Sansar डेली करंट अफेयर्स, 06 February 2019

Sansar LochanSansar DCA3 Comments

Print Friendly, PDF & Email
JANUARY Hardcopy

हम जानते हैं कि आप जनवरी की हार्डकॉपी पाने के लिए कितने उतावले हैं. अभी तक मुझे शायद हजार से ज्यादा मेल और कमेंट आ चुके हैं कि सर आप हार्डकॉपी कब निकलवा रहे हो. मैं इस बात से भली-भाँति परिचित हूँ कि मैंने इस कार्य को अंजाम देने में विलम्ब कर दिया है. दरअसल, यह पहली बार है कि हम कुछ ऐसा काम करने जा रहे हैं. इसमें काफी कुछ देखना पड़ता है – जैसे कूरियर सेवा से बातचीत, वेबसाइट पर आर्डर ग्रहण करने की प्रक्रिया को सरलीकृत करना, प्रिंटिंग वाले को निर्देश आदि.

चूँकि यह सब हमारे लिए पहली बार है इसलिए इस महीना विलम्ब होना लाजमी है. आपसे आशा करता हूँ कि आप धैर्य रखेंगे और हमारा भरपूर साथ देंगे. जिन्हें बहुत ही जल्दबाजी है और जो खुद प्रिंट आउट करना चाहते हैं, वह आर्टिकल के नीचे दिए गए लिंक से Ebook डाउनलोड कर सकते हैं.

हार्डकॉपी के संदर्भ में जल्द ही सूचित करूँगा.

धैर्य बनाने के लिए और हमारा साथ देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

Sansar Daily Current Affairs, 06 February 2019


GS Paper 1 Source: PIB

pib_logo

Topic : Safe City project

संदर्भ

सार्वजनिक स्थलों पर महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से निर्भया कोष योजना के लिए गठित प्राधिकृत अधिकारी समिति ने इन आठ चुने हुए महानगरों में प्रायोगिक सुरक्षित नगर (Safe City) परियोजनाएँ चलाने के प्रस्ताव को अनुमोदन दिया है – दिल्ली, कलकत्ता, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, अहमदाबाद और लखनऊ.

cctv_roads

यह परियोजना एक केंद्र-संपोषित योजना होगी जिसमें केंद्र और राज्य के कोषों का अनुपात क्रमशः 60:40 होगा.

सेफ सिटी परियोजना में क्या-क्या होगा?

  • एक समेकित स्मार्ट नियंत्रण कक्ष स्थापित होगा.
  • महिलाएँ सरलता से शिकायत दर्ज कर सकें इसके लिए गुलाबी गुमटियाँ बनेंगी जिनको केवल महिला पुलिस कर्मचारी चलाएँगी.
  • इन नगरों में ऐसे गश्तीदल (Pink Petrol) होंगे जिनमें मात्र महिला पुलिस ही होंगी.
  • सभी थानों में एक महिला सहायता डेस्क होगा और वहाँ पर मंत्रणा देने वाले (counsellors) भी होंगे.
  • वर्तमान आशा ज्योति केन्द्रों को सुदृढ़ किया जाएगा.
  • बसों में सुरक्षा के उपाय किये जाएँगे, जैसे – कैमरे लगाना आदि.
  • जिन सड़कों में छेड़छाड़ की घटनाएँ अधिक होती हैं, वहाँ प्रकाश की व्यवस्था की जायेगी.
  • यत्र-तत्र गुलाबी शौचालय बनाए जाएँगे.
  • महिला सहायता टेलीफोन लाइनों को एक जगह मिलाकर एक ऐसा आपातकालीन नंबर दिया जाएगा जिसका प्रयोग कहीं से भी हो सकेगा.

GS Paper 2  Source: PIB

pib_logo

Topic : Rashtriya Vayoshri Yojana (RVY)

राष्ट्रीय वयोश्री योजना क्या है?

