[Sansar Surgery Part 24, 2018] Left Topics of Sansar DCA

Sansar LochanSansar Surgery1 Comment

Print Friendly, PDF & Email

कई बार ऐसा होता है कि हमारी लाख मेहनत के बावजूद करंट अफेयर्स का कोई न कोई परीक्षा छूट ही जाता है. यह सिर्फ हमारे साथ ही नहीं, बड़ी-बड़ी कोचिंग संस्थाओं के साथ भी होता है. हम तो खैर छोटे लोग हैं और वैसे भी मानव की प्रकृति है कि कुछ भी परफेक्ट नहीं हो सकता. खैर, जब हमने फिर से The Hindu और अन्य अखबारों पर अपनी पैनी नज़र दौड़ाई तो देखा कि कुछ important current affairs को हमने Sansar DCA में cover नहीं किया है या कभी-कभी हम उन परीक्षा को इसमें उठाते हैं जो Revision के लिए उपयुक्त हैं.

फिर हमने सोचा जो लोग UPSC Prelims 2019 को टारगेट कर रहे हैं और संसार लोचन टीम पर आँख मूँद कर भरोसा कर रहे हैं, हमारी यह भूल उनके लिए नाइंसाफी होगी. इसलिए हमने Sansar DCA से हटकर “Sansar Surgery Series” शुरू की है जिसमें वर्ष 2018 और आगामी वर्ष 2019 के वही परीक्षा शामिल होंगे जो हमारे द्वारा भूल से Sansar DCA में कवर नहीं किये गए हों. यह Sansar Surgery Series का पार्ट 24 है.

Sansar Surgery Part 24, 2018

गेब्स की खाड़ी

गेब्स की खाड़ी उत्तरी अफ्रीका से भूमध्य सागर में ट्यूनीशिया के पूर्वी तट पर स्थित है. गेब्स की पूरी खाड़ी अफ्रीकी प्लेट पर है और कहीं भी इसकी गहराई 200 मीटर से अधिक नहीं है, अर्थात यह सतही महाद्वीपीय शेल्फ है.

शेल कंपनियाँ 

शेल कंपनियाँ आमतौर पर कॉर्पोरेट संस्थाएं होती हैं जिनके पास कोई सक्रिय व्यावसायिक संचालन या महत्त्वपूर्ण संपत्ति नहीं होती है. कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 455 के तहत, ऐसी कंपनी जिनकी कोई महत्त्वपूर्ण वित्तीय गतिविधि नहीं है या निष्क्रिय है, उसपर RoC (रजिस्ट्रार ऑफ़ कंपनी) लागू हो सकता है और उसे एक निष्क्रिय कंपनी का दर्जा मिल सकता है, अन्यथा, अगर कोई कंपनी 2 साल तक अपनी वित्तीय वापसी दर्ज नहीं करती है, तो उसे “निष्क्रिय कंपनी” कहा जाता है. “निष्क्रिय कंपनी” और “शेल कंपनी” के बीच मुख्य अंतर उनकी स्थापना का उद्देश्य है. शेल कंपनी की स्थापना कर चोरी, मनी लॉंडरिंग और अन्य अवैध गतिविधियों के लिए होता है, लेकिन निष्क्रिय कंपनी का उद्देश्य ऐसा नहीं होता है.

बकरवाल

बकरवाल दक्षिण एशिया के पीर पंजाल और हिमालयी पहाड़ों में रहने वाले सुन्नी मुस्लिमों की खानाबदोश जनजाति हैं. ये परंपरागत रूप से और अभी भी मुख्य रूप से, बकरों को पालने वाले चरवाहे हैं. ये भारत और पाकिस्तान के बीच स्थित पूरे कश्मीर क्षेत्र और अफगानिस्तान के नूरिस्तान प्रांत में रहते हैं. ये ट्रांसहुमांस जनजाति है क्योंकि, ये अपने पशुओं को गर्मियों में अच्छे चारागाहों के लिए पहाड़ी इलाकों में और सर्दियों में निचले इलाकों में ले जाते हैं.

“कोप इंडिया” और “युद्ध अभ्यास” का सैन्य अभ्यास

युद्ध अभ्यास भारतीय और अमेरिकी सेनाओं के बीच का एक सैन्य-अभ्यास है. “कोप इंडिया” भारतीय वायु सेना और अमेरिकी वायु सेना के बीच का सैन्य अभ्यास है.

