संस्कृत विषय IAS Optional Subject के लिए कैसा रहेगा?

Sansar LochanCivil Services Exam27 Comments

Print Friendly, PDF & Email

सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे छात्रों के द्वारा लगातार किए जा रहे आग्रह के चलते मैंने IAS Optional Subject का यह सीरीज शुरू किया है जिसके अन्दर मैं विभिन्न optional subjects के विषय में बात करूँगा और एक-एक करके discuss करूँगा कि कौन-सा optional subject आपके लिए कितना अच्छा है और कितना खराब, किस optional subject में क्या कमी है और क्या खूबियाँ हैं आदि. इस series की शुरुआत मैं संस्कृत (Sanskrit) सब्जेक्ट से करना चाहूँगा क्योंकि संस्कृत हमारे पूर्वजों की बोलचाल की भाषा है और आज के समय जो लोग इस जादुई भाषा का ज्ञान रखते हैं, वे सम्माननीय हैं. चलिए जानते हैं Sanskrit as an Optional Subject of Civil Services Exam के बारे में. इसका full syllabus भी discuss किया गया है जिससे आपको depth में idea मिल सके.

संस्कृत को ऑप्शनल विषय के रूप में कितने छात्र लेते हैं?

इसकी ठोस जानकारी हमें नहीं है, हमने हाल ही में UPSC को RTI के जरिये इस बात को बताने के लिए आग्रह किया है. जल्द ही उनका जवाब आएगा तो आपके साथ शेयर करूँगा. फिर भी आपको बतला दूँ कि संस्कृत को कम छात्र ही opt करते हैं क्योंकि इस विषय की जानकारी सभी लोगों को नहीं होती. संस्कृत लगभग सभी लोगों के लिए टेढ़ी खीर है. इसलिए इसको optional subject के रूप में लेने की मूर्खता non-Sanskrit background वाले शायद ही करें. दिल्ली के लगभग सारे coaching institutes में प्रायः यह देखा गया है कि 100 छात्रों में 2-3 छात्र ही ऐसे होते हैं जिन्होंने संस्कृत को ऑप्शनल विषय के रूप में रखा है. पर इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं निकाला जा सकता कि संस्कृत सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए एक बकवास सब्जेक्ट है. चलिए जानते हैं कैसे?

Sanskrit Syllabus in Brief

आप चाहें तो Sanskrit के Syllabus को PDF में डाउनलोड इस लिंक से कर सकते हैं > Download

अन्य optional subjects की ही तरह संस्कृत के भी 2 papers होते हैं – प्रथम पत्र और द्वितीय पत्र. हर पत्र दो-दो भागों में बंटा हुआ है – Part 1 और Part 2. First Paper  में ग्रामर के साथ-साथ कुछ mixed types of questions रहते हैं और Second Paper साहित्य यानी Literature का है.

प्रथम पत्र (Paper 1) Syllabus

पेपर 1

  1. व्याकरण
  2. भाषा विज्ञान
  3. संस्कृत साहित्य का इतिहास
  4. साहित्य-शास्त्र

पेपर 2

  1. निबंध
  2. संस्कृति
  3. दर्शन
  4. अपठित-अनुच्छेद

द्वितीय पत्र (Paper 2) Syllabus

पेपर 1

  1. चयनित महाकाव्य
  2. प्राचीन साहित्य
  3. संस्कृत नाटक
  4. संस्कृत व्याख्या

पेपर 2

  1. संस्कृत व्याख्या – महाकाव्य
  2. संस्कृत व्याख्या – आर्ष काव्य
  3. हिंदी व्याख्या – मिश्रित काव्य
  4. हिंदी व्याख्या – नाट्य काव्य

यदि आपको Sanskrit का पूरा UPSC Syllabus detail में चाहिए तो नीचे दिए गए ऑडियो-लिंक का प्ले बटन दबाएँ >>

Courtesy: Youtube Cec UGC

Why Sanskrit is good?

  1. प्रश्नों का pattern हर साल एक तरह का ही रहता है. व्याकरण, श्लोक, कॉम्प्रिहेंशन के सवाल कुछ इस तरह सजाये जाते हैं कि लगता ही नहीं कि आपके सामने पिछले साल की तुलना में कुछ नया परोसा गया हो.
  2. इस विषय का पाठ्यक्रम (syllabus) सहज, सरल और छोटा है.
  3. यदि आप थोड़ा-बहुत भी संस्कृत का ज्ञान (+2 लेवल का) रखते हैं तो लगभग चार महीने के अन्दर इस विषय पर आप पूरा का पूरा अधिकार बना सकते हैं, complete कर सकते हैं.
  4. अभी तक के past records में संस्कृत सब्जेक्ट लेने वाले बहुत अच्छा perform कर रहे हैं.
  5. यदि आप Prelims पास कर लेते हो तो अन्य छात्रों की तुलना में आपको Mains में ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी.
  6. यह जरुरी नहीं कि आपको संस्कृत में ही उत्तर देना है. बस कुछ अनिवार्य प्रश्नों को छोड़कर आप प्रश्नों का उत्तर हिंदी या इंग्लिश माध्यम या regional language (संविधान सम्मत क्षेत्रीय भाषाएँ) में भी दे सकते हैं.
  7. Limited Books हैं जिनको पूरा नहीं पढ़ना है. उनमें चंद श्लोक, चैप्टर ही सिर्फ पढ़ने हैं.