  • राष्ट्रीय वयोश्री योजना के अन्दर गरीबी-रेखा के नीचे उन वयोवृद्धों को सहायक उपकरण दिए जाते हैं जो बुढ़ापे से जुड़ी असमर्थताओं के कारण सामान्य जीवन बिताने में कष्ट अनुभव करते हैं, जैसे – कम दिखाई देना, सुनने में कष्ट होना, दाँत झड़ना और चलने-फिरने में कठिनाई होना आदि.
  • यह एककेन्द्रीय योजना है जिसके लिए केंद्र ही शत-प्रतिशत राशि मुहैया करता है. इसमें होने वाला खर्च “वरिष्ठ नागरिक कल्याण कोष / Senior Citizens’ Welfare Fund“ से किया जाता है.
  • इस योजना के अन्दर सहायक उपकरण वितरित किये जाते हैं.
  • यदि किसी वयोवृद्ध को कोई शारीरिक कष्ट एक साथ हैं तो भी उन्हें प्रत्येक विकलांगता के लिए अलग-अलग उपकरण निःशुल्क दिए जाते हैं.
  • इस योजना का लाभ किन्हें मिलेगा इसका निर्धारण राज्य/केंद्र-शासित प्रदेश अलग-अलग जिलों में जिला उपायुक्त/ समाहर्ता की अध्यक्षता में गठित समिति के माध्यम से करते हैं.
  • यह यथासंभव चेष्टा की जाति है की लाभार्थियों में से 30% महिलाएँ हों.

पृष्ठभूमि

2011 की जनगणना के आँकड़ों के अनुसार भारत में वरिष्ठ नागरिकों की संख्या 10.38 करोड़ है. इनमें 70% से अधिक गाँवों में रहते हैं. 5.2% वयोवृद्ध को बुढ़ापे से जुड़ी कोई-न-कोई असमर्थता होती है. अनुमान लगाया गया है की 2050 तक वयोवृद्धों की संख्या बढ़कर 300 मिलियन हो जायेगी. इस प्रकार वरिष्ठ नागरिकों की संख्या जनसंख्या का पाँचवा भाग हो जाएगा.


GS Paper 2  Source: PIB

pib_logo

Topic : ASIA LPG Summit

एशिया LPG शिखर सम्मेलन की दूसरी बैठक नई दिल्ली में होने जा रही है. इसका आयोजन विश्व LPG संघ (World LPG Association – WLPGA) द्वारा भारत की प्रमुख सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों, इंडियन ऑइल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम के साहचर्य से किया जा रहा है.

LPG समिट के उद्देश्य

  • इससे वैश्विक एल.पी.जी. उद्योग को उन विभिन्न विकास एजेंसियों, गैर-सरकारी संगठनों और लाभ-रहित संगठनों से मिलने-जुलने का अवसर मिलेगा जो लाभार्थियों के लिए सबसे निचले स्तर तक LPG पहुँचाने का काम करते हैं.
  • शिखर सम्मलेन में प्रतिभागिता करने वाले संगठनों और निजी क्षेत्र को LPG के प्रयोग के विषय में विचारों का आदान-प्रदान करने की सुविधा होगी और साथ ही वे प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना जैसी उन क्रांतिकारी पहलों से भी अवगत हो सकेंगे जो सामाजिक-आर्थिक बदलाव लाने की क्षमता रखती हैं.

विश्व LPG संघ क्या है?

  • विश्व एल.पी.जी. संघ (WLPGA) विश्व-भर के LPG उद्योग का एक प्रतिनिधि मंच है जिसे द्रवीकृत पेट्रोलियम गैस उद्योग की प्रामाणिक वैश्विक आवाज़ के रूप में मान्यता प्राप्त है.
  • यह संघ LPG के प्रयोग को बढ़ावा देता है जिससे कि विश्व पहले से अधिक स्वच्छ, स्वस्थ और खुशहाल बने.
  • इस संघ के 200 से अधिक सदस्य हैं और इसकी शाखाएँ 125 से अधिक देशों में काम कर रही हैं. यह संघ निजी और सार्वजनिक कंपनियों के हितों की रक्षा करता है.
  • यह एक ऐसा मंच है जहाँ एक सदस्य दूसरे सदस्य के साथ LPG से जुड़े तथ्यों, आँकड़ों एवं उत्कृष्ट प्रथाओं के बारे में विचारों का आदान-प्रदान करता है.
  • LPG के लाभों को प्रदर्शित करने के लिए यह संघ नियमित रूप से तकनीकी विशेषज्ञों, सदस्यों और प्रधान हितधारकों के बीच बैठकें आयोजित करता रहता है.
  • 1989 में इस संघ को संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद् के परामर्शी का दर्जा प्रदान किया गया था.
  • इस संघ द्वारा की जाने वाली वार्षिक सांख्यिक समीक्षा जैसे प्रकाशनों को LPG उद्योग में संदर्भ के रूप में माना जाता है.

