Sansar डेली करंट अफेयर्स, 26 February 2021

Sansar LochanSansar DCALeave a Comment

Sansar Daily Current Affairs, 26 February 2021


GS Paper 2 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Indian culture will cover the salient aspects of Art Forms, Literature and Architecture from ancient to modern times.

Topic : Krishnadevaraya

संदर्भ

हाल ही में, विजयनगर के राजा कृष्णदेवराय की मृत्यु की तारीख के संदर्भ में जानकारी देने वाले प्रथम शिलालेख, कर्नाटक राज्य में तुमकुरु जिले के होन्नानेहल्ली में खोजा गया है. यह शिलालेख कन्नड़ भाषा का प्रयोग हुआ है.

शिलालेख के अनुसार

  1. दक्षिण से शासन करने वाले भारत के सबसे महान् सम्राटों में से एक, कृष्णदेवराय की 17 अक्टूबर, 1529, रविवार को मृत्यु हो गई और संयोग से इस दिन चंद्र ग्रहण हुआ था.
  2. तुमकुरु के देवता वीरप्रसन्ना हनुमंथा की पूजा करने के लिए, तुमकुरु के होन्नानहल्ली नामक गाँव को उपहारस्वरूप दिया गया था.

कृष्णदेवराय

  • कृष्णदेवराय (1509-1529 ई. ; राज्यकाल 1509-1529 ई) विजयनगर के सर्वाधिक कीर्तिवान राजा थे.
  • वे स्वयं कवि और कवियों के संरक्षक थे.
  • तेलुगु भाषा में उनका काव्य अमुक्तमाल्यद साहित्य का एक रत्न है.
  • इनकी भारत के प्राचीन इतिहास पर आधारित पुस्तक वंशचरितावली तेलुगू के साथ—साथ संस्कृत में भी मिलती है. संभवत तेलुगू का अनुवाद ही संस्कृत में हुआ है.
  • प्रख्यात इतिहासकार तेजपाल सिंह धामा ने हिन्दी में इनके जीवन पर प्रामाणिक उपन्यास आंध्रभोज लिखा है.
  • तेलुगु भाषा के आठ प्रसिद्ध कवि इनके दरबार में थे जो अष्टदिग्गज के नाम से प्रसिद्ध थे. स्वयं कृष्णदेवराय भी आंध्रभोज के नाम से विख्यात थे.
  • उनके शासन काल में विजयनगर एश्वर्य एवं शक्ति के दृष्टिकोण से अपने चरमोत्कर्ष पर था.
  • कृष्णदेव राय ने अपने सफल सैनिक अभियानों के अन्तर्गत 1509-1510 ई. में बीदर के सुल्तान महमूद शाह को ‘अदोनी’ के समीप हराया.
  • 1510 ई. में उसने उम्मूतूर के विद्रोही सामन्त को पराजित किया.
  • 1512 ई. में कृष्णदेव राय ने बीजापुर के शासक यूसुफ़ आदिल ख़ाँ को परास्त कर रायचूर पर अधिकार किया. तत्पश्चात् गुलबर्गा के क़िले पर अधिकार कर लिया.
  • उन्होंने बीदर पर पुनः आक्रमण कर वहाँ के बहमनी सुल्तान महमूद शाह को बरीद के क़ब्ज़े से छुड़ाकर पुनः सिंहासन पर बैठाया और साथ ही यवन राज स्थापनाचार्य’ की उपाधि धारण की.

GS Paper 2 Source : Indian Express

indian_express

UPSC Syllabus : Important International institutions, agencies and fora, their structure, mandate.

Topic : UNITED NATIONS SECURITY COUNCIL (UNSC)

संदर्भ

26 फ़रवरी, 2021 को भारत और आयरलैंड ने वर्चुअल मोड में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (UNSC) के मुद्दों पर विचार-विमर्श किया. ज्ञातव्य है कि हाल ही में दोनों देश  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के अस्थाई सदस्यों के तौर पर चुने गये हैं.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् क्या है?

