सरदार सरोवर बाँध – जानें इस Dam के Features in Hindi

Sansar LochanCurrent Affairs, PIB Hindi, Video, भारत का भूगोल5 Comments

sardar_sarovar_dam

प्रधानमंत्री ने अपने 67वें जन्मदिन के अवसर पर गुजरात को सरदार सरोवर बांध बनाकर तोहफा दिया है. इस बांध को गुजरात के नवग्राम में नर्मदा नदी पर बनाया गया है. इस बांध को बनने में 56 साल लग गए. बांध बनने के बीच कई लोगों ने विरोध भी किया. इतने उतार-चढ़ाव के बाद बनकर तैयार हुआ यह डैम अब गुजरात … Read More

भारत का जल संसाधन (Water Resources of India)

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल5 Comments

जल एक अमूल्य प्राकृतिक संसाधन है जो सम्पूर्ण पारिस्थितिक तन्त्र के लिए ही महत्त्वपूर्ण है, पर मानव के लिए इसके विशेष महत्त्व हैं क्योंकि पेय जल, सिंचाई, उद्योग, घरेलू कार्य, ऊर्जा सभी के लिए जल होना जरुरी है. भारत का वार्षिक जल बजट प्राकृतिक स्रोतों से प्राप्त कुल जल – 4000 अरब घन मीटर वाष्पन से लुप्त होने वाला जल … Read More

भारत की प्रमुख नदियाँ और उनके उद्गम स्थल – Rivers and Origin

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल18 Comments

bharat_ki_nadiyan

भारत की नदियों (Rivers of India) को चार समूहों में वर्गीकृत किया जा सकता है – 1) हिमालय की नदियाँ 2) प्रायद्वीपीय नदियाँ 3) तटीय नदियाँ 4) अन्तःस्थलीय प्रवाह क्षेत्र की नदियाँ. आज हम भारत की प्रमुख नदियों के विषय में बात करेंगे और वे कहाँ से निकलती (origin) हैं, उनकी सहायक नदी (Tributary river) कौन हैं और ये कहाँ … Read More

भारत में वर्षा का वितरण और दक्षिण-पश्चिमी मानसून

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल2 Comments

मध्य जून (आषाढ़) से मौसम एकाएक बदलने लगता है. आकाश बादलों से घिरने लगता है और दक्षिण-पश्चिमी पवन चलने लगते हैं. ये पवन “दक्षिण-पश्चिमी मानसून” के नाम से प्रसिद्ध हैं क्योंकि मूलतः ये दक्षिण-पश्चिम से शुरू होते हैं. इस मानसून के आते ही तापक्रम में काफी गिरावट आ जाती है, अर्थात् तापक्रम घटने लगता है. मगर वायु में नामी बढ़ … Read More

भारत – भौगोलिक स्थिति और विस्तार

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल18 Comments

भौगोलिक दृष्टि से भारत का मुख्य भूभाग 8°4′ से लेकर 37°6′ उत्तर अक्षांश के बीच है और 68°7′ पूर्व देशांतर से 97°25′ पूर्व देशांतर के मध्य फैला है. भारत का कुल भौगोलिक क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किमी. है. कर्करेखा इस देश को दो सामान भागों में बाँट देती है. 2004 के पूर्व इसका सबसे दक्षिणी छोर इंदिरा पॉइंट के नाम से जाना जाता … Read More

भारत में वन के प्रकार – Types of Forests or Vegetation in Hindi

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल24 Comments

जलवायु की विभिन्न दशाओं और अन्य कारणों से भूमि पर अनेक प्रकार के पेड़-पौधे प्राकृतिक रूप से उग आते हैं – इन्हें वनस्पति कहते हैं. वनस्पति भूमि के ऊपर उगने वाली प्राकृतिक संपत्ति है. भारत में घास के मैदान प्रायः नहीं पाए जाते. वर्षा के दिनों में पहाड़ियों पर और यत्र-तत्र घास अवश्य हो जाती हैं. 2,000 मिलीमीटर  से अधिक … Read More

जनसंख्या का घनत्व – 2011 Census Data और Measurement की विधि

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल5 Comments

आज इस पोस्ट में हम भारत की जनसंख्या के घनत्व के विषय में facts and figures according to 2011 Census को आपके सामने रखेंगे और साथ-साथ यह भी बताएँगे कि population density को नापा (measure) कैसे किया जाता है? 1901 में भारत में जनसंख्या का घनत्व (density of population) 77 व्यक्ति प्रतिवर्ग किमी. मात्र था जो 1951 में 117, 1991 में … Read More

भारत की प्रमुख झीलें – List of Lakes in Hindi

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल34 Comments

lakes_india_list

आज हम भारत के प्रमुख झील (List of important Lakes in India) के विषय में चर्चा करेंगे. ऐसे सवाल प्रायः UPSC, SSC या रेलवे परीक्षा में आते रहते हैं…या तो मिलान करो के रूप में या तो ऑप्शन में राज्य के नाम दिए रहते हैं और किसी विशेष झील के बारे में सवाल रहता है. यदि आप इस लिस्ट को … Read More

भारत में जलवायु और वर्षा – Climate and Rainfall in Hindi

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल4 Comments

जलवायु (Climate) के अंतर्गत हम तापक्रम, हवाओं और वर्षा (Rainfall) की विभिन्न दशाओं और अनेक कारणों को पढ़ते हैं. आर्थिक भूगोल की दृष्टि से जलवायु का विशेष महत्त्व है. दरअसल, हर देश के आर्थिक स्थिति पर उस देश की जलवायु का कई प्रकार से प्रभाव पड़ता है. भारत (India) जैसे कृषि-प्रधान देशों पर जलवायु का जो प्रभाव पड़ता है वह … Read More

मिट्टी का कटाव – Soil Erosion के कारण और उपाय

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल1 Comment

soil_erosion

मिट्टी का कटाव (Soil Erosion) हवा या पानी की गति से भूमि के ऊपर की सतह की उपजाऊ मिट्टी नष्ट हो जाती है तो इस क्रिया को मिट्टी का कटाव (soil erosion) कहते हैं. यह समस्या भयंकर है क्योंकि इससे लाखों एकड़ भूमि खेती की दृष्टि से व्यर्थ हो जाती है. मिट्टी के कटाव के प्रमुख कारण पेड़ों को नष्ट … Read More