Sansar डेली करंट अफेयर्स, 24 August 2018

Sansar LochanSansar DCALeave a Comment

Print Friendly, PDF & Email

Sansar Daily Current Affairs, 24 August 2018


GS Paper 2 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Criminalisation of politics

संदर्भ

सर्वोच्च न्यायालय में ऐसी कई याचिकाएँ दायर की गई हैं जिनमें अनुरोध किया गया है कि जघन्य अपराध के दोषी व्यक्तियों को चुनाव में लड़ने से प्रतिबंधित कर दिया जाए. हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने यह प्रस्ताव किया कि क्यों नहीं राजनैतिक दलों को राजनीति के अपराधीकरण का दोषी माना जाए ऐसे लोगों को टिकट करने का काम वे ही किया करते हैं.

सर्वोच्च न्यायालय ने इस प्रसंग में कई सुझाव दिए हैं जो निम्नलिखित हैं –

  • चुनाव आयोग इस बात पर बल दे कि सभी दल नए सदस्यों को शपथपत्र देकर घोषित करने कहें कि उनका अपराधिक रिकॉर्ड क्या है जिससे पूरे देश को पता चल सके कि किस दल में कितने अपराधी हैं.
  • चुनाव आयोग को चाहिए कि यदि कोई दल इस आशय का शपथपत्र न जमा करे तो उसको अपंजीकृत कर दे अथवा उसका चुनाव चिन्ह वापस ले ले.

सरकार का पक्ष

भारत सरकार का कहना है कि उम्मीदवार चुनना किसी राजनैतिक दल का अपना अधिकार होता है. मात्र आरोप के आधार पर किसी को चुनाव लड़ने से रोका नहीं जा सकता. इसके अतिरिक्त न्यायालय अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जा कर विधायिका के अधिकार क्षेत्र का अतिक्रमण कर रहा है.

राजनीति के अपराधीकरण के संदर्भ में वर्तमान प्रावधान

अनुच्छेद 324 और जनप्रतिनिधित्व अधिनियम (RPA) का अनुभाग 29A : संविधान का अनुच्छेद 324 चुनाव आयोग को चुनाव कराने का अधिकार देता है. जनप्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के अनुभाग 29A में चुनाव आयोग को यह अधिकार दिया गया है कि वह किसी भी दल को पंजीकृत/अपंजीकृत करे.

चुनाव चिन्ह (आरक्षण एवं आवंटन) आदेश, 1968 : इसमें यह प्रावधान है कि प्रत्येक दल को समाजवाद, धर्मनिरपेक्षता, प्रजातंत्र, सार्वभौमता, एकता और भारत की अखंडता के सिद्धांतों के पालन का शपथ लेना होगा.

विधायकों के आपराधिक रिकॉर्ड की स्थिति

  • निर्वाचन आयोग के द्वारा संकलित डाटा के अनुसार वर्तमान लोकसभा के 187 सांसदों (34.4%) पर आपराधिक आरोप हैं.
  • इनमें से 113 के विरुद्ध दायर मामले गंभीर प्रकृति के हैं.
  • विदित हो कि 2009 में ऐसे 76 सांसद थे जिनपर गंभीर आरोप थे और 2004 में ऐसे 58 मामले थे.
  • इस प्रकार स्पष्ट है कि गंभीर अपराधों के आरोप सांसदों की संख्या बढ़ती जा रही है.

GS Paper 3 Source: Times of India

toi

Topic : OSIRIS-REx spacecraft

संदर्भ

OSIRIS-REx अन्तरिक्ष यान पृथ्वी के निकटस्थ Bennu नामक उल्कापिंड की ओर अपनी यात्रा के अंतिम चरण में पहुँच चुका है, जहाँ से इसके मिशन का आधिकारिक कार्य आरम्भ हो जायेगा. अभी भी यह अन्तरिक्ष Bennu से 20 लाख किलोमीटर दूर है और 3 दिसम्बर तक यह उसके परिक्रमा पथ पर नहीं पहुँच पायेगा.

ज्ञातव्य है कि Bennu एक अन्तरिक्षीय चट्टान से निर्मित उल्कापिंड है जिसकी चौड़ाई आधा किलोमीटर है.

OSIRIS-REx अभियान क्या है?

  • OSIRIS-REx का full form है – Origins, Spectral Interpretation, Resource Identification, Security-Regolith Explorer.
  • यह NASA के New Frontiers program का तीसरा अभियान है.
  • इसके पहले इस कार्यक्रम के तहत प्लूटो और वृहस्पति की ओर क्रमशः New Horizons और Juno नामक अन्तरिक्षयान छोड़े गये थे.

अभियान के वैज्ञानिक लक्ष्य

  • यह अन्तरिक्ष यान Bennu की कक्षा में तीन वर्ष रहेगा और उस उल्कापिंड की थाह लेने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रयोग करेगा.
  • OSIRIS-REx Bennu उल्कापिंड का नक्शा तैयार करेगा और वह जगह चुनेगा जहाँ से वह नमूने जमा करेगा.
  • यह अन्तरिक्ष यान उस उल्कापिंड की सतह पर फैले regolith नामक मिट्टी जैसे पदार्थ का नमूना लेगा.
  • रेगोलिथ का नमूना लेने के लिए यह अन्तरिक्षयान मात्र 5 सेकंड के लिए उल्कापिंड की सतह पर आएगा और नाइट्रोजन गैस का विस्फोट करके regolith में हलचल पैदा करेगा जिससे कि वह उसको चूसकर अपने अन्दर संगृहीत कर सके.
  • इसके लिए अन्तरिक्षयान में इतना nitrogen जमा कर दिया गया है जिससे तीन बार विस्फोट किया जा सके.
  • NASA को आशा है कि वह 60 से लेकर 2000 ग्राम रेगोलिथ धरती पर ला सकेगा.

GS Paper 3 Source: Indian Express

indian_express

Topic : What is a ‘national disaster’?

संदर्भ

हाल ही में भारत सरकार ने केरल में आई बाढ़ को विकट प्रकृति की आपदा घोषित किया है.

आपदा की परिभाषा क्या है?

आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 (Disaster Management Act, 2005) के अनुसार आपदा वह विभीषिका, दुर्घटना, विपत्ति अथवा दु:खद घटना है जो प्राकृतिक अथवा मनुष्यकृत कारणों से अथवा दुर्योग से अथवा उपेक्षा के कारण किसी भी क्षेत्र में होती है जिसके परिणामस्वरूप जीवन की विशेष हानि होती है अथवा मनुष्य को दुःख झेलना पड़ता है अथवा सम्पत्ति का नाश अथवा हानि होती है और जो इस प्रकृति अथवा प्रमाण में होती है कि प्रभावित क्षेत्र का समुदाय उसको सँभालने में असमर्थ हो जाता है.

प्राकृतिक आपदा के अंतर्गत ये घटनाएँ आती हैं – भूकंप, बाढ़, भूस्खलन, चक्रवात, सुनामी, शहर में बाढ़, लू आदि. दूसरी ओर मनुष्यकृत आपदाएँ आणविक विस्फोट, जैविक हथियारों और रसायनिक हथियारों के कारणों से होती हैं.

राष्ट्रीय आपदा वर्गीकरण

  • प्राकृतिक आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने के लिए कोई प्रशासनिक अथवा वैधानिक प्रावधान नहीं है. 
  • दसवें वित्त आयोग के सामने एक प्रस्ताव आया था कि यदि किसी राज्य की जनसंख्या का 1/3 भाग दुष्प्रभावित होता है तो उस आपदा को विकट कोटि की राष्ट्रीय आपदा घोषित की जाए, पर वित्त आयोग इस पर कोई अंतिम निर्णय नहीं ले सका था.
  • उत्तराखंड में आई अचानक बाढ़ और Hudhud चक्रवात को विकट प्रकृति की आपदा के रूप में वर्गीकृत किया था.
  • यदि किसी राज्य में विकट प्रकृति की आपदा होती है तो केंद्र की ओर से सहायता प्रदान की जाती है. इसके अतिरिक्त एक आपदा राहत कोष (Calamity Relief Fund – CRF) स्थापित किया जाता है जिसमें केंद्र और राज्य का हिस्सा 3:1 का होता है.

GS Paper 3 Source: PIB

pib_logo

 

Topic : NITI Aayog launches 5 Thematic Reports on Sustainable Development in Indian Himalayan Region

संदर्भ

नीति आयोग ने भारतीय हिमालयन क्षेत्र (Indian Himalayan Region) में लगातार विकास पर विषय से संबंधित पाँच रिपोर्ट का प्रारम्भ किया है.

हिमालय की विशिष्टता और विकास की चुनौतियों को संज्ञान में लेते हुए नीति आयोग ने पाँच कार्य दलों का गठन किया जिससे इन क्षेत्रों में कार्य करने के लिए एक रोडमैप बनायाजा सके.

इन विषयों में कौन से क्षेत्र शामिल हैं?

1.  हिमालय में झरनों को पुनः चालू करना

2. भारतीय हिमालय क्षेत्र में पर्यटकों की भीड़ से होने वाली क्षति से बचाव

3. कृषि की ओर बढ़ने के लिए परिवर्तनीय दृष्टिकोण

4. हिमालय में कौशल और उद्यमिता परिदृश्य को दृढ़ बनाना

5.  सुविदित फैसले करने के लिए डेटा/जानकारी

इन क्षेत्रों पर ध्यान देना अब सरकार के लिए अनिवार्य हो गया है क्योंकि इस क्षेत्र में सामाजिक-आर्थिक और पर्यावरण संबंधी समस्याएँ अब चरम सीमा पर हैं.

पाँच क्षेत्रों की चुनौतियाँ

वहाँ के मूल निवासियों की जल सुरक्षा के दृष्टिकोण से आवश्यक लगभग 30 % झरने सूख रहे हैं और 50%  झरनों में बहाव कम हुआ है.

हिमालय क्षेत्र में प्रत्येक वर्ष पर्यटन 6.8% की दर से बढ़ रहा है और जिसके कारण ठोस कचरा, पानी, यातायात आदि से संबंधित समस्याएँ पैदा हो रही हैं.

पर्यटकों की दोगुनी संख्या

ऐसा अनुमान है कि 2025 तक भारत के हिमालयी क्षेत्रीय राज्यों में पर्यटकों की संख्या दोगुनी हो जाएगी. कचरा प्रबंधन और जल संकट जैसे महत्वपूर्ण विषयों के साथ-साथ पर्यावरण और सामाजिक मुद्दों से सम्बद्ध अन्य विषयों के समाधान के लिए जल्द से जल्द कदम उठाने की जरूरत है.

फसल को काटने और जलाने की प्रक्रिया:

पूर्वोत्तर राज्यों में हजारों परिवार फसल को काट देते हैं और फिर जला देते हैं.

पर्वतों में अकुशल कार्य बल भी एक समस्या बनी हुई है. युवा वर्ग भी पलायन कर रहे हैं और दूसरी जगह जा कर काम कर रहे हैं. इस समस्या के निदान के लिए उच्च प्राथमिकता देना आवश्यक हो गया है. साथ ही आँकड़ों की उपलब्धता, आँकड़ों की प्रामाणिकता, प्रासंगिकता, आँकड़ों की गुणवत्ता, वैधता से जुड़ी चुनौतियों से भी निपटना जरूरी है जिससे शासन के विभिन्न स्तरों पर सुविदित निर्णय लिए जा सकें.

Prelims Vishesh

कुलदीप नैय्यर (Kuldip Nayar)

  • कुलदीप नैय्यर (Kuldip Nayar) एक सुप्रसिद्ध पत्रकार थे जिनकी 23 अगस्त 2018 को मृत्यु हो गयी है.
  • वे प्रसिद्ध पत्रकार के साथ-साथ एक अत्यंत प्रतिभा-सम्पन्न लेखक भी थे.
  • एक पत्रकार के तौर पर उन्होंने राज्य द्वारा प्रायोजित मानवाधिकार उल्लंघनों का अपने रचनाओं में बढ़-चढ़कर खूब विस्तार से उल्लेख किया था.
  • कुलदीप नैयर UK में भारत के उच्चायुक्त (High Commissioner of India to the U.K.) भी रहे हैं.
  • उन्होंने राज्य-सभा के सदस्य के रूप में भी मनोनीत (nominated) किया गया था.
  • कई दशकों तक तमाम अंग्रेजी समाचार-पत्रों में प्रकाशित होने वाला उनका सिण्डिकेटेड स्तंभ (syndicated column) “बिटवीन द लाइन्स” (“Between the Lines”) पाठकों में बेहद लोकप्रिय था. वहीं “बियॉण्ड द लाइन्स” (“Beyond the Lines”) के नाम से उनकी आत्मकथा (autobiography) वर्ष 2012 में प्रकाशित हुई थी.

इण्डिया बैंकिंग कॉनक्लेव 2018

  • “इण्डिया बैंकिंग कॉनक्लेव 2018″ (India Banking Conclave 2018) भारतीय बैंकिंग से सम्बन्धित अनेक मुद्दों पर गहन विचार-विमर्श हेतु आयोजित किया गया था।
  • यह आयोजन द्वि-दिवसीय आयोजन था जो नई दिल्ली में सम्पन्न हुआ.
  • इस आयोजन की मेजबानी नीति आयोग (NITI Aayog) तथा सेण्टर फॉर इकोनॉमिक पॉलिसी रिसर्च (Centre for Economic Policy Research – CEPR) ने संयुक्त रूप से की.
  • इस कॉनक्लेव का मुख्य उद्देश्य बैंकों की गैर-निष्पादित परिसम्पत्तियों (NPA), समय के साथ बैंकों के आधुनिकीकरण, निजीकरण व विलय और भारतीय बैंकिंग के भविष्य पर चर्चा करना था.

शार्दूल विहान (Shardul Vihan)

  • 15-वर्षीय निशानेबाज शार्दूल विहान (Shardul Vihan) ने 18वें एशियाई खेल की पुरुषों की डबल ट्रैप (Men’s Double Trap) शूटिंग स्पर्धा में रजत पदक जीता. वे मेरठ से हैं.
  • इस पदक को ग्रहण करने के साथ ही वे एशिआई खेल की शूटिंग स्पर्धा में पदक जीतने वाले सबसे कम आयु के भारतीय खिलाड़ी हो गए हैं.
  • इस प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक के विजेता दक्षिण कोरिया (South Korea) के अनुभवी निशानेबाज ह्युनवो शिन (Hyunwo Shin) रहे.

Click here to read Sansar Daily Current Affairs – Sansar DCA

Books to buy

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.