[Sansar Surgery Part 18, 2018] Left Topics of Sansar DCA

Sansar LochanSansar Surgery1 Comment

Print Friendly, PDF & Email

कई बार ऐसा होता है कि हमारी लाख मेहनत के बावजूद करंट अफेयर्स का कोई न कोई परीक्षा छूट ही जाता है. यह सिर्फ हमारे साथ ही नहीं, बड़ी-बड़ी कोचिंग संस्थाओं के साथ भी होता है. हम तो खैर छोटे लोग हैं और वैसे भी मानव की प्रकृति है कि कुछ भी परफेक्ट नहीं हो सकता. खैर, जब हमने फिर से The Hindu और अन्य अखबारों पर अपनी पैनी नज़र दौड़ाई तो देखा कि कुछ important current affairs को हमने Sansar DCA में cover नहीं किया है या कभी-कभी हम उन परीक्षा को इसमें उठाते हैं जो Revision के लिए उपयुक्त हैं.

फिर हमने सोचा जो लोग UPSC Prelims 2019 को टारगेट कर रहे हैं और संसार लोचन टीम पर आँख मूँद कर भरोसा कर रहे हैं, हमारी यह भूल उनके लिए नाइंसाफी होगी. इसलिए हमने Sansar DCA से हटकर “Sansar Surgery Series” शुरू की है जिसमें वर्ष 2018 और आगामी वर्ष 2019 के वही परीक्षा शामिल होंगे जो हमारे द्वारा भूल से Sansar DCA में कवर नहीं किये गए हों. यह Sansar Surgery Series का पार्ट 18 है.

Sansar Surgery Part 18, 2018

स्टेरिलाइजेशन

जब अन्य मुद्राओं के रूप में उच्च पूंजी निवेश शुरू हो रहा हो, जैसे : डॉलर (जैसा कि 2004-06 में तेजी वाले समय में हुआ था), RBI रुपए जारी करके डॉलर खरीदेगा (क्योंकि बाहरी कंपनियों को भारत में व्यापार करने या संयंत्र स्थापित करने के लिए भारतीय रुपए की आवश्यकता होती है). हालाँकि, यह बैंकों के साथ अधिक नकदी और मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने का कारण होगा, भारतीय रिजर्व बैंक को उस नकदी को वापस लेना आवश्यक है और यदि यह रेपो दर / नीति दर को कम नहीं करने का निर्णय करता है, तो सरकारी बांड बेचना और नकदी को वापस लेना ही का एकमात्र विकल्प है और इस प्रक्रिया को ‘स्टेरिलाइजेशन’ कहा जाता है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह टॉपिक इतना महत्त्वपूर्ण क्यों है?

भारतीय अर्थव्यवस्था कई संरचनात्मक सुधारों के माध्यम से गुजर रही है, अतः प्रारंभिक परीक्षा में इनकी महत्ता को देखते हुए हमारा प्रयास इससे सम्बंधित नए नियमों या संबंधित शर्तों की ओर छात्रों का ध्यान आकृष्ट करना है.

डिसेबिलिटी एडजस्टेड लाइफ ईयर (DALY)

DALY बीमारी के कारण समाप्त हो चुके उत्पादक वर्षों की संख्या को मापता है. DALY को “स्वस्थ” जीवन के एक समाप्त हो चुके वर्ष के रूप में सोचा जा सकता है. किसी बीमारी से दैनिक स्तर पर जनसंख्या में असामायिक मृत्यु दर और विकलांगता (YLD) के कारण समाप्त हो चुके उत्पादक वर्षों के कारण लाइफ लॉस्ट (YLL) के योग के रूप में DALY की गणना की जाती है. DALY = YLL + YLD

