SGQ Important Links for UPSC PRE 2019 – Part 10

Sansar LochanSGQ Series 2019Leave a Comment

Print Friendly, PDF & Email

UPSC Prelims परीक्षा 2019 के लिए Important Topics को highlight करते हुए आपको Quick Links update कर रहा हूँ. पिछले साल की ही तरह इस साल भी Sansar Guess Series (SGQ) में काफी देरी हो गई और सारा कुछ incomplete रह गया. मगर कोई बात नहीं मैं टॉपिक के साथ-साथ लिंक भी दे रहा हूँ. आप लिंक को ओपन कर के जल्दी-जल्दी टॉपिक कवर लें. 

यह रहा Part 10 >>>>

  1. क्लीन सीज (Clean Seas) – संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) द्वारा समुद्री प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने में सरकारों, आम लोगों और निजी क्षेत्र को संलग्न करने के उद्देश्य से फरवरी 2017 में क्लीन सीज अभियान #CleanSeas का शुभारम्भ किया गया.
  2. अंतर्राष्ट्रीय नवीकरणीय ऊर्जा एजेंसी (IRENA) – 1st question Sansar Quiz
  3. ओजोन एक्शन कार्यक्रम – ओजोन एक्शन संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की एक पहल है तथा यह संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण के प्रौद्योगिकी, उद्योग एवं अर्थशास्त्र विभाग का एक भाग है. 147 विकासशील देश ओजोन एक्शन के पक्षकार हैं.
  4. एशियाई शेर संरक्षण परियोजना
  5. सूचना समेकन केंद्र – हिन्द महासागर क्षेत्र (IFC-IOR)
  6. आसियान-भारत इनोटेक शिखर सम्मेलन
  7. ग्लोबल वार्मिंग ऑफ़ 5°C – जलवायु परिवर्तन पर अंतर-सरकारी पैनल (IPCC) द्वारा 8 अक्टूबर, 2018 को “ग्लोबल वार्मिंग ऑफ़ 1.5°C” पर एक विशेष रिपोर्ट प्रकाशित की गई. यह जलवायु परिवर्