  • संयुक्त राष्ट्र घोषणा पत्र के अनुसार शांति एवं सुरक्षा बहाल करने की प्राथमिक जिम्मेदारी सुरक्षा परिषद् की होती है. इसकी बैठक कभी भी बुलाई जा सकती है.इसके फैसले का अनुपालन करना सभी राज्यों के लिए अनिवार्य है. इसमें 15 सदस्य देश शामिल होते हैं जिनमें से पाँच सदस्य देश – चीन, फ्रांस, सोवियत संघ, ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका – स्थायी सदस्य हैं. शेष दस सदस्य देशों का चुनाव महासभा में स्थायी सदस्यों द्वारा किया जाता है. चयनित सदस्य देशों का कार्यकाल वर्षों का होता है.
  • ज्ञातव्य है कि कार्यप्रणाली से सम्बंधित प्रश्नों को छोड़कर प्रत्येक फैसले के लिए मतदान की आवश्यकता पड़ती है. अगर कोई भी स्थायी सदस्य अपना वोट देने से मना कर देता है तब इसे “वीटो” के नाम से जाना जाता है. परिषद् (Security Council) के समक्ष जब कभी किसी देश के अशांति और खतरे के मामले लाये जाते हैं तो अक्सर वह उस देश को पहले विविध पक्षों से शांतिपूर्ण हल ढूँढने हेतु प्रयास करने के लिए कहती है.

परिषद् मध्यस्थता का मार्ग भी चुनती है. वह स्थिति की छानबीन कर उस पर रपट भेजने के लिए महासचिव से आग्रह भी कर सकती है. लड़ाई छिड़ जाने पर परिषद् युद्ध विराम की कोशिश करती है.

वह अशांत क्षेत्र में तनाव कम करने एवं विरोधी सैनिक बलों को दूर रखने के लिए शांति सैनिकों की टुकड़ियाँ भी भेज सकती है. महासभा के विपरीत इसके फैसले बाध्यकारी होते हैं. आर्थिक प्रतिबंध लगाकर अथवा सामूहिक सैन्य कार्यवाही का आदेश देकर अपने फैसले को लागू करवाने का अधिकार भी इसे प्राप्त है. उदाहरणस्वरूप इसने ऐसा कोरियाई संकट (1950) तथा ईराक कुवैत संकट (1950-51) के दौरान किया था.

कार्य

  • विश्व में शांति एवं सुरक्षा बनाए रखना.
  • हथियारों की तस्करी को रोकना.
  • आक्रमणकर्ता राज्य के विरुद्ध सैन्य कार्यवाही करना.
  • आक्रमण को रोकने या बंद करने के लिए राज्यों पर आर्थिक प्रतिबंध लगाना.

संरचना

सुरक्षा परिषद् (Security Council) के वर्तमान समय में 15 सदस्य देश हैं जिसमें 5 स्थायी और 10 अस्थायी हैं. वर्ष 1963 में चार्टर संशोधन किया गया और अस्थायी सदस्यों की संख्या 6 से बढ़ाकर 10 कर दी गई. अस्थायी सदस्य विश्व के विभिन्न भागों से लिए जाते हैं जिसके अनुपात निम्नलिखित हैं –

  • 5 सदस्य अफ्रीका, एशिया से
  • 2 सदस्य लैटिन अमेरिका से
  • 2 सदस्य पश्चिमी देशों से
  • 1 सदस्य पूर्वी यूरोप से

चार्टर के अनुच्छेद 27 में मतदान का प्रावधान दिया गया है. सुरक्षा परिषद् में “दोहरे वीटो का प्रावधान” है. पहले वीटो का प्रयोग सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्य किसी मुद्दे को साधारण मामलों से अलग करने के लिए करते हैं. दूसरी बार वीटो का प्रयोग उस मुद्दे को रोकने के लिए किया जाता है.

परिषद् के अस्थायी सदस्य का निर्वाचन महासभा में उपस्थित और मतदान करने वाले दो-तिहाई सदस्यों द्वारा किया जाता है. विदित हो कि 1971 में राष्ट्रवादी चीन (ताईवान) को स्थायी सदस्यता से निकालकर जनवादी चीन को स्थायी सदस्य बना दिया गया था.

इसकी बैठक वर्ष-भर चलती रहती है. सुरक्षा परिषद् में किसी भी कार्यवाही के लिए 9 सदस्यों की आवश्यकता होती है. किसी भी एक सदस्य की अनुपस्थिति में वीटो अधिकार का प्रयोग स्थायी सदस्यों द्वारा नहीं किया जा सकता.

भारत-आयरलैंड सम्बन्ध

  • दोनों देशों ने लगभग एक ही समय पर ब्रिटिश शासन से आजादी हासिल करने के लिए संघर्ष किया.
  • जवाहरलाल नेहरु, सुभाष चंद्र बोस और अन्य आयरिश राष्ट्रवादी नेता एक-दूसरे के संपर्क में थे.
  • आयरिश मूल की एनी बेसेंट ने भारत में होमरूल लीग की स्थापना कर, स्वशासन की मांग पुरज़ोर तरीके से उठाई.
  • भारतीय संविधान निर्माताओं ने राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत, राष्ट्रपति की निर्वाचन पद्धति और राज्यसभा सदस्यों के मनोनयन की पद्धति आयरलैंड के संविधान से ही ली थी.