Why Sanskrit is bad?

  1. संस्कृत उनके लिए एक headache है जो कभी संस्कृत पढ़े ही नहीं या उनकी रूचि कभी इस विषय में रही ही नहीं.
  2. ऐसे लोगों को guidance (किसी Sanskrit teacher) की जरुरत पड़ेगी. ऐसा भी देखा गया है कि doctor, engineer आदि background वाले लोगों ने संस्कृत ऑप्ट करके अच्छा perform किया.
  3. जिन सवालों का जवाब केवल संस्कृत में देना है, ये new learner के लिए एक tough task हो सकता है. पर आपको यह भी बता दूँ कि आपको बस कुछ ख़ास किताब के ख़ास चैप्टर से ही ऐसे सवाल पूछे जाते हैं जिनका जवाब आपको संस्कृत में देना है. इसलिए थोड़ी मेहनत कर के आप इसको manage कर सकते हो.
  4. कभी-कभी संस्कृत के शिक्षक ही out of syllabus questions पूछ देते हैं जो एक दुखद विषय है. उदाहरण के लिए Sanskrit Paper 2 के 7th question में मानिए आपको “नीतिशतकम्” पर प्रश्न दिया गया है. सिलेबस के अनुसार तो आपको नीतिशतकम् के प्रथम 10 पद्य पूछे जाने हैं पर कई बार ऐसा देखा जाता है कि 11वाँ, 25 वाँ पद्य पूछ लिया गया जो प्रश्न सेट करने वालों की लापरवाही को दर्शाता है.

Useful books for Sanskrit की चर्चा लिखित रूप में बाद में करेंगे. वैसे ऊपर के ऑडियो में आप book list के नाम सुन सकते हो.

यह जरुर पढ़ें >>

How to choose Optional Subject?

Books to buy

27 Comments on “संस्कृत विषय IAS Optional Subject के लिए कैसा रहेगा?”

  1. महोदय में संस्कृत विशेष तृतीय बर्ष का छात्र हूँ मैं IAS संस्कृत को मेन विषय लेकर करना चाहता हूँ लेकिन options मे कौन सा विषय ले यह सही प्रकार से समझ मे नही आ रहा है इसलिए आपसे अनुरोध है कि कृपया उचित मार्गदर्शन करें तथा उसका syllabus भी ज्ञापित करवायें

  2. Sir I wanted to know wheater I can write Sanskrit optional in my regional language too (Kannada) .. My medium of language for all GS and prilims is English.. Is there a option to choose regional language for optional Sanskrit r shud I write in English medium only.. Pls clear my confusions.. Pls reply.
    Thank you

    1. Hi Pavithra

      You can write Sanskrit paper in Kannada but some specific part of questions (Question number 1, 5 and 8) must be answered in Sanskrit and in Devnagari script. On the other hand, you will have to write all papers including GS papers and essay in same language (Kannada).

      Question paper will be printed in English and Hindi. Thus a basic understanding of English or Hindi is required.

  3. सर, क्या संस्कृत वैकल्पिक विषय से bpsc भी दिया जा सकता है?

  4. सर में संस्क्रत से एम.ए कर सकता हु अगर में यह कोर्स करता हु तो भविष्य में मुझे क्या फायदा होगा या जॉब के माने क्या हैं मैंने 12 आटर्स से उत्तीर्ण की हैं

  5. Namaste sammanit sir ji!
    main ba final year ka student hu sr,main IAS ka sapna sakaar krna chahta hu sr,
    Mera pasandida sub Sanskrit h, taiyari ke liye konsi books pr focus krne ki zarurat h sr ji? mujhe kis cheej pr jyada focus karne ki zarurat h?
    Margdarshan kijiyega sr ji.
    Dhanyawad! 🙏

  6. नमो नमः महोदयः
    मेरा नाम –राजन शर्मा है मै ततारपुर (हापुड) उत्तर प्रदेश का रहने वाला हु वर्तमान मे मै आचार्य कर रहा हु महोदय मै IPS करना चाहता हु मेरा मोबाइल नं.9557229334 है।कृप्या महोदय एक बार बात जरुर करे । PLESEEEEEEEEE

  7. सेवा में
    आदरणीय महोदय जी
    सादर नमस्ते ।
    आशा है ईश कृपा से आप सकुशल होंगे ।मैं IAS Exam लिखना चाहता हूँ ।मेरा विषय संस्कृत है ।मैंने M,.A संस्कृत से किया हूआ हूं ।अत:मुझे आप मार्गदर्शन करने कृपा करे। जिससे मैं आपका सदैव आभारी रहूंगा ।
    भवदीय
    दिलीप कुमार

  8. Sir mene graduation Sanskrit se nhi kia or na hi inter level ki padh payi kuch karanvash halaki mera jhukav Sanskrit bhasa ki trf h to kya main IAS ki taiyari Sanskrit se krne yogya hu….