वीसी 11184

“वीसी 11184” भारत का पहला मिसाइल ट्रैकिंग जहाज है जिसे प्रधानमंत्री कार्यालय की देखरेख में हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (एचएसएल) द्वारा बनाया गया है. इसका नाम भारतीय नौसेना में शामिल होने के बाद दिया जाएगा और वीसी 11184 इसका यार्ड नंबर है. यह देश के रणनीतिक हथियारों की योजनाओं को मजबूत करने के लिए सरकार के प्रयास स्वरूप बनाया गया है. इस जहाज में 300-मजबूत चालक दल के साथ हाई-टेक गैजेट्स और संचार उपकरण और हेलीकॉप्टर लैंडिंग के लिए सक्षम बड़े डेक ले जाने की क्षमता है. जहाज का मुख्य कार्य सेंसर का उपयोग करके मिसाइलों को ट्रैक करना है. संयुक्त राज्य अमेरिका, चीन, रूस और फ्रांस के बाद इस तरह के मिसाइल-ट्रैकिंग जहाज वाला भारत पांचवां देश होगा.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह टॉपिक इतना महत्त्वपूर्ण क्यों है?

यूपीएससी वर्ष 2016 में, “आईएनएस अस्त्रधारिणी से सम्बंधित एक प्रश्न सीधे पूछा गया था और हाल ही में इसके लगातार समाचारों में रहने के कारण इसकी महत्ता को देखते हुए हम छात्रों का ध्यान इस ओर आकृष्ट करने का प्रयास कर रहे हैं.

पाल्क स्ट्रेट

पाल्क स्ट्रेट श्रीलंका के उत्तरी प्रांत और तमिलनाडु के मन्नार जिले के बीच की एक स्ट्रेट है. यह उत्तर-पूर्व में बंगाल की खाड़ी को दक्षिण-पश्चिम में पाल्क की खाड़ी के साथ जोड़ता है. इस स्ट्रेट का नाम 1755-63 के दौरान मद्रास प्रेसीडेंसी के राज्यपाल रॉबर्ट पाल्क के नाम पर रखा गया था.

10 डिग्री चैनल

अंडमान और निकोबार पूर्वांचल रेंज का विस्तार हैं और उनमें से कुछ की उत्पत्ति ज्वालामुखीय भी हैं. अंडमान और निकोबार एक दूसरे से 10 डिग्री चैनल से अलग हो गए हैं.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह टॉपिक इतना महत्त्वपूर्ण क्यों है?

हाल ही में, अंडमान और निकोबार को नीति आयोग द्वारा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की योजना बनाई जा रही है, इसलिए हमारा प्रयास छात्रों का ध्यान, प्रारंभिक परीक्षा के दृष्टिकोण से महत्त्वपूर्ण, इस द्वीप की ओर आकृष्ट करना है.

मानव विकास सूचकांक (HDI) रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा 189 देशों के जारी किये गए नवीनतम मानव विकास सूचकांक (HDI) में भारत 130वें स्थान पर और नॉर्वे शीर्ष पर है. भारत की रैंक में पिछले वर्ष की तुलना में, इस बार 1 रैंक का सुधार हुआ है. UNDP की रिपोर्ट के अनुसार पिछले वर्ष के 0.636 की तुलना में 0.64 के HDI मूल्यांकन के साथ, भारत को मध्यम मानव विकास के रूप में वर्गीकृत किया गया है जिसके साथ ही भारत इस सूची में, दक्षिण एशिया में बांग्लादेश और पाकिस्तान से आगे है. भारत का समायोजित मानव विकास सूचकांक (IHDI) मूल्यांकन 0.468 है जोकि HDI से कम है.

रामसर सम्मेलन

रामसर ईरान में एक शहर है. वर्ष 1971 में, रामसर में आर्द्रभूमियों के संरक्षण और सतत उपयोग के लिए एक अंतरराष्ट्रीय संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे. सम्मेलन का उद्देश्य “दुनिया भर में सतत विकास को प्राप्त करने की दिशा में योगदान के रूप में, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से स्थानीय और राष्ट्रीय कार्यों से सभी आर्द्रभूमियों का संरक्षण और उचित उपयोग करना है”. आर्द्रभूमियों में झीलें, बाढ़ के मैदान, मूंगा चट्टाने, सदाबहार क्षेत्र आदि शामिल होंगे. रामसर साइट्स “मोंट्रेक्स रिकॉर्ड”(Montreaux Record) में भी सूचीबद्ध हैं.