इस टॉपिक से UPSC में बिना सिर-पैर के टॉपिक क्या निकल सकते हैं?

UNSC 1267 समिति क्या है?

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की ‘समिति 1267’ को वर्ष 1999 में गठित किया गया था तथा 11 सितंबर 2001 के हमलों के पश्चात् इसे अधिक शक्तिशाली बनाया गया.

  1. इस समिति को दाएश’ (Da’esh) तथा ‘अल कायदा प्रतिबंध समिति’ (Al Qaida Sanctions Committee) के नाम से भी जाना जाता है.
  2. इसमें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सभी स्थायी और गैर-स्थायी सदस्य सम्मिलित होते हैं.
  3. 1267 आतंकवादियों की सूची, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से स्वीकृत एक वैश्विक सूची है. इसमें पाकिस्तानी नागरिक और इसके निवासी बड़ी संख्या में सूचीबद्ध है.

GS Paper 2 Source : Indian Express

indian_express

UPSC Syllabus : Government policies and interventions for development in various sectors and issues arising out of their design and implementation / Effects of liberalization on the economy, changes in industrial policy and their effects on industrial growth.

Topic : Fugitive Economic Offender

संदर्भ

14 हजार करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपित नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का मार्ग साफ हो गया है. लंदन की स्थानीय अदालत ने कोरोना संक्रमण, खराब स्वास्थ्य, कमजोर साक्ष्य, न्याय नहीं मिलने की आशंका और भारतीय जेलों में खराब स्थिति जैसे नीरव मोदी के तर्कों को निरस्त कर उसके प्रत्यर्पण की अनुमति दे दी है.

आगे की कार्रवाई

न्यायालय के इस आदेश को, आगे की कार्रवाई के लिए यूनाइटेड किंगडम के ‘सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट’ के समक्ष भेजा जाएगा. ‘सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट’ द्वारा इस मामले पर दो महीने के अंदर निर्णय लिया जाएगा अथवा उच्च न्यायालय से इस अवधि में विस्तार के लिए स्वीकृति लेनी होगी.

  1. यदि कोई अपील नहीं की जाती है, तो ‘सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट’ द्वारा प्रत्यर्पण के आदेश दिए जाने के 28 दिनों के भीतर अनुरोध किये जाने वाले व्यक्ति को प्रत्यर्पित कर दिया जाता है.
  2. ‘सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट’ के निर्णय के विरुद्ध उच्च न्यायालय में अपील मात्र अदालत की अनुमति से ही संभव होती है.

भगोड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम (FEO) की मुख्य विशेषताएँ

यह अधिनियम किसी व्यक्ति को एक भगोड़ा आर्थिक अपराधी (FEO) के रूप में घोषित करने की अनुमति देता है, यदि –

  • किसी भी निर्दिष्ट अपराध के लिए उसके विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया हो जहाँ मामला 100 करोड़ रु. से अधिक का हो, और
  • उसने देश छोड़ दिया हो और अभियोजन का सामना करने के लिए वापस लौटने से इन्कार कर दिया हो.
  • यह न केवल लोन डिफ़ॉल्टर और फ्रॉडस्टर को शामिल करता है, बल्कि उन व्यक्तियों पर भी लागू होता है जो कर, काले धन, बेनामी सम्पत्तियों और वित्तीय भ्रष्टाचार से सम्बंधित कानूनों का उल्लंघन करते हैं.
  • प्रवर्तन निदेशालय (ED) विधि प्रवर्तन के लिए सर्वोच्च एजेंसी होगी.
  • किसी व्यक्ति को FEO घोषित करने के लिए एक विशेष अदालत में एक आवेदन दायर किया जायेगा जिसमें जब्त की जाने वाली सम्पत्ति का वितरण, और व्यक्ति के अता-पता से सम्बंधित जानकारी शामिल होगी.
  • विशेष अदालत को व्यक्ति को किसी निर्दिष्ट स्थान पर उपस्थित होने के लिए नोटिस जारी करने से कम से कम छह सप्ताहका समय दिया जाएगा. यदि वह उपस्थित हो जाता है तो कार्यवाही समाप्त कर दी जायेगी.
  • यह अधिनियम विशेष अदालत के समक्ष आवेदन लंबित होने की स्थिति में अधिकारियों को अस्थायी रूप से आरोपी की सम्पत्ति को कुर्क करने की अनुमति प्रदान करता है.
  • FEO के रूप में घोषित हो जाने पर, किसी व्यक्ति की सम्पत्ति को जब्त किया जा सकता है.
  • भगोड़े के रूप में वर्गीकृत व्यक्ति, जबतक भारत वापस नहीं आते हैं और अभियोजन का सामना नहीं करते हैं, वे भारत में कोई भी सिविल केस दायर करने में सक्षम नहीं होंगे.

