परीक्षणों ने पारम्परिक CNG की तुलना में नाइट्रस ऑक्साइड (NOx), कार्बन डाइऑक्साइड (CO2), कार्बन मोनोऑक्साइड (लगभग 70%) और हाइड्रोकार्बन उत्सर्जन (लगभग 15%) जैसे वाहन उत्सर्जनों को कम करने की ईंधन की क्षमता का प्रदर्शन किया है. प्राकृतिक गैस के साथ हाइड्रोजन का मिश्रण इंजन के अदहित हाइड्रोकार्बन को कम कर सकता है और दहन प्रक्रिया को तीव्र कर सकता है.

ईंधन बचत में सुधार – यह इंजन दक्षता में सुधार करता है, CNG बस की तुलना में ईंधन की खपत को 5% तक कम करता है. प्राकृतिक गैस और HCNG दोनों की ऊष्मीय दक्षता भार में वृद्धि के साथ बढ़ जाती है, जो इसे उच्च लोड अनुप्रयोगों और हैवी-ड्यूटी वाहनों के लिए आदर्श ईंधन बनाती है.

चुनौतियाँ

इष्टतम हाइड्रोजन/संपीडित प्राकृतिक गैस अनुपात का निर्धारण करना – यदि हाइड्रोजन के अनुपात में एक निश्चित सीमा से ऊपर वृद्धि होती है, तो इसके परिणामस्वरूप असमान्य दहन जैसे प्री-इग्निशन, नौक और बैकफायर हो सकता है.

सुरक्षित आधारभूत संरचना सुनिश्चित करना – नए ईंधन के व्यापक प्रसार के लिए संभवतः सबसे स्पष्ट चुनौती वर्तमान में सम्बंधित अवसरंचना का अभाव है. अन्य गैसीय ईंधन के समान, प्राकृतिक गैस और हाइड्रोजन दोनों वायु की तुलना में हल्के होते हैं, इसलिए यदि कोई रिसाव होता है तो यह पर्याप्त वेंटिलेशन के साथ तेजी से वायु में प्रसारित हो जायेगा.

लागत और निरन्तर उपलब्धता – हाइड्रोजन की लागत प्राकृतिक गैस की लागत से अधिक है जिसके परिणामस्वरूप HCNG, CNG की तुलना में महँगा है. इसके अतिरिक्त, IC इंजनों में इसके उपयोग को प्रमुखता से आरम्भ करने के पहले HCNG की निरंतर उपलब्धता का आश्वासन दिया जाना चाहिए.

उपभोक्ताओं और निर्माताओं का विश्वास बढ़ाने के लिए विभिन्न ईंजन प्रकारों और आकारों में निरंतर ईंजन प्रदर्शन, उत्सर्जन और स्थायित्व परीक्षण विकसित किया जाना चाहिए.

निष्कर्ष

वर्तमान में अधिकांश वाहन डीजल या पेट्रोल संचालित हैं जिससे प्रदूषण का स्तर अत्यधिक बढ़ जाता है. बढ़ते प्रदूषण स्तर ने स्वच्छ ईंधन की आवश्यकता को बढ़ावा दिया है. अतः, हमें ऊर्जा के हामरे स्रोतों के पुनः परीक्षित करने की आवश्यकता है. वर्तमान परिदृश्य में, CNG वाहनों से उत्सर्जन को कम करने की विधि के रूप में HCNG के उपयोग की स्पष्ट सम्भावना है. हालाँकि, वर्तमान में HCNG ईंधन के सम्बन्ध में व्यापक पैमाने पर अनुसंधान किये जा रहे हैं, परन्तु विस्तृत कार्यान्वयन से पूर्व निश्चित रूप से कई कदम उठाये जाने आवश्यक हैं.

Tags : Hydrogen – CNG क्या है? HCNG के लाभ एवं चुनौतियाँ. Hydrogen CNG की खूबियाँ, लाभ. CNG से difference और कमियाँ और चुनौतियाँ. All information in Hindi

All Science-Tech News Available Here >> Sci-Tech

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.