  9. Sir
    मैं M.A.संस्कृत हूँ ,मुझे IAS की तैयारी के लिए कौन सी किताबें पढनी चाहिए।और B.A. संस्कृत और political science मे हैं।कोई महत्वपूर्ण किताबों के नाम बताइये।

    1. haan mere anusaar to milta hai, par kshetriy bhasha ki tulna men ya urdu ke tulna men nahin.
      sanskrit teachers khule dil se aapke answers ko chck karte hain.
      par jahan baat kshetriyta se jud jaaye ya urdu se jud jaaye….to wah aur adhik shaktishali rup se teachers ke dwara diye gaye marks ko influence karta hai (positive way me)

  10. Sir me IAS prilims or means ki tiyari Sanskrit se hi Krna chahta hun ku ki mene Gragution bhi sanskrit se ki he kya ye possible hai or yahi syellbus rhega

    1. aap ek baar UPSC k sanskrit ka syllabus dekh len. tab ja kar aapko idea hoga ki kya padhna hai aur kya nahin. accha hoga yadi koi previous year questions bhi mil jaaye sanskrit ka.

      aur aap bilkul sanskrit ko optional sub ke rup me lene ke lie eligible hain.

  11. सर मे समझ मे नही आरहा किसी भी state bOrd कि नही पढ सकते ॥क्या वह ncert सै अलग है क्या ncert ही पढना जरूरी है

    1. nahin NCERT padhna jaruri nahi hai. State board ke kitabo se apko yadi achi material mil rahi hai, general knowledge ka base samjh aa raha hai to use hi padhe, ncert jaruri nahi.

  12. Sorry sir सर मे 1st year मे हू ओर ias कि तैयारी करना चाहता हू ओर मै पहले ncert पढना चाहता हू please बताओ कि मे कौनसी state laval कि या ncert ही पढू । ओर यह भी बताओ कि दो नो मे कितना फक्र है

    1. NCERT की किताबें (CBSE) from classes I to XII में किसी-किसी स्टेट में चलती है. दूसरी तरफ कई राज्य में NCERT के बदले …दूसरी पब्लिकेशन की किताबें चलती हैं. जैसे Maharashtra Board में 11वीं या 12वीं के छात्रों को जो CBSE board से नहीं हों…उनको अलग किताबें पढ़नी पड़ती होगी.

      आप NCERT पढ़ सकते हो क्योंकि उसमें जानकारी सही ढंग से दी हुई होती है. आप भूगोल, इतिहास, राजनीति विज्ञान की किताबें 8th to 12th खरीद लो…

  13. Aur main aagrah karta hoon ki aage hindi literetute , philosophy optional subject ke baare mein bataein kyonki kisi respected teacher ne kaha hai ki yeh dono subjects hindi medium ke students ke anya subject ki tulna mein scoring hai

    thank you sir.

  14. Namaste sansaar Lochan sir,

    “हमने हाल ही में UPSC को RTI के जरिये इस बात को बताने के लिए आग्रह किया है. जल्द ही उनका जवाब आएगा तो आपके साथ शेयर करूँगा ”

    Aapke is waktawya se pata chalta hai ki aap ham logon ke liye kitni mehnat karte hain.
    Aaap hamein hamesha well-researched aur satik cheejon ko hi provide karte hain.

    aur antt mein main abhi ke liye aise lekhan shaili ke liye maafi chhahoonga.

    Thank you so much sansaar lochan sir.

  15. संस्कृत विषय ठीक रहेगा लेकिन बीपीई और एमपीई विषय होना चाहिए। खासकर पीसीएस में में तो अवश्य।

  16. Sir mea 1st years mean house and means ncert padna chaya house though bathing ki mean kinship Kiribati passion state laval ki ya ncert pleeas

    1. Salvi जी, कृपया प्रश्न को इंग्लिश में या सही हिंदी में लिखें. कुछ समझ नहीं आ रहा.

  17. Sir
    मैं b.a. फाइनल का छात्र हूं सर मैं ऐच्छिक विषय में जियोग्राफी सब्जेक्ट लेना चाहता हूं कृपया मुझे geography की महत्वपूर्ण बुक का नाम बताइए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.