भारत में निर्वाचन आयोग (Election Commission in India)

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes3 Comments

nirvachan_ayog

भारत एक प्रजातन्त्रात्मक देश है. यहाँ प्रत्यक्ष मतदान द्वारा व्यवस्थापिका का संगठन किया जाता है. आम चुनाव के निष्पक्षतापूर्वक सम्पादन हेतु एक निर्वाचन आयोग की स्थापना संविधान के अनुच्छेद 324 के अनुसार की गई है. निर्वाचन आयोग पर कार्यपालिका अथवा न्यायपालिका किसी का भी नियंत्रण नहीं होता है और यह आयोग निष्पक्षतापूर्वक अपने कार्य को संपन्न करता है. निर्वाचन आयोग/चुनाव आयोग में … Read More

विधानसभा का संगठन और कार्य – Legislative Assembly in Hindi

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes2 Comments

vidhan_sabha

भारतीय संविधान के अनुसार प्रत्येक राज्य में एक विधानमंडल (Legislature) का प्रावधान किया गया है. किसी राज्य में एक सदन और किसी में दो का प्रावधान है. 2017 तक केवल सात राज्यों में विधान मंडल और विधान परिषद् दोनों का प्रावधान है, वे राज्य हैं – > आंध्र प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना और जम्मू और कश्मीर में … Read More

मंत्रिपरिषद का संगठन, नियुक्ति, प्रकार, योग्यता और वेतन

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes4 Comments

mantri_parishad

भारतीय संविधान में मंत्रिपरिषद से सम्बंधित दो अनुच्छेद अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैं. अनुच्छेद 74 में लिखा है कि राष्ट्रपति को उसके कार्यों में सहायता देने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक मंत्रिपरिषद के परामर्श के विषय में कोई भी न्यायिक कार्यवाही नहीं हो सकेगी. अनुच्छेद 74 के शब्द इस प्रकार हैं – ” राष्ट्रपति को अपने कार्यों को पूरा करने के लिए सहायता … Read More

आपातकाल : संवैधानिक प्रावधान, परिस्थितियाँ एवं प्रभाव

Dr. SajivaIndian Constitution, Polity Notes5 Comments

आपातकाल_emergency
जर्मनी के संविधान के राष्ट्रपति की तरह भारत के राष्ट्रपति (राष्ट्रपति <<के बारे में पढ़ें) को भी संकटकाल/आपातकाल (emergency) में उत्पन्न कठिनाइयों का समाधान करने के लिए अत्यंत ही विस्तृत और निरंकुश अधिकार दिए गए हैं. जब राष्ट्रपति आपातकाल की घोषणा करेगा तब उसके हाथों में ऐसे बहुत-से अधिकार आ जायेंगे जो उसे साधारण स्थिति में प्राप्त नहीं हैं. आपातकाल तीन स्थितयों ... Read More

[Quiz] भारत सरकार अधिनियम, 1919 से सम्बंधित Questions

Sansar LochanQuiz6 Comments

1919 के अधिनियम को ब्रिटिश संसद ने भारतीय प्रशासन में सुधार लाने तथा भारतीयों के असंतोष को दूर करने के लिए पास किया था. हालाँकि इस विधेयक के द्वारा विकेंद्रीकरण की नीति को प्रोत्साहन दिया गया, लेकिन साथ-ही-साथ केन्द्रीय व्यवस्थापिका को और भी ज्यादा शक्तिशाली बनाने का प्रयत्न किया गया था. आप भारतीय संविधान के सम्पूर्ण इतिहास को इस पोस्ट … Read More

राज्य के नीति-निर्देशक तत्त्व (Directive Principles) के विषय में जानें

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes5 Comments

indian_farmer_village

संविधान के चतुर्थ अध्याय में राज्यों के लिए कुछ निर्देशक तत्त्वों (directive principles) का वर्णन है. ये तत्त्व आयरलैंड के संविधान से लिए गए हैं. ये ऐसे उपबंध हैं, जिन्हें न्यायालय का संरक्षण प्राप्त नहीं है. अर्थात्, इन्हें न्यायालय के द्वारा बाध्यता नहीं दी जा सकती. तब प्रश्न यह उठता है कि जब इन्हें न्यायालय का संरक्षण प्राप्त नहीं है, … Read More

[Quiz] उच्चतम न्यायालय: MCQ on Supreme Court

Sansar LochanQuiz18 Comments

टॉपिक: उच्चतम न्यायालय (Supreme Court of India) कुल सवाल: 12 पास मार्क्स: 50% [alert-announce]नोट: उच्चतम नयायालय के इस MCQ को सोल्व करने से पहले यह पोस्ट जरुर पढ़ लें:> सर्वोच्च न्यायालय के विषय में जानकारियाँ. तब जाकर आप इन प्रश्नों का सही-सही हल कर सकेंगे.[/alert-announce] अपना मार्क्स कमेंट में जरुर शेयर करें. अन्य Quiz/MCQ के लिए क्लिक करें:>>> GK Quiz: सामान्य ज्ञान क्विज

सर्वोच्च न्यायालय के विषय में जानकारियाँ

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes26 Comments

उच्चतम न्यायालय
संघात्मक शासन के अंतर्गत सर्वोच्च, स्वतंत्र और निष्पक्ष न्यायालय का होना आवश्यक बताया जाता है. भारत भी एक संघीय राज्य है और इसलिए यहाँ भी एक संघीय न्यायालय का प्रावधान है, जिसे सर्वोच्च न्यायालय कहते हैं. सर्वोच्च न्यायालय संविधान का व्याख्याता, अपील का अंतिम न्यायालय, नागरिकों के मूल अधिकारों का रक्षक, राष्ट्रपति का परामर्शदाता और संविधान का संरक्षक है. भारतीय न्यायव्यवस्था के शीर्ष ... Read More

राष्ट्रपति का निर्वाचन, शक्ति, कार्यकाल और विशेषाधिकार

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes24 Comments

indian_presidents

भारत के संविधान में औपचारिक रूप से संघ की कार्यपालिका की शक्तियाँ राष्ट्रपति को दी गयी है. पर वास्तव में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बनी मंत्रिपरिषद् के माध्यम से राष्ट्रपति इन शक्तियों का प्रयोग करता है. वह पाँच वर्ष के लिए चुना जाता है. राष्ट्रपति पद के लिए सीधा जनता के द्वारा निवार्चन नहीं होता. उसका निर्वाचन अप्रत्यक्ष तरीके से होता … Read More

Background and details of Nepal New Constitution हिंदी में पढ़ें

Sansar LochanIndia and its neighbours, International Affairs11 Comments

nepal_flag

आज क्यों चर्चा में है नेपाल? Why is Nepal in news these days? 500 मील तक फैली हुई बुद्ध की भूमि नेपाल (Nepal, the land of Buddha) आज फिर चर्चा में है. भूकंप त्रासदी के बाद कई वर्षों से हो रही राजनैतिक उठा-पटक के बाद नेपाल एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के रूप में स्थापित हो गया और नेपाल में एक नया … Read More