भूस्खलन क्या है और कैसे होता है? जानें Landslide Warning System के बारे में

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल8 Comments

गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव में चट्टानी मलबे एवं भू-सतह जैसे ढलान पर स्थित पदार्थों का नीचे तथा बाहर की ओर संचलन भूस्खलन कहलाता है. आइये जानते हैं इस पोस्ट में भूस्खलन कैसे होता है? भूस्खलन चेतावनी प्रणाली (Landslide Warning System) कैसे काम करती है? लैंडस्लाइड और हिमस्खलन (snow avalanches) के प्रबन्धन के लिए क्या-क्या किया जाना चाहिए? भूमिका भारत में मानव-प्रेरित … Read More

फसलों के लिए उपयुक्त तापमान, वर्षा और मिट्टी

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल7 Comments

indian_farmer_village

खाद्यान फसलों में चावल, गेहूँ, ज्वार, बाजरा, मक्का, राई, जौ, जई और अन्य प्रकार के मोटे अनाज शामिल हैं. पेय फसलों में चाय, कहवा, और कोको, रेशेदार फसलों में कपास, जूट, सनई, पटुआ और हेम्प शामिल हैं. औद्योगिक फसलों में गन्ना, रबड़ और तम्बाकू सम्मिलित हैं. आशा है कि आपको suitable temperature, rainfall and soil for crops का यह पोस्ट पसंद आएगा. खाद्यान फसल चावल  उत्पादक कटिबंध – … Read More

भौगोलिक प्रश्नोत्तर Geography FAQ in Hindi Part 1

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल6 Comments

आज हम आपके सामने भूगोल (geography) से सम्बंधित प्रश्न और उत्तर (questions and answers) FAQ (frequently asked questions) के रूप रख रहे हैं. ये सवाल प्रायः कई परीक्षाओं (जैसे SSC CGL, SSC CHSL, Railway आदि) में पहले भी पूछे गए हैं. इसलिए इसे part-wise बनाया जा रहा है. यह पहला भाग है. भौगोलिक प्रश्नोत्तर: Geography FAQ प्रश्न: मेडागास्कर की खोज कब … Read More

प्रशांत महासागर की धाराएँ – Pacific Ocean Currents in Hindi

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल4 Comments

प्रशांत महासागर (Pacific Ocean) में आंध्र माहासागर (Atlantic Ocean) की अनेक धाराएँ (Currents) प्रवाहित होती हैं किन्तु इस महासागर की प्राकृतिक बनावट, जल तल की स्थिति में बदलाव, धाराओं की गति दिशा में परिवर्तन आदि पाए जाते हैं. चलिए जानते हैं प्रशांत महासागर की धाराओं के बारे में (Pacific Ocean Currents Information in Hindi). उत्तरी विषुवतरेखीय धारा यह एक गर्म … Read More

शेल और शेल गैस का निर्माण : Shale Gas and its Formation

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल4 Comments

शेल और शेल गैस क्या हैं? शेल बारीक कण वाली तलछटी चट्टाने हैं जो पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस के समृद्ध स्रोत होती हैं. शेल गैस वह प्राकृतिक गैस (natural gas) है जो शेल चट्टानों के बीच फंसी होती है. सामान्य प्राकृतिक गैस और शेल गैस के निर्माण में अंतर पृथ्वी के अन्दर जमा सामान्य प्राकृतिक गैस (conventional natural gas) धीरे-धीरे … Read More

भारत में वर्षा का वितरण और दक्षिण-पश्चिमी मानसून

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल2 Comments

मध्य जून (आषाढ़) से मौसम एकाएक बदलने लगता है. आकाश बादलों से घिरने लगता है और दक्षिण-पश्चिमी पवन चलने लगते हैं. ये पवन “दक्षिण-पश्चिमी मानसून” के नाम से प्रसिद्ध हैं क्योंकि मूलतः ये दक्षिण-पश्चिम से शुरू होते हैं. इस मानसून के आते ही तापक्रम में काफी गिरावट आ जाती है, अर्थात् तापक्रम घटने लगता है. मगर वायु में नामी बढ़ … Read More

महासागर के भौगोलिक प्रदेश – Continental Shelves, Slopes and Deep Sea

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल5 Comments

महासागर को तीन भगौलिक प्रदेशों में बाँटा जा सकता है – 1. महादेशीय निधायों का प्रदेश (Continental Shelves) 2. महादेशीय ढलानों (Continental Slope/slopes) का प्रदेश, और 3. अथाह समुद्री तल (Deep Sea Floor) प्रदेश. चलिए जानते हैं इन सभी के बारे में in Hindi. महादेशीय निधाय (Continental Shelf) Continental Shelf यद्यपि समुद्र से सम्बन्ध रखता है पर यह अन्य दो … Read More

अटलांटिक महासागर की जलधाराएँ – Currents of the Atlantic Ocean

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोलLeave a Comment

आज हम अटलांटिक महासागर की जलधाराओं (Currents of the Atlantic Ocean) के बारे में जानेंगे. इसके कितने प्रकार (types) हैं औरये कब-कहाँ बहती हैं और इनके नाम कब और कैसे बदल जाते हैं, ये सब की चर्चा करेंगे. नोट: यदि आप इस पोस्ट को बिना Map reading के पढ़ने वाले हैं तो आपके दिमाग में कुछ नहीं आने वाला है. … Read More

ज्वालामुखी क्या है और इसके प्रकार : All info about Volcano

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल14 Comments

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से ज्वालामुखी क्या है, यह कैसे उत्पन्न होता है और इसके कितने प्रकार हैं आदि का अध्ययन करेंगे. क्यों न इस पोस्ट की शुरुआत हम ज्वालामुखी के इतिहास से करें जिससे हमें इसके बारे में समझने में आसानी भी हो और पढ़ने में दिलचस्प भी हो. ज्वालामुखी का इतिहास एक हजार वर्ष से ऊपर … Read More

[भूगोल मानचित्र] समभार रेखाएँ : Isobars Explained in Hindi

Sansar LochanGeography, मानचित्र पर आधारित प्रश्न7 Comments

मानचित्र पर वायुभार का वितरण समभार-रेखाओं (lines of isobars) द्वारा प्रदर्शित किया जाता है. ये वे रेखाएँ हैं जो समान भार के स्थानों को मिलाते हुए खींची जाती हैं. चूँकि वायुभार ऊँचाई के अनुसार घटता जाता है इसलिए ऊँचाई का अंतर (प्रति 900 ft पर 1 इंच कम) निकाल देना जरुरी होता है, अर्थात् समभार-रेखा खींचने में सभी स्थानों का … Read More