GS Paper 2  Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Kisan Credit Card Scheme

संदर्भ

भारतीय बैंकिंग संघ (IBA) ने परमर्शात्मक दिशा-निर्देश निर्गत करते हुए बैंकों से अनुरोध किया है कि वे किसान साख कार्ड योजना के अंतर्गत 3 लाख रू. तक के फसल ऋण के लिए वसूले जाने वाले प्रोसेसिंग, डॉक्यूमेंटेशन, इंस्पेक्शन और लेजर फोलियो चार्ज और अन्य सभी सेवा चार्ज को माफ़ कर दें. ऐसा इसलिए किया गया है कि किसानों को प्रत्यक्ष लाभ मिल सके और उनके ऊपर का बोझ कम हो सके.

किसान साख कार्ड योजना क्या है?

  • यह योजना 1998-99 के बजट आरम्भ हुई है. इसका उद्देश्य किसानों को खेती के विभिन्न चरणों में संस्थागत साख के माध्यम से वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करना है.
  • इस योजना का खाका NABARD ने वी. गुप्ता समिति के सुझाव पर तैयार किया था.
  • इस योजना को देश के सभी सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक लागू कर रहे हैं.
  • इस योजना के अंदर किसान की मृत्यु अथवा किसी दुर्घटना के कारण उत्पन्न अशक्तता के जोखिम की भी प्रतिपूर्ति की जाती है.

उद्देश्य

  • सस्ते ब्याज पर किसानों को बैंकों से समय पर उचित मात्रा में ऋण दिलवाना.
  • फसल कटने के बाद के खर्च में सहायता करना.
  • खेती से जुड़ी सम्पत्तियों के संधारण और विभिन्न गतिविधियों के लिए कार्यकारी पूंजी का प्रावधान करना.
  • खेतों को बनाने, पंपिंग सेट खरीदने, रोपा करने, बूँद सिंचाई की व्यवस्था करने आदि खेती से जुड़े कामों के लिए आवश्यक ऋण का प्रावधान करना.

योजना के मुख्य तथ्य

  • इसमें दिए गये ऋण की नकद-राशि में से निकासी और भुगतान अनेक बार हो सकते हैं.
  • निकासी के लिए एक सीमा निर्धारित होती है जो खेती की भूमि के आकार, फसल लगाने की पद्धति और आवश्यक वित्त के अनुसार तय की जाती है.
  • सीमा तय करते समय यह देखा जाता है कि वर्ष-भर में कृषि उत्पादन और सम्बद्ध गतिविधियों के लिए कितने रुपयों की आवश्यकता होगी.
  • किसान साख कार्ड 5 वर्षों के लिए वैध होता है, परन्तु इसकी समीक्षा प्रत्येक वर्ष होती है.
  • यदि किसान का प्रदर्शन अच्छा रहा तो प्रोत्साहन स्वरूप उसकी साख की सीमा को बढ़ाने पर भी विचार हो सकता है.
  • प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को क्षति पहुँचने पर ऋण के स्वरूप, समय-आदि में बदलाव भी किया जा सकता है.
  • इस योजना के तहत दिए गये ऋण पर फसल बीमा योजना लागू रहती है जिससे कि प्राकृतिक आपदाओं, कीटों के आक्रमण आदि से होने वाली क्षति से किसान उबर सकें.

GS Paper 3 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : India’s communication satellite GSAT-31 launched from French Guiana

gsat_31संदर्भ

ISRO का सबसे नया संचार उपग्रह GSAT-31 हाल ही में फ्रेंच गुआना के अन्तरिक्ष अड्डे से एरियन स्पेस के द्वारा उसके एरियन 5 राकेट के माध्यम से सफलतापूर्वक छोड़ा गया. विदित हो कि GSAT-31 के साथ-साथ एरियन 5 से एक और संचार उपग्रह छोड़ा गया जो सऊदी अरब का उपग्रह था. इसरो के अनुसार इस उपग्रह की आयु 15 साल की है.

GSAT 31 क्या है?

  • जीसैट -31 देश का 40वाँ संचार उपग्रह है.
  • यह इसरो के पूर्ववर्ती इनसैट/जीसैट शृंखला का एक उपग्रह है.
  • यह उपग्रह 36,000 कि.मी. की ऊँचाई पर भू-स्थैतिक कक्षा में इस उपग्रह में स्थित छोटी रॉकेट प्रणाली के माध्यम से स्थापित कर दिया जाएगा.

