अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक – 2020

Sansar LochanGovernanceLeave a Comment

अमेरिकी वाणिज्य चैंबर के वैश्विक नवाचार नीति केंद्र (Global Innovation Policy Center – GIPC) ने 2020 का अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा सूचकांक प्रकाशित कर दिया है.

अंतर्राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा (IIP) सूचकांक क्या है?

  • इसका पूरा नाम है – The International Intellectual Property Index.
  • यह सूचकांक प्रत्येक अर्थव्यस्था की बौद्धिक सम्पदा से सम्बंधित अवसंरचना का मूल्यांकन करता है. इसके लिए यह ऐसे 45 संकेतकों का अध्ययन करता है जो कारगर बौद्धिक संपदा प्रणाली के विकास के लिए अत्यावश्यक हैं.
  • इन संकेतकों को 8 वर्गों में बाँटा जाता है, जैसे – पेटेंट, स्वत्वाधिकार, ट्रेडमार्क, व्यापार रहस्य, बौद्धिक सम्पदा का व्यवासायीकरण, प्रवर्तन, प्रणाली की कार्यकुशलता तथा अंतर्राष्ट्रीय संधियों की सदस्यता.

भारत का प्रदर्शन

  • इस सूचकांक में 53 वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं में भारत को 40वाँ स्थान मिला है.
  • विगत वर्ष भारत को 50 देशों में 36वाँ स्थान मिला था.
  • प्रणालीगत कुशलता विषयक संकेत के अंतर्गत भारत ने अच्छा प्रदर्शन किया है और उसे 28 अन्य अर्थव्यवस्थाओं से अधिक अंक दिए गये हैं.

वैश्विक प्रदर्शन

सूचकांक में शीर्ष पांच में जो अर्थव्यवस्थाएँ आई हैं, वे हैं – अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, स्वीडेन, फ़्रांस और जर्मनी.

भारत के प्रदर्शन पर कुछ टिप्पणियाँ

  • 2016 में IPR नीति निर्गत होने के पश्चात् भारत सरकार ने अपना ध्यान प्रबल IP सुरक्षा और क्रियानव्यन को बढ़ाते रहने और उसके माध्यम से नवाचार तथा रचनात्मकता में निवेश को सम्बल देने पर लगाया है.
  • IP नीति (IP Policy) को लागू करने से यह लाभ हुआ है की पेटेंट और ट्रेड मार्क से सम्बंधित आवेदनों की प्रक्रिया तेज़ हुई है और साथ ही भारत के भारत के नवचारियों और सृजनकर्ताओं के बीच IP अधिकारों के प्रति सजगता बढ़ी है.
  • IP सुरक्षा को सुदृढ़ करने में भारत की प्रगति अच्छी-खासी है, परन्तु अभी बहुत कुछ करना शेष है.
  • जहाँ तक कॉपीराईट संकेतक का प्रश्न है भारत को इसके लिए सूचकांक में 24 अन्य देशों से अधिक अंक मिले हैं.

WIPO के बारे में

  • विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIPO) संयुक्त राष्ट्र की 17 विशेष एजेंसियों में से एक है.
  • इसकी स्थापना 1967 में रचनात्मक गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए की गई थी ताकि दुनिया भर में बौद्धिक संपदा की सुरक्षा को बढ़ावा दिया जा सके.
  • इसका मुख्यालय जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में है.
  • वर्तमान में 188 देश इस संगठन के सदस्य हैं.
  • इसके अन्दर 26 अंतर्राष्ट्रीय संधियाँ आती हैं.
  • इससे कुछ ऐसे देश जुड़े हैं जो संगठन के सदस्य नहीं हैं – मार्शल द्वीप समूह, माइक्रोनेशिया के संघिकृत राज्य, नौरू, पलाऊ, सोलोमन द्वीप समूह, दक्षिण सूडान और तिमोर-लेस्ते.
  • फिलिस्तीन इसका पर्यवेक्षक सदस्य है.
  • भारत इस संगठन का एक सदस्य है और इस संगठन द्वारा बनाई गई कई संधियों में इसकी भागीदारी है.

GIPC द्वारा चिन्हित भारत के समक्ष चुनौतियाँ

  1. पेटेंट के लिए आवश्यक योग्यताओं के विषय में जानकारी
  2. पेटेंट को लागू किया जाना
  3. लाइसेंस को अनिवार्य बनाना
  4. पेटेंट का विरोध
  5. विनियामक डाटा सुरक्षा
  6. चुंगी द्वारा की गई जब्ती की सूचना में पारदर्शिता
  7. ट्रेड मार्क के बारे में सिंगापुर विधि संधि का अनुपालन
  8. पेटेंट लॉ ट्रीटी का अनुपालन

Tags : IIP Index and performance of India and its neighbours. International IP Index 2020 in Hindi.

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.