प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) 2.0 – एक मूल्यांकन

RuchiraGovt. Schemes (Hindi)2 Comments

चर्चा में क्यों? >> सरकार की फ्लैगशिप कौशल-प्रदायी योजना – प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) में कौशल प्राप्त कर चुके उम्मीदवारों को नियुक्तियाँ या रोजगार प्राप्त करने में कठिनाई आ रही है.

Important Info
विदित हो कि हम लोग जल्द से जल्द 2018 की सभी योजनाओं को Yojana 2018 पेज पर संकलित कर रहे हैं. 2019 की Prelims परीक्षा में इन योजनाओं के बारे में आपसे पूछा जा सकता है. इसलिए सम्पादक महोदय ने मुझे यह जिम्मेदारी सौंपी है.
About the Author

Ruchira

रुचिरा जी हिंदी साहित्यविद् हैं और sansarlochan.IN की सह-सम्पादक हैं. कुछ वर्षों तक ये दिल्ली यूनिवर्सिटी से भी जुड़ी रही हैं. फिलहाल ये SINEWS नामक चैरिटी संगठन में कार्यरत हैं. ये आपको केंद्र और राज्य सरकारी योजनाओं के विषय में जानकारी देंगी.

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY)

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY), कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्रालय (MSDE) की एक प्रमुख योजना है. इस कौशल प्रमाणन योजना का उद्देश्य बड़ी संख्या में भारतीय युवाओं को उद्योग-सम्बन्धी कौशल प्रशिक्षण प्रदान करना है, जिससे उन्हें बेहतर आजीविका प्राप्त करने में सहायता मिल सके. इसके तहत पूर्व में प्रशिक्षण अनुभव या कौशल प्राप्त व्यक्तियों का मूल्यांकन कर, उन्हें भी “रिकग्निशन ऑफ़ प्रायर लर्निंग (RPL)” के अंतर्गत प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाता है.

PMKVY का शुभारम्भ 15 जुलाई, 2015 को 24 लाख युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए किया गया था. इस योजना के पुनर्मूल्यांकन के बाद, अक्टूबर 2016 में प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) 2.0 आरम्भ की गई थी. इसका लक्ष्य 2016 से 2020 तक की अवधि में 12,000 करोड़ रुपये की राशि खर्च कर 1 करोड़ युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करना है.

PMKVY की तुलना में PMKVY 2.0 में हुए परिवर्तन

  • नियोजन निगरानी को आवश्यक कर दिया गया है.
  • जिलों में प्रधानमन्त्री कौशल केंद्र (PMKK) नामक मॉडल केन्द्रों की स्थापना की गई है.
  • जिला स्तर पर कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए कलेक्टरों को इससे जोड़ कर राज्यों की अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने पर बल दिया गया है.
  • प्रत्येक जिले के लिए माँग-आपूर्ति की स्थिति को समझने के लिए जिला स्तर पर डाटा क्रंचिंग एक्सरसाइज प्रारम्भ की गई है.
  • संकुल-आधारित मॉडल अर्थात् किसी क्षेत्र में उम्मीदवारों को समूह में प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए उद्योगों, विशेषकर सूक्ष्म-लघु-मध्यम उद्योगों (MSME) को सम्मिलित करना.

विवरण

कौशल विकास तथा उद्यमिता मंत्रालय से प्राप्त नवीनतम आँकड़ों के अनुसार इस योजना के तहत प्रशिक्षण प्राप्त प्रत्येक छः व्यक्तियों में से केवल 1 को रोजगार प्राप्त हो सका है.

अक्टूबर 2016 में PMKVY 2.0 के शुभारम्भ के बाद इस योजना के प्रदर्शन में सुधार आया है. केन्द्रीयय कौशल विकास के आँकड़ों के अनुसार, इसके तहत पिछले 17 महीनों में PMKVY 2.0 के अंतर्गत कौशल प्रशिक्षण प्राप्त कुल 612,000 युवाओं में से 318,000 युवाओं को नौकरियों तथा स्व-रोजगार के तहत रोजगार प्रदान किया गया है. यद्यपि PMKVY 2.0 के अंतर्गत 70% रोजगार लक्ष्य को देखते हुए यह संख्या अभी भी कम है.

कमी क्यों?

गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण के अभाव तथा कुशाल उम्मीदवारों की माँग-आपूर्ति गतिशीलता को लेकर सूचनाओं की अस्पष्टता के कारण यह योजना सफल नहीं हो पा रही है.

PMKVY की सफलता महत्त्वपूर्ण क्यों?

  • भारत में प्रत्येक वर्ष 1 करोड़ 20 लाख लोग श्रम बाजार में प्रवेश करते हैं. जानांकिकीय लाभांश का उपयोग करने, सामाजिक समरसता तथा राजनीतिक स्थिरता को बनाए रखने के लिए इस विशाल कार्य-बल को लाभप्रद रोजगार प्रदान करना महत्त्वपूर्ण है.
  • भारत में रोजगार की समस्याओं पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चा हुई है. वर्ल्ड बैंक तथा इंटरनेशनल लेबर आर्गेनाईजेशन (ILO) ने देश में अच्छे वेतन वाली नौकरियों को आवश्यक बताया है. 2047 तक वैश्विक मध्य वर्ग में सम्मिलित होने के लिए भारत में स्व-रोजगार की अपेक्षा नियमित, आय वृद्धि वाली वेतनयुक्त नौकरियों के सृजन की अधिक आवश्यकता है.

आगे की राह

  • सरकार को उम्मीदवारों को रोजगार प्राप्ति योग्य बनाने पर ध्यान देना चाहिए.
  • सरकार को केवल औपचारिक कौशल प्रदान करने पर बल नहीं देना चाहिए अपितु अच्छी शिक्षा प्रदान करने, श्रम सुधार तथा कारोबार को आसान बनाने संबंधी उपायों पर भी ध्यान देना चाहिए.

Tags: Pradhan Mantri Kaushal Vikas योजना 2018 – PMKVY Scheme in Hindi के बारे में. Gktoday, Drishti IAS notes, PIB, Vikaspedia, Wikipedia, launch date/year, related ministry information, full form, download in PDF.

सभी योजनाओं की लिस्ट इस पेज से जोड़ी जा रही है – > Govt Schemes in Hindi

Books to buy

2 Comments on “प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) 2.0 – एक मूल्यांकन”

  1. मैं आपसे यह निवेदन करता हूं कि कृपया आप उन सभी तकनीकिक शब्दों के अर्थ भी अवश्य बताएं ताकि हम जैसे प्रवेशक भी उन शब्दों का अर्थ समझ सकें।
    धन्यवाद।

  2. आपके द्वारा लिया गया यह फैसला बहुत सराहनीय है।यह आपका हम सभी छात्रों के प्रति सच्ची निष्ठा का परिणाम है।
    धन्यवाद आपको😀😀😀😀😀

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.