GS Paper 2 Source : Indian Express

indian_express

UPSC Syllabus : Issues related to Health.

Topic : TUBERCULOSIS

संदर्भ

हाल ही में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने तपेदिक (tuberculosis) के विरुद्ध समर्थन, संचार और सामाजिक एकजुटता (ACSM) से संबंधित एक जन–आंदोलन आरंभ किया.

अन्य प्रस्तावों में शामिल हैं:

  • नेशनल टेक्निकल सपोर्ट यूनिट, टीबी कार्यक्रम के अंतर्गत उपलब्ध सेवाओं पर जागरूकता प्रसारित करने और मांग उत्पन्न करने के लिए जमीनी स्तर पर कार्यक्रम के लाभों का वितरण सुदृढ़ करने में सहायता करेगी.
  • वर्ष 2021 को तपेदिक (tuberculosis) वर्ष के रूप में मनाने की योजना है.
  • भारत का लक्ष्य वर्ष 2025 तक देश में तपेदिक का उन्मूलन करना है.
  • यह लक्ष्य सतत विकास लक्ष्य क्रमांक-3 (SDG-3) (बेहतर स्वास्थ्य और कल्याण) की प्राप्ति हेतु पूर्व में निर्धारित अवधि से 5 वर्ष पहले के लिए निश्चित किया गया है.
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्गत वर्ष 2019 की ग्लोबल टीबी रिपोर्ट के अनुसार, विश्व में तपेदिक के कुल मामलों में 27% के साथ भारत में विश्व के सर्वाधिक टीबी रोगी हैं.

तपेदिक क्या है?

  • यक्ष्मा, तपेदिक, क्षयरोग, एमटीबी या टीबी (tubercle bacillus का लघु रूप) एक आम और कई मामलों में घातक संक्रामक बीमारी है जो माइक्रोबैक्टीरिया, साधारणतः माइकोबैक्टीरियम तपेदिक के विभिन्न प्रकारों के कारणों से होती है.
  • क्षय रोग आम तौर पर फेफड़ों पर हमला करता है, लेकिन यह शरीर के अन्य भागों को भी प्रभावित कर सकता हैं.
  • यह हवा के माध्यम से तब फैलता है, जब वे लोग जो सक्रिय टीबी संक्रमण से ग्रसित हैं, खांसी, छींक, या किसी अन्य प्रकार से हवा के माध्यम से अपना लार संचारित कर देते हैं.

चिंता का विषय

  • पिछले दशकों में महत्वपूर्ण प्रगति के बावजूद टीबी विश्वभर में मृत्यु के शीर्ष दस कारणों में से एक है. वैश्विक स्तर पर टीबी के कारण अनुमानित 3 मिलियन लोगों की मृत्यु हुई तथा वर्ष 2017 में 9.0–11.1 मिलियन मिलियन लोगों में टीबी रोग विकसित हुआ. वैश्विक तपेदिक रिपोर्ट, वर्ष 2018 के अनुसार भारत में वर्ष 2017 के दौरान विश्व टीबी के मामलों की भागीदारी 27% है.
  • तपेदिक (टीबी) बैक्टीरिया (मायकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस) के कारण होने वाला एक संचारी (संक्रामक) रोग है, जो कि फेफड़ो को प्रभावित करता है, लेकिन यह अन्य हिस्सों (एक्सट्रा पल्मोमनरी टीबी/इतर फुफ्फुसीय तपेदिक) को भी प्रभावित करता है. तपेदिक उपचार और निवारण योग्य है.

संशोधित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम (REVISED NATIONAL TUBERCULOSIS CONTROL PROGRAMME – RNTCP)

  • RNTCP देश में टीबी की रोकथाम और नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार का एक कार्यक्रम है. इसमें वर्ष 2025 तक टीबी उन्मूलन की ओर बढ़ने के लिए राष्ट्रीय रणनीतिक योजना वर्ष 2017-2025 (नेशनल स्ट्रेटेजिक प्लान 2017-2025) के अंतर्गतपता लगाना (डिटेक्ट)- उपचार (ट्रीट)- रोकथाम (प्रिवेंट)– निर्माण (बिल्ड)” (डीटीपीबी)के चार रणनीतिक स्तंभों का एकीकरण किया गया है.
  • वर्ष 2025 तक टीबी उन्मूलन के लिए आह्वान किया गया है, जिसे संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास लक्ष्य (SDG) से पांच वर्ष पहले प्राप्त करने का लक्ष्य रखा गया है.