ज़िका वायरस

जीका वायरस एक ऐसा वायरस है जो डेंगी ज्वर के वायरस, येलो ज्वर के वायरस और वेस्ट नाइल वायरस के समान होता है. इस रोग के वाहक मच्छर का नाम Aedes aegypti है. जब यह मच्छर किसी को काटता है तो उसे यह रोग हो जाता है परन्तु गर्भाशय संक्रमण से भी यह किसी को हो सकता है.

  • इस वायरस का नामा जीका इसलिए पड़ा क्योंकि इसकी पहचान सबसे पहले 1947 में यूगांडा के जीका जंगल में हुई थी.
  • यदि कोई संक्रमित मच्छर किसी औरत को काट लेता तो जीका वायरस धीरे-धीरे यह गर्भनाल तक पहुँच जाता है और भ्रूण पर असर करता है.
  • ऐसा देखा गया है कि इस वायरस से सबसे बड़ी हानि गर्भवती स्त्री को होती है क्योंकि तब भ्रूण के सिर के छोटा होने तथा अन्य स्नावयिक असमान्यताओं के होने का सबसे अधिक खतरा होता है.
  • जीका वायरस के मुख्य लक्षण हैं – ज्वर, सिर दर्द, लाल आँखें, त्वचा पर फफोले, थकान, माँसपेशियों में पीड़ा इत्यादि.

“हैप्पी सीडर” और “सुपर एसएमएस

हैप्पी सीडर अद्वितीय तकनीकों में से एक है जिसका उपयोग चावल के अवशेष को जलाए बिना गेहूं बोने के लिए किया जाता है. यह तकनीक इको-फ्रेंडली, मिट्टी के स्वास्थ्य के लिए अच्छा और पानी की भी बचत करता है. सुपर-एसएमएस (सुपर स्ट्रॉ मैनेजमेंट सिस्टम) फसल काटने की मशीन के साथ संयोजन में इस्तेमाल किया जाने वाला एक कृषि उपकरण है ताकि किसानों को कृषि अवशेषों को जलाने की आवश्यकता न हो.

“चंद्रमा” का अपना उपग्रह

हाल ही में, एक शोध पत्र में यह पाया गया है कि यदि ऐसी कोई स्थिति हो सकती है, जिससे चंद्रमा का अपना उपग्रह(जिसे हम मूनमून/ सबमून कह सकते हैं) हो सकता है, तो इसके लिए शर्त होंगी-

• मूनमून की तुलना में चंद्रमा का द्रव्यमान अधिक होगा, जिससे चंद्रमा अपने गुरुत्वाकर्षण से मूनमून को पकड़ सके.

• दोनों को ग्रह प्रणाली से बहुत दूर होना होगा ताकि उनपर ग्रहों के गुरुत्वाकर्षण का प्रभाव न पड़े.

• मूनमून इतनी दूरी पर होना चाहिए जो कि न ही बहुत दूर और न ही बहुत करीब (क्योंकि ज्वारीय बल प्रभावी हो जाएगा और इसे अलग कर देगा).

ट्विन डेफिसिट

हाल ही में हुए कच्चे तेल की कीमत में वृद्धि के कारण, ऐसा कहा जाता है कि इससे “ट्विन डेफिसिट” होगा. भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोग करने वाला देश है और यह अन्य देशों से 85% “कच्चे तेल” का आयात करता है. इस परिस्थिति में भारत कच्चे तेल को दिन-प्रतिदिन के तर्ज पर खरीदने की ज़रूरत होती है, इसलिए यह स्पष्ट है कि यह “चालू खाता” व्यय के अंतर्गत आएगा. लेकिन, कच्चे तेल की कीमत में वृद्धि से कैसे राजकोषीय घाटा पर असर पड़ेगा? यदि कच्चे तेल की कीमत बढ़ती है, तो कच्चे तेल पर निर्भर उत्पाद या सेवाएं भी बढ़ेगी. इसलिए, उस मुद्रास्फीति से निपटने के लिए, सरकार को अपने कर को कम करना होगा या सब्सिडी प्रदान करनी होगी और दोनों मामलों में, इससे राजकोषीय घाटे पर असर पड़ेगा.