GSAT-31 के फायदे

  • यह कक्षा के अंदर विद्यमान कुछ उपग्रहों पर संचालन-संबंधी सेवाओं को जारी रखने में मदद मुहैया करेगा और जियोस्टेशनरी कक्षा में केयू-बैंड ट्रांसपोंडर की क्षमता में वृद्धि करेगा.
  • यह उपग्रह भारतीय भू-भाग और द्वीप को कवरेज प्रदान करेगा.
  • यह स्टॉक एक्सचेंज, टेलीविजन अपलिंक्स, डिजिटल उपग्रह समाचार जुटाने, डीटीएच टेलीविजन सेवाओं और सेलुलर बैक हॉल संपर्क में लाभ पहुँचाएगा.
  • इससे एटीएम का नेटवर्क पहले की अपेक्षा काफी अच्छा हो जाएगा.
  • यह उपग्रह अपने व्यापक बैंड ट्रांसपोंडर की मदद से अरब सागर, बंगाल की खाड़ी और हिंद महासागर के विशाल समुद्री क्षेत्र के ऊपर संचार की सुविधा के लिये विस्तृत बीम कवरेज प्रदान करेगा।
  • इससे टेलीफोन और इंटरनेट सेवाएँ और भी बेहतर होंगी.
  • इस उपग्रह से दक्षिण अफ्रीका और यूरोप के लोगों को भी लाभ होगा.

Prelims Vishesh

Flamingo sanctuary :-

  • मुंबई से अहमदाबाद तक के लिए प्रस्तावित बुलेट ट्रेन के गलियारे को पर्यावरण मंत्री हर्ष वर्धन की अध्यक्षता में गठित समिति से अनुमति मिल गई है.
  • ज्ञातव्य है कि यह गलियारा ठाने क्रीक और संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान से होकर गुजरता है.
  • ज्ञातव्य है कि ठाने क्रीक में एक आश्रयणी है जो केवल फ्लेमिंगो पक्षियों के लिए है. यद्यपि यहाँ कई अन्य पक्षी रहते हैं और बाहर से भी आते हैं. यह महाराष्ट्र की दूसरी समुद्र तटीय आश्रयणी है. ऐसी पहली आश्रयनी मलवान में है.
  • संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान महाराष्ट्र के ही पालगर, ठाने और मुंबई जिलों में फैला हुआ है. यहाँ 800 प्रकार के फूलों के पौधे, 45 प्रकार के स्तनपाई जीव और 43 प्रकार के सरीसृप आदि पाए जाते हैं.

Sangeet Natak Akademi :-

  • राष्ट्रपति ने 2017 के संगीत नाटक अकादमी पुरस्कारों का हाल ही में वितरण किया.
  • ये पुरस्कार 1952 संगीत, नृत्य और नाटक के लिए दिए जाते हैं.

Categorisation of Farmers :-

2015-16 में की गई कृषि परिगणना (agriculture census) में घरबारों को उनकी कृषि-भूमि के आकार के अनुसार पाँच वर्गों में बाँटा गया है. ये निम्नवत् हैं –

  1. सीमान्त – 1 हेक्टेयर से कम
  2. लघु – 1 से 2 हेक्टेयर
  3. अर्ध-लघु – 2 से 4 हेक्टेयर
  4. मध्यम – 4 से 10 हेक्टेयर
  5. वृहद् – 10 हेक्टेयर और उससे अधिक.

Thailand makes Siamese fighting fish national aquatic animal :-

  • थाईलैंड ने हाल ही में सियामी योद्धा मछली को अपना राष्ट्रीय जलजीव घोषित किया है.
  • विदित हो कि इसे पश्चिम में “बेटा मछली” के नाम से जाना जाता है और यह अपने चमकीले शरीर और बहुरंगी पूँछ के कारण एक्वेरियमों में पाला जाता है.
  • IUCN के अनुसार यह संकटापन्न (vulnerable) श्रेणी की मछली है.

Click here to read Sansar Daily Current Affairs – Sansar DCA

Books to buy

3 Comments on “Sansar डेली करंट अफेयर्स, 06 February 2019”

  1. Yes sir, hume intzaar hai. aap araam se kijie…we will wait whole month, next time se to jald aa hi jayega

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.