RNTCP के पहल

  • निजी क्षेत्रों की भागीदारी –निजी स्वास्थ्य प्रदाता (प्राइवेट हेल्थ प्रोवाइडर इंगेजमेंट) को रोग का पता लगाने एवं टीबी के रोगियों का उपचार करने में शामिल किया गया है.
  • सक्रिय टीबी के मामलों की खोज (एसीएफ) –वर्ष 2017 में उच्च जोखिम वाली जनसंख्या में एसीएफ के तीन चरणों के माध्यम से टीबी रोगियों का पता लगाया गया था.
  • दैनिक उपचार पद्यति –दवा के बोझ को कम करने के लिए निश्चित दवा संयोजक की शुरुआत की गयी.
  • सार्वभौमिक दवा संवेदनशीलता परीक्षण –पर्याप्त उपचार के लिए सभी टीबी रोगियों में दवा प्रतिरोधिकता की जांच.
  • नयी दवा की शुरूआत –बेडाकूलाइन एवं डेलामिनिड जैसी नई विकसित दवाओं की शुरुआत को सात राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में की गयी.
  • पोषण सहयोग –सभी टीबी रोगियों को टीबी उपचार की अवधि के दौरान पोषण संबंधी सहायता के लिए प्रति माह 500 रुपये प्रदान किए जाते है.
  • डिज़िटल पहल –निक्षय, 99 डॉट्स, निक्षय औषधि.

इस टॉपिक से UPSC में बिना सिर-पैर के टॉपिक क्या निकल सकते हैं?

विश्व टीबी दिवस :-

विश्व टीबी दिवस या विश्व तपेदिक दिवस या विश्व क्षयरोग दिवस या विश्व यक्ष्मा दिवस’ वैश्विक तपेदिक महामारी समाप्त करने तथा तपेदिक (टीबी) के स्वास्थ्य, सामाजिक और आर्थिक परिणामों के बारे में सार्वजनिक जागरूकता प्रसारित करने के प्रयासों को बढ़ाने के लिए प्रतिवर्ष 24 मार्च को मनाया जाता है. डॉ॰ रॉबर्ट कॉख ने इस दिन वर्ष 1882 में टीबी के जीवाणु की खोज की थी, जिसके कारण टीबी होता है.

Molecular mechanism behind latent TB :–

  • कलकत्ता के वैज्ञानिकों ने उस आणविक तन्त्र का पता लगाया है जिसके कारण गुप्त तपेदिक होती है.
  • उन्होंने बताया है कि मानव शरीर के भीतर तपेदिक बैक्टीरिया का एक भंडार होता है जहाँ से उनका स्राव होता है.
  • खोज में पता चला है कि जो मैक्रोफेज नामक सूक्ष्म जीवाणु बैक्टीरिया, वायरस, फंफूद, परजीवियों आदि से शरीर की रक्षा करते हैं, वही तपेदिक की बैक्टीरिया को मारने के बजाय उनके चारों ओर एक थैली बना देते हैं जिसको ग्रेन्यूलोमा कहते हैं.
  • इस प्रकार तपेदिक का बैक्टीरिया एक जगह बंध जाता है और कुछ नहीं कर पाता है. परन्तु कई दशकों के बाद ऐसा हो सकता है कि यह थैली टूट जाए और तपेदिक के बैक्टीरिया बाहर आकर शरीर को बीमार कर दे.

Prelims Vishesh

Khelo India Winter Games :-

  • हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से दूसरे खेलो इंडिया राष्‍ट्रीय शीतकालीन खेलों (2nd Khelo India National Winter Games) का गुलमर्ग (जम्मू-कश्मीर) में उद्घाटन किया.
  • खेलो इंडिया राष्‍ट्रीय शीतकालीन खेलों (2nd Khelo India National Winter Games) के अनुभव से खिलाड़ियों को शीतकालीन ओलंपिक में भाग लेने में सहायता मिलेगी.

Click here to read Sansar Daily Current Affairs – Sansar DCA

January, 2020 Sansar DCA is available Now, Click to Download

Leave a Reply

Your email address will not be published.