प्रशांत महासागर की धाराएँ – Pacific Ocean Currents in Hindi

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल3 Comments

Print Friendly, PDF & Email

प्रशांत महासागर (Pacific Ocean) में आंध्र माहासागर (Atlantic Ocean) की अनेक धाराएँ (Currents) प्रवाहित होती हैं किन्तु इस महासागर की प्राकृतिक बनावट, जल तल की स्थिति में बदलाव, धाराओं की गति दिशा में परिवर्तन आदि पाए जाते हैं. चलिए जानते हैं प्रशांत महासागर की धाराओं के बारे में (Pacific Ocean Currents Information in Hindi).

pacific_ocean_currents

उत्तरी विषुवतरेखीय धारा

  1. यह एक गर्म धारा है.
  2. यह धारा उत्तरी-पूर्वी व्यापारिक पवनों के चलते मध्य अमेरिका के तट से होते हुए पश्चिम में फिलिपिन्स द्वीप की ओर चली जाती है.
  3. यहाँ (फिलिपिन्स द्वीप) इस धारा की दो शाखाएँ (branches) हो जाती हैं.
  4. प्रथम शाखा दक्षिण की ओर मुड़कर अपनी दिशा पूर्व को कर लेती है जिसे प्रति विषुवतरेखीय धारा कहते हैं.
  5. दूसरी शाखा उत्तर की ओर फार्मूसा द्वीप (Formosa Island) तक पहुँच जाती है जो आगे जाकर क्यूरोशियो (Kuroshio Current) के नाम से सुप्रसिद्ध है.

क्यूरोशियो की धारा

  1. यह धारा आंध्र महासागर की गल्फस्ट्रीम धारा (Gulfstream Current) के जैसी है. उत्तरी विषुवतरेखीय धारा फिलिपिन्स द्वीप (Philippines Islands) के नजदीक व्यापारिक पवनों के प्रभाव से उत्तर की ओर मुड़ जाती है.
  2. उसके बाद मध्य चीन के सहारे बढ़ते हुई यह जापान के पूर्वी तट पर पहुँचती है.
  3. इस धारा का रंग गहरा नीला होने के कारण जापानी लोग इसे “जापान की काली धारा (Black Stream of Japan)” कहते हैं.
  4. जापान तट के सहारे बहती हुई यह धारा क्यूराइल की ठंडी धारा से मिल जाती है.
  5. यहाँ पर पछुआ हवाओं के प्रभाव में आने से पहले ही मुड़कर आगे उत्तरी प्रशांत प्रवाह (North Pacific Drift) कहलाती है.
  6. वैंकुवर द्वीप (Vancouver Island) के समीप यह धारा दो शाखाओं में बँट जाती है.
  7. एक शाखा उत्तर की ओर अलास्का तट के सहारे-सहारे बहती हुई पुनः उत्तरी प्रशांत प्रवाह में मिल जाती है. इसे अलास्का की धारा कहते हैं.
  8. दूसरी शाखा दक्षिण की ओर जाकर कैलफोर्निया की ठंडी धारा से मिल जाती है.
  9. क्युरोशियो की एक धारा जापान के पश्चिम तट के सहारे उत्तर में जापान सागर में चली जाती है, जो सुशीमा की धारा (Tsushima Current) के नाम से विख्यात है.

अलास्का की धारा

  1. उत्तरी प्रशांत महासागरीय प्रवाह की एक शाखा उत्तरी अमेरिका के पश्चिमी तट पर अलास्का की खाड़ी में चली जाती है और अलास्का तट के सहारे-सहारे प्रवाहित होती है. इसे अलास्का की गर्म धारा कहते हैं.
  2. इसके गर्म होने से तट भी गर्म रहता है.

क्यूराइल की धारा 

  1. यह एक ठंडी जलधारा है.
  2. बेरिंग जलडमरूमध्य (Bering Strait) से दक्षिण साइबेरिया तट के साथ बहती क्यूराइल द्वीपसमूह के निकट क्यूरोशियो के धारा से मिलने वाली इस ठंडी धारा को क्यूराइल या ओयाशिवो को धारा कहते हैं.

कैलिफोर्निया की धारा

  1. यह ठंडी जलधारा है.
  2. यह धारा उत्तरी प्रशांत पवाह की दक्षिणी शाखा का ही भाग है जो कैलिफोर्निया के पश्चिमी तट के साथ बहकर दक्षिण से उत्तरी विषुवतरेखीय धारा से मिल जाती है.

दक्षिण विषुवतरेखीय धारा

  1. दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के पश्चिमी भाग में लगभग 3°-10° दक्षिणी अक्षांश पर यह धारा पश्चिम की ओर प्रवाहित होती है.
  2. पश्चिम दिशा में चलती हुई ऑस्ट्रेलिया के उत्तर में स्थित न्यूगिनी तट से टकराकर दो भागों में विभाजित हो जाती है.
  3. प्रथम शाखा उत्तर की और चलकर प्रति विषुवतरेखीय धारा से मिल जाती है और अपनी दिशा को पूर्व की ओर कर लेती है.
  4. दूसरी शाखा ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी भाग पर दक्षिण की ओर आती है और उसकी दिशा फिर से पूर्व की ओर परिवर्तित हो जाती है.

पूर्वी ऑस्ट्रेलिया की धारा

  1. न्यूगिनी द्वीप (New Guinea Island) के निकट दक्षिणी विषुवतरेखीय धारा दो शाखाओं में बंट जाती है.
  2. इसकी दक्षिणी शाखा पूर्वी ऑस्ट्रेलिया तट के साथ-साथ बहती है इसलिए इसे पूर्वी ऑस्ट्रेलिया की गर्म धारा कहते हैं.
  3. न्यू साउथ वेल्स में इसे न्यू साउथ वेल्स की धारा भी कहते हैं.

पेरू की धारा

  1. दक्षिण प्रशांत महासागर में दक्षिणी अमेरका के पश्चिमी तट पर दक्षिण से उत्तर की ओर बहने वाली प्रमुख धारा है.
  2. यह ठंडी धारा है जिसे पेरू के तट के सहारे-सहारे प्रवाहित होने के कारण पेरू की धारा कहते हैं.
  3. प्रसिद्ध भूगोलवेत्ता हम्बोल्ट ने सर्वप्रथम इसे देखा था तो इसे हम्बोल्ट की धारा के नाम से भी पुकारते हैं.

एलनिनो अथवा विपरीत विषुवतधारा

  1. El Niño एक गर्म जलधारा है.
  2. यह दक्षिणी विषुवतरेखीय धारा से निकलकर पेरू के तट के समानांतर उत्तर से दक्षिण की ओर प्रवाहित होती रहती है.
  3. इस धारा के दक्षिण की ओर जाने से पेरू के तट और आसपास के जल का तापमान बढ़ जाता है जिससे मछलियों की उत्पत्ति में कठिनाई होती और अनेक बीमारियाँ फैलती हैं.

 यह भी पढ़ें >> अटलांटिक महासागर की जलधाराएँ

Books to buy

3 Comments on “प्रशांत महासागर की धाराएँ – Pacific Ocean Currents in Hindi”

  1. hello sir.
    im rakesh sindhaya from dis. dhar near indore city in m.p me prepacation on upsc exam

    thanks&regard
    rakesh sindhaya
    mo;-9165756013

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.