IBSAMAR

‘IBSAMAR’ भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाले नौसैनिक सैन्य अभ्यास का नाम है. इस अभ्यास का छठा संस्करण दक्षिणी अफ्रीका के Simons शहर के पास आयोजित किया जा रहा है. विदित हो कि पिछली बार यह सैन्य आयोजन भारत के गोवा शहर में आयोजित हुआ था.

उष्णकटिबंधीय चक्रवात

‘उष्णकटिबंधीय चक्रवात’ की प्रकृति “गर्म” होती है और इनकी उत्पत्ति तब होती है जब नम हवा के ऊपर उठने से गर्मी पैदा होती है. इन चक्रवातों को ऊर्जा, संघनन की गुप्त उष्मा से मिलती है. इसीलिये इन चक्रवातों का मुख्य प्रभाव तटीय भागों में ही होता है क्योंकि स्थल भाग पर आने पर इनकी ऊर्जा के स्रोत, संघनन की गुप्त उष्मा, का ह्रास होता चला जाता है. भूमध्य रेखा के आस-पास 0º से 5º अक्षांशों के बीच कोरियोलिस बल का मान कम होता है, जिस कारण उष्णकटिबंधीय चक्रवात के निम्न वायुदाब के केंद्र को उच्च वायुदाब भर देता है, परिणामस्वरूप इस क्षेत्र में चक्रवात उत्पन्न नहीं होते. उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को हिंद महासागर में “चक्रवात”, जापान में “नोवाकी”, फिलीपींस में “बाग्निओ” और चीन सागर में “टाइफून” के रूप में जाना जाता है.

कोरल रीफ को “महासागर का उष्णकटिबंधीय वर्षा वन” क्यों कहा जाता है?

कोरल रीफ को “महासागर का उष्णकटिबंधीय वर्षा वन” इसलिए कहा जाता है क्योंकि कोरल रीफ कई जीव और प्रजातियों की उपजीविका है और उस सन्दर्भ में बहुत समृद्ध हैं. चूँकि, उष्णकटिबंधीय वर्षा वनों की सुंदरता इनकी विविध प्रजातियों और प्रजातियों की समृद्धि में है, कोरल रीफ महासागर में विभिन्न जीवों कि उपजीविका के सन्दर्भ में बहुत समृद्ध हैं, जोकि प्रजातियों की विविधता और प्रजातियों की समृद्धि का कारण है. इसलिए इसे “महासागर का उष्णकटिबंधीय वर्षा वन” कहा जाता है.

प्रारंभिक परीक्षा के लिए यह टॉपिक इतना महत्त्वपूर्ण क्यों है?

हाल ही में, वैज्ञानिक दुनिया भर में प्रवाल पारिस्थितिकी तंत्र को बहाल करने का प्रयास कर रहे हैं, इसलिए हमने, इसकी महत्ता को देखते हुए छात्रों का ध्यान कोरल रीफ की कुछ महत्त्वपूर्ण विशेषताओं की ओर आकृष्ट करने का प्रयास किया है.

मौद्रिक नीति समिति (MPC)

MPC एक 6 सदस्यों का निकाय है जो रेपो रेट पर निर्णय लेता है. पिछली प्रणाली के अनुसार, निर्णय लेने का एकमात्र अधिकार आरबीआई के गवर्नर के पास केंद्रित था, लेकिन MPC के मामले में, कोई भी निर्णय मतदान के द्वारा लिया जाता है और केवल ‘बराबरी के मत’ पड़ने की स्थिति में आरबीआई के गवर्नर के पास दूसरा मत अथवा निर्णायक मत होता है.

क्लिक हियर तो विजिट >> Sansar Surgery

Books to buy

One Comment on “[Sansar Surgery Part 18, 2018] Left Topics of Sansar DCA”

  1. Sir me upsc ki preparation kaise karu 2019 k liye mere pass koi palnning nhi na kuch pta h ki kaise karna English Me weak hu me to btaye sir aap ki kaise preparation karu jisse ki Mera upsc crack ho Jaye kyunki mere pass ab samay nhi jyada pls sir help me samaj me nhi aa rha h kaise Kahan se shuruwat karu me coaching afford nhi Kar sakta or job karta hu so pls help me sir pls

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.