कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया गया – WHO

Sansar LochanGovernanceLeave a Comment

What makes WHO declare a disease outbreak a public health emergency?

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस को एक अंतर्राष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल (public health emergency of international concern) घोषित कर दिया है.

आपातकाल घोषणा की आवश्यकता क्यों पड़ी?

कोरोना वायरस का प्रकोप चीन के बाहर भी देखने को मिल रहा था और इसके रोगियों की संख्या बढ़ती ही जा रही थी. इसका भी प्रमाण मिल रहा था कि यह रोग मनुष्य से मनुष्य तक फ़ैल रहा था. सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि यह वायरस कमजोर स्वास्थ्य तंत्रों वाले देशों में फ़ैल सकता है जहाँ इससे निबटने की तैयारी अच्छी नहीं है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार कोरोना वायरस का प्रकोप एक असाधारण घटना है जो चीन के अतिरिक्त अन्य देशों के लिए एक सार्वजनिक स्वास्थ्य जोखिम है अर्थात् यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर फ़ैल सकता है.

इस प्रकोप से निपटने के लिए एक समन्वित अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया की अपेक्षा हो सकती है, ऐसा WHO का सोचना है. स्मरण रहे इसी प्रकार का अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल WHO पहले भी इबोला, जिका और H1N1 के लिए घोषित कर चुका है.

किसी घटना को आपातकाल घोषित करने का दायित्व WHO के महानिदेशक का होता है और इसके लिए सदस्यों की एक समिति का आह्वान करने की आवश्यकता होती है.

आपातकाल घोषणा का निहितार्थ

कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने से WHO इस विषय में अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया को बेहतर ढंग से समन्वित कर सकेगा. साथ ही WHO प्रकोपग्रस्त देशों को उसके द्वारा निर्धारित यात्रा, व्यापार, क्वारंटाइन या स्क्रीनिंग से सम्बंधित मानदंडों का सम्यक पालन नहीं करने पर उत्तरदायी घोषित कर सकता है.

पृष्ठभूमि

वर्तमान में कोरोना वायरस की जो प्रजाति फ़ैल रही है, वह उसकी एक नई प्रजाति है जो पहले किसी मनुष्य में नहीं पाई गई थी.

इस प्रजाति के वायरस से लोग बीमार पड़ जाते हैं, उन्हें साधारण खाँसी से लेकर अधिक गंभीर MERS (Middle East Respiratory Syndrome) और SARS (Severe Acute Respiratory Syndrome) तक का शिकार होना पड़ता है.

  • अभी जिस नए कोरोना वायरस का प्रकोप चल रहा है इसका स्रोत क्या है यह पता नहीं चला है. अतः इसके लिए कोई उपचार नहीं निकला है.
  • नए कोरोना वायरस से चीन में 400 से अधिक लोग मर चुके हैं और वहाँ WHO के नवीनतम प्रतिवेदन के अनुसार इस वायरस के चीन में 5,997 सम्पुष्ट मामले हैं.
  • वे अन्य देश जहाँ कोरोना वायरस की सम्पुष्टि हो चुकी है, वे हैं – जापान, वियतनाम, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, थाईलैंड, नेपाल, जर्मनी, फ्रांस, अमेरिका, कनाडा आदि.

Tags : Coronavirus- spread, symptoms and prevention, WHO public health emergency explained in Hindi.

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.