मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना क्या है? – Soil Health Card (SHC) Scheme

RuchiraGovt. Schemes (Hindi)Leave a Comment

Soil Health Card (SHC) scheme explained in Hindi

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के द्वितीय चरण में पिछले दो वर्षों में किसानों को 11.69 करोड़ मृदा स्वास्थ्य कार्ड बाँटे गये. इस योजना के लागू होने से रासायनिक खादों के उपयोग में 8-10% गिरावट देखी गई है. साथ ही उत्पादकता में 5-6% की बढ़ोतरी हुई है.

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना क्या है?

  • यह योजना 2015 में आरम्भ की गई थी.
  • इस योजना में सरकार किसानों को मृदा कार्ड निर्गत करती है जिनमें यह लिखा होता है की किस फसल के लिए कितना पोषक तत्त्व और खाद देने की आवश्यकता है.
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का ध्येय किसानों को खाद आदि का सोच-समझकर प्रयोग करना सिखाना और उत्पादकता को बढ़ाने में उन्हें सहायता पहुँचाना है.

मृदा स्वास्थ्य कार्ड क्या है?

  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड का प्रयोग मिट्टी की वर्तमान दशा का आकलन करना और मिट्टी के स्वास्थ्य में कालांतर में भूमि प्रबंधन से प्रभावित होने वाले परिवर्तनों की जानकारी देना है.
  • इस कार्ड में मृदा स्वास्थ्य के संकेतकों के साथ-साथ सम्बद्ध विवरणात्मक शब्द अंकित होते हैं. ये संकेतक किसानों के व्यावहारिक अनुभव और स्थानीय प्राकृतिक संसाधनों के विषय में उनके ज्ञान पर आधारित होते हैं.
  • इस कार्ड में प्रदर्शित संकेतकों को किसी तकनीकी अथवा प्रयोगशाला के उपकरण की सहायता के बिना समझा जा सकता है.

इस कार्ड में क्या-क्या रहता है?

मृदा स्वास्थ्य कार्ड में मिट्टी की दशा से सम्बंधित 12 मापदंडों की जानकारी होती है, जैसे – N,P,K (सूक्ष्म पोषक तत्त्व), S (द्वितीयक पोषक तत्त्व), Zn, Fe, Cu, Mn, Bo (सूक्ष्म पोषक तत्त्व) और pH, EC, OC (भौतिक मापदंड). इन मापदंडों के आधार पर मृदा स्वास्थ्य कार्ड खाद के प्रयोग के विषय में सुझाव देता है और यह भी बताता है की खेती में मिट्टी को लेकर क्या-क्या सुधार किया जा सकता है.

Tags : Key features, objectives and significance of the scheme in Hindi.

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.