फ़ूड सेफ्टी मित्र योजना और ईट राइट मूवमेंट के बारे में जानें

RuchiraGovt. Schemes (Hindi)1 Comment

पिछले दिनों “सही खाओ भारत (Eat Right India Movement)” आन्दोलन को सुदृढ़ करने और उसका स्तर ऊँचा करने के खाद्य सुरक्षा मित्र (Food Safety Mitra – FSM) योजना का अनावरण हुआ.

eat_right

खाद्य सुरक्षा मित्र (FSM) योजना क्या है?

इस योजना के द्वारा छोटे और मँझोले खाद्य व्यवसायियों को खाद्य सुरक्षा कानूनों का अनुपालन करने में सहायता पहुँचाई जायेगी और उनके लिए लाइसेंस, पंजीकरण, हाइजिन रेटिंग और प्रशिक्षण की सुविधा प्राप्त करने में मदद पहुँचाई जायेगी.

Food Safety Mitra Scheme का महत्त्व

इस योजना से न केवल खाद्य सुरक्षा प्रबल होगी, अपितु इससे युवाओं, विशेषकरखाद्य एवं पोषण से जुड़े युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे.

FSM योजना कैसे काम करेगी?

इस योजना के लिए खाद्य सुरक्षा मित्रों का चयन किया जाएगा. इन्हें FSSAI द्वारा प्रशिक्षण और प्रमाणपत्र दिया जाएगा. इनके आधार पर वे खाद्य व्यवसायियों को अपनी सेवा देंगे और बदले में भुगतान पायेंगे.

सही खाओ आन्दोलन क्या है?

  • भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने “सही खाओ आन्दोलन/The Eat Right Movement” अभियान का आरम्भ किया है जिससे कि खाद्य उद्योग भोज्य पदार्थों पर लेबल लगाने से सम्बंधित (food labeling regulation) नियमों का पालन कड़ाई से किया जा सके.
  • इसका आरम्भ FSSAI ने किया है.
  • इस अभियान का उद्देश्य लोगों द्वारा नमक, चीनी एवं तेल की खपत को अगले तीन वर्षों में 30% घटाना है.
  • इस अभियान के दो प्रमुख नारे हैं – “स्वस्थ खाओ” और “सुरक्षित खाओ”.
  • अभियान से आशा की जा रही है कि लोग अपने स्वास्थ्य पर अधिक-से-अधिक ध्यान देंगे और सही भोजन करते हुए दीर्घायु को प्राप्त करेंगे.

Eat Right India Movement के मुख्य अवयव

  • इस आन्दोलन के लिए FSSAI ने तीन मुख्य लक्ष्य निर्धारित किये हैं – सुरक्षित खाओ, स्वास्थ्यकर खाओ और ऐसा भोजन खाओ जो सतत उपलब्ध हो.
  • उपयोग में लाये हुए खाद्य तेल को फिर से उपयोग में लाने से होने वाली हानियों से लोगों को बचाने के लिए ने FSSAI ने खाद्य तेल में कुल ध्रुवीय यौगिकों (Total Polar Compounds – TPC) की अधिकतम सीमा 25% कर दी है.

TPC क्या है?

  • कई देशों में तेल की गुणवत्ता को मापने के लिए Total Polar Compounds – TPC का उपयोग किया जाता है. ज्ञातव्य है कि बार-बार तेल को गरम किये जाने से TPC का स्तर बढ़ जाता है. कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि भोजन के बिना तेल को गर्म करने के दौरान TPC का स्तर कम होता है जबकि यदि भोजन के साथ तेल को गर्म या फ्राई किया जाए तो TPC का स्तर बढ़ जाता है.
  • विदित हो कि यदि दैनिक प्रयोग में लाये जाने वाले तेल में TPC का स्तर ऊँचा हो तो इससे उच्च रक्तचाप, धमनी से सम्बंधित रोग, अल्जाइमर रोग और जिगर की बीमारी जैसी स्वास्थ्य समस्याएँ हो सकती हैं.

सही खाओ आन्दोलन का महत्त्व

आज देश में मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, विटामिन एवं खनिज तत्त्वों की व्यापक कमी और भोजन-जनित रोगों के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. ऐसी दशा में आवश्यक है कि इन रोगों से बचाव के लिए निवारक उपाय लागू हों. सही खाओ भारत आन्दोलन इस दिशा में एक बड़ा कदम है क्योंकि इससे समाज में व्यवहारगत परिवर्तन संभव है.

Tags : Key features of the Eat Right movement (ईट राइट मूवमेंट), what are TPCs, need for a limit. Food Safety Mitra scheme in Hindi.

Books to buy

One Comment on “फ़ूड सेफ्टी मित्र योजना और ईट राइट मूवमेंट के बारे में जानें”

  1. Sir mughe KBC 2020me particepate karna hai uske liye sir gide kare abhi mai kbc play along khel raha hu jisme mera point 42 lakh pts hai isme sir gk puchta hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.