[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Culture & Heritage GS Paper 1/Part 11

Dr. SajivaCulture, History, Sansar Manthan2 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 1 भारतीय कलाकार ने लोक जीवन के भौतिक स्वरूप की अवहेलना नहीं की है. आप इससे कहाँ तक सहमत हैं? (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 1 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला … Read More

अजन्ता के प्रसिद्ध चित्र – Ajanta Famous Pictures with Details

Dr. SajivaCulture, HistoryLeave a Comment

शायद आपने संसार मंथन वाला वह पोस्ट पढ़ा होगा जिसमें हम लोगों ने दो प्रश्नों का जवाब दिया था – i) अजंता की गुफाओं में विभिन्नता देखने को क्यों मिलती है? गुफाओं के प्रकार और गुफाओं के चित्रांकन की विशेषताओं का वर्णन करें ii) अजंता के चित्रों की मुख्य विषय-वस्तु पर टिपण्णी करें. यदि आपने नहीं पढ़ा तो इस लिंक को पढ़ … Read More

भारतीय चित्रकला के प्रकार, अंग और प्रयोजन

Dr. SajivaCulture, History5 Comments

वात्सायन ने अपने ग्रन्थ कामसूत्र में 64 कलाओं की गणना की है जिनमें चित्रकला का भी स्थान है. चित्रकला का महत्त्वपूर्ण अंग है चित्र. चलिए जानते हैं हर एक काल (प्रागैतिहासिक, आद्यैतिहासिक, ऐतिहासिक, मध्यकाल, साहित्यिक) भारतीय चित्रकला क्या स्थान रहा. साथ-साथ यह भी जानेंगे कि भारतीय चित्रकला के कितने प्रकार और अंग हैं एवं इनका प्रयोजन कहाँ-कहाँ किस रूप में होता है. विष्णुधर्मोत्तर … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Culture & Heritage GS Paper 1/Part 6

Dr. SajivaCulture, GS Paper 1, History, Sansar Manthan5 Comments

अजंता की पहाड़ी महाराष्ट्र के जलगाँव से 55 कि.मी. और औरंगाबाद से 100 कि.मी. की दूरी पर स्थित है. अजंता नामक गाँव से अजंता की गुफाएँ लगभग 5 कि.मी. दूर हैं. ये गुफाएँ फरदापुर गाँव के समील बाघोरा नदी के तट के किनारे-किनारे एक ही पहाड़ी में काट-तराशकर बनाई गई हैं. सर्पिलाकार नदी, सघन वनराशि और उन्मुक्त खुले आकाश के … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Culture & Heritage GS Paper 1/Part 5

Dr. SajivaCulture, GS Paper 1, History, Sansar Manthan6 Comments

सामान्य अध्ययन पेपर – 1 चैत्यगृहों के उद्भव और विकास पर प्रकाश डालिए. साथ ही चैत्य और विहार में क्या अंतर है, यह भी चर्चा करें. (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 1 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, … Read More

[संसार मंथन] मुख्य परीक्षा लेखन अभ्यास – Culture & Heritage GS Paper 1/Part 4

Dr. SajivaCulture, GS Paper 1, History, Sansar Manthan1 Comment

सामान्य अध्ययन पेपर – 1 कला को परिभाषित करते हुए उसके प्रकारों का उल्लेख करें. (250 words)  यह सवाल क्यों? यह सवाल UPSC GS Paper 1 के सिलेबस से प्रत्यक्ष रूप से लिया गया है – “भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलू शामिल होंगे”. सवाल का मूलतत्त्व … Read More

भारतीय मंदिरों के स्थापत्य की नागर, द्रविड़ और वेसर शैलियाँ

Dr. SajivaCulture, History2 Comments

पूर्व मध्यकालीन शिल्पशास्त्रों में मंदिर स्थापत्य की तीन बड़ी शैलियाँ बताई गई हैं – नागर शैली, द्रविड़ शैली और वेसर शैली. नागर शैली – नागर शैली का प्रचलन हिमालय और विन्ध्य पहाड़ों के बीच की धरती में पाया जाता है. द्रविड़ शैली – द्रविड़ शैली कृष्णा और कावेरी नदियों के बीच की भूमि में अपनाई गई. वेसर शैली – वेसर … Read More

[Answerkey] UPSC Pre 2017 का History Portion Analysis

Sansar LochanAnswer Keys, Culture, History4 Comments

आप यदि हमारे ब्लॉग के रेगुलर विजिटर हैं तो आप जानते ही होंगे कि सजीव सर, जो खुद एक सेवानिवृत प्रशासनिक ऑफिसर हैं, इतिहास और कल्चर (History and Culture) पर रोज़ एक आर्टिकल आपके सामने परोसते रहते हैं जो छात्रों के बीच बहुत ही popular हो रहा है. हम दोनों ने मिलकर यह कुछ दिनों पहले यह decide किया कि … Read More

प्रमुख शास्त्रीय नृत्य एवं उनके कलाकार

Sansar LochanCulture6 Comments

indian_classical_dances

अक्सर परीक्षाओं में पूछा जाता है कि यह नृत्य कलाकार (dancer) किस शास्त्रीय नृत्य (classical dance) से सम्बंधित है या इस नृत्य के लिए भारत में कौन-सा कलाकार famous है? ऐसे सवाल match of the following में अक्सर पूछे जाते हैं जहाँ A सेक्शन में चार कलाकार के नाम रहेंगे जिनको सही ढंग से B सेक्शन में दिए गए नृत्यों … Read More