हिरपोरा वन्यजीव अभयारण्य

हिरपोरा वन्यजीव अभयारण्य कश्मीर के शोपियां जिले में स्थित है, जो श्रीनगर से 70 किलोमीटर दक्षिण में है. इसका क्षेत्रफल 341 वर्ग किमी है. हिरपोरा वन्यजीव अभयारण्य झेलम की सहायक नदियों रंबियारा और अहराबाल के लिए जलग्रह का कार्य करता है. यह समाचार में है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने इस अभयारण्य में सड़क के निर्माण की अनुमति दी है जिसके लिए लोगों ने विरोध किया था.

याप द्वीप

“याप द्वीप” परंपरागत रूप से पश्चिमी प्रशांत महासागर के कैरोलीन द्वीपों में स्थित एक द्वीप है. इसकी अर्थव्यवस्था पर्यटन उद्योग पर निर्भर है.ज़िका वायरस बीमारी का पहला प्रकोप 2007 में “याप द्वीप” में हुआ था, इसलिए हमने सोचा कि हमारे छात्रों को इस द्वीप के स्थान से अवगत होना चाहिए.

 हैंड-इन-हैंड

भारत और चीन की सेना दिसंबर में अपने वार्षिक द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास ‘हैंड-इन-हैंड’ फिर से शुरू करेगी. यह चीन में आयोजित किया जाएगा. अंतिम अभ्यास वर्ष 2016 में आयोजित किया गया था और उसके बाद डोक्कलम विवाद के कारण इस अभ्यास को रद्द कर दिया गया था.

भारत की भौगोलिक स्थिति

• भारत का विस्तार 68.7 डिग्री पूर्व से 97.25 डिग्री पूर्व तक है.

• वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद- राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला (सीएसआईआर-एनपीएल) भारत का राष्ट्रीय समय मापिकी है.

• भारत का मानक मेरिडियन 82.5 डिग्री पूर्व है जो मिर्जापुर से गुजरता है.

• पृथ्वी 24 घंटे में 360 डिग्री घूमती है, इसलिए 1 घंटे में यह 360/24 = 15 डिग्री घूमती है. तथा, 1 घंटा= 60 मिनट, अर्थात, 60/15 = 4 मिनट. 1 डिग्री देशांतर = 4 मिनट.

सीएसआईआर-एनपीएल ने सरकार को दो समय-क्षेत्र रखने का प्रस्ताव दिया है.

रिजर्व ट्रेंच

रिजर्व ट्रेंच IMF के साथ किसी सदस्य देश के कोटे का एक घटक है जो सोना या विदेशी मुद्रा के रूप में होता है. किसी भी सदस्य देश के लिए, कुल कोटा में से 25% विदेशी मुद्रा या सोने के रूप में भुगतान किया जाना चाहिए. इसलिए, इसे ‘रिजर्व ट्रेंच’ या ‘गोल्ड ट्रेंच’ भी कहा जाता है. और शेष 75% घरेलू मुद्राओं के रूप में हो सकते हैं जिसे ‘क्रेडिट ट्रेंच’ कहा जाता है.

संशोधित प्रौद्योगिकी उन्नयन निधि योजना (Amended Technology Upgradation Fund Scheme – ATUFS)

TUFS (प्रौद्योगिकी उन्नयन निधि योजना) और ATUFS (संशोधित प्रौद्योगिकी उन्नयन निधि योजना) के बीच मुख्य अंतर यह है कि ATUFS केवल पूंजी सब्सिडी प्रदान करेगा लेकिन TUFS पूंजी और ब्याज सब्सिडी दोनों के लिए था.

ATUFS की मुख्य विशेषताएं

• यह परिधान और तकनीकी कपड़ा (अधिकतम 30 करोड़ रुपये) के लिए 15% पूंजी सब्सिडी प्रदान करेगा.

• यह प्रसंस्करण, बुनाई, जूट, रेशम और हैंडलूम (अधिकतम 20 करोड़ रुपये) के लिए 10% पूंजी सब्सिडी प्रदान करेगा.

गर्जन पहाड़ वन रिजर्व

यह वन रिजर्व ओडिशा में मौजूद है. गर्जन पहाड़ वन रिजर्व वर्तमान में खबरों में रहा है क्योंकि लगभग दो दशकों के बाद, इस वर्ष की शुरुआत में प्रकृतिविदों ने ब्लैक पैंथर को देखा जिसने सबको चौंका दिया गया था.

क्लिक हियर तो विजिट >> Sansar Surgery

Books to buy

One Comment on “[Sansar Surgery Part 24, 2018] Left Topics of Sansar DCA”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.