Sansar डेली करंट अफेयर्स, 22 April 2018

Sansar LochanSansar DCALeave a Comment

Print Friendly, PDF & Email

Sansar Daily Current Affairs, 22 April 2018


GS Paper 3: Source: The Hindu

Topic: अंतर्राष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति (IMFC)

  1. IMFC का full-form है – International Monetary and Finance Committee
  2. हाल में हुई IMFC की 37वीं बैठक में भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर ने भाग लिया.
  3. यह समिति अंतर्राष्ट्रीय मौद्रिक एवं वित्तीय प्रणाली की देखरेख और प्रबंधन के विषय में IMF बोर्ड ऑफ गवर्नर को सलाह देता है और रिपोर्ट प्रस्तुत करती है.
  4. इसकी बैठक साल में दो बार होती है.
  5. यह समिति वैश्विक अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने वाले समस्याओं पर चर्चा करती है और IMF को तदनुसार सलाह देती है.
  6. इसमें कोई भी निर्णय मतदान के द्वारा नहीं होता अपितु सर्वसम्मति से किया जाता है.
  7. IMFC में 24 सदस्य होते हैं जो IMF के 189 सदस्यों से लिए जाते हैं.
  8. समिति के ये सदस्य सम्बंधित देशों के केंद्रीय बैंक के गवर्नर, मंत्री या समकक्ष श्रेणी के व्यक्ति होते हैं.

imfc_member_countries

GS Paper 3: Source: The Hindu

Topic: समुद्री ज्वार विषयक चेतावनी

  1. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी (National Disaster Management Agency) ने भारतीय तटरेखा पर एक ऊँची लहरों वाली समुद्री ज्वार की चेतावनी दी है.
  2. इस चेतावनी में कहा गया है कि भारत के समुद्री तट पर 2 से 3 मीटर ऊँचे और 17 से 22 सेकंड तक टिकने वाले शक्तिशाली लहरों के थपेड़े (high energy swell waves) महसूस किए जा सकते हैं.
  3. ये थपेड़े समुद्र पर बहने वाले हवाओं के कारण उत्पन्न होते हैं.
  4. ये थपेड़े समुद्र के आस-पास की हवाओं के कारण नहीं अपितु समुद्र के ऊपर सेकड़ों मील दूर बहने वाली तूफानी हवाओं से पैदा होते हैं.
  5. ऐसे थपेड़ों का सबसे अधिक प्रभाव केरल और पश्चिम बंगाल के कम ऊँचाई वाले तटों पर पड़ेगा.

GS Paper 3: Source: The Hindu

Topic: विस्फोटक चींटियाँ

  1. ब्रूनेई में शोध करते समय Colobopsis explodens नाम की चीटियाँ मिली हैं.
  2. इन चीटियों की विशेषता यह है कि शत्रु कीड़ों के आक्रमण के समय ये चीटियाँ अपने शरीर को इतना सिकोड़ती हैं कि उसमें विस्फोट हो जाता है.
  3. इस विस्फोट से उनकी ग्रन्थियों से एक विशेष द्रव निकलता है जिससे शत्रु कीड़ें मर जाते हैं यद्यपि ये चीटियाँ भी समाप्त हो जाती हैं.
  4. इस तरह का विस्फोट प्रकृति की एक विरल घटना है जो कुछ मधुमक्खियों के साथ भी कहीं-कहीं देखने को मिलती है.

GS Paper 3: Source: The Hindu

Topic: जापान की नष्ट होती प्रवाल-भित्तियाँ

  1. पश्चिमी जापान के तट के पास स्थित प्रवाल भित्तियाँ असामान्य रूप से ठंडे पानी के कारण नष्ट हो रही हैं.
  2. ये प्रवाल भित्तियाँ विश्व की सर्वाधिक उत्तरी प्रवाल भित्तियों में से हैं.
  3. प्रवाल भित्तियों के सर्वेक्षण से पता चलता है कि 90 से 100 प्रतिशत भित्तियों का रंग उतर गया है.
  4. भित्तियों के नष्ट होने का आंशिक कारण वहाँ पर बहने वाली Kuroshio समुद्री धाराएँ भी हैं.
  5. Kuroshio समुद्री धाराएँ गर्म धाराएँ हैं जो रह-रह कर ठन्डे जल में प्रवेश कर जाती हैं.

Click here for Daily Sansar Current Affairs >> Daily Sansar Current Affairs

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.