शिक्षा प्रक्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए घोषित योजनाएं

Sansar LochanGovt. Schemes (Hindi)Leave a Comment

केन्द्रीय वित्त मंत्री ने शिक्षा प्रक्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कई पहलों की घोषणा की है.

 

शिक्षा प्रक्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए घोषित पहलें

  1. ऑनलाइन शिक्षा से जुड़े समस्त प्रयासों को एक जगह लाने के लिए व्यापक प्रधानमंत्री ई-विद्या (PM e-VIDYA) योजना को लागू करना. इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित कार्यक्रम आयेंगे –
  • DIKSHA अर्थात् एक राष्ट्र एक डिजिटल मंच.
  • 1 से लेकर 12 कक्षा के लिए अलग-अलग टीवी चैनल (एक कक्षा एक चैनल) जिसमें उत्तम शैक्षणिक सामग्री उपलब्ध कराई जायेगी.
  • विद्यालय एवं उच्चतर शिक्षा के लिए MOOCS (Massive open online course) फॉर्मेट में SWAYAM ऑनलाइन पाठ्यक्रम.
  • IITJEE/NEET की तैयारी के लिए IITPAL सामुदायिक रेडियो और CBSE शिक्षा वाणी पॉडकास्ट.
  • DAISY (Digitally Accessible Information System) पद्धति में तथा संकेत भाषा में NIOS वेबसाइट/यूट्यूब पर दिव्यान्गों के लिए अध्ययन सामग्री.

2. देश के सभी पाठशाला जाने वाले बच्चों और उनके अभिवावकों-शिक्षकों के साथ-साथ विद्यालयी शिक्षा के हितधारकों के लाभ के लिए मनोदार्पण (Manodarpan initiative) नामक योजना वेबसाइट, टोल फ्री हेल्पलाइन, राष्ट्रीय मन्त्रणादाता निर्देशिका, चैट मंच आदि के माध्यम से चलायी जायेगी.

3. खुली, दूरस्त एवं ऑनलाइन शिक्षा से सम्बंधित नियमों को उदार बनाकर उच्चतर शिक्षा में ई-ज्ञानार्जन को विस्तार दिया जाएगा. देश के शीर्षस्थ 100 विश्वविद्यालय ऑनलाइन पाठ्यक्रम चालू करेंगे. साथ ही पारम्परिक विश्वविद्यालयों और ODL कार्यक्रमों के ऑनलाइन अंग को वर्तमान के 20% से बढ़ाकर 40% कर दिया जाएगा जिससे कि विभिन्न महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के लगभग सात करोड़ छात्रों को पढ़ाई करने का अवसर मिल जाएगा.

4. विद्यालयी शिक्षा, शिक्षकों के लिए शिक्षा के लिए एक नया राष्ट्रीय पाठ्यक्रम और बाल शिक्षा से सम्बंधित व्यवस्था का निर्माण होगा जिससे कि देश के छात्र और शिक्षक वैश्विक मानदंडों को पूरा कर सकें.

5. 2025 तक कक्षा 3 के बच्चों को अक्षर और अंक का आधारभूत आवश्यक ज्ञान हो जाए इसके लिए एक राष्ट्रीय आधारभूत साक्षरता एवं अंकज्ञान मिशन चलाएगा.

Tags : Initiatives to boost Education Sector latest schemes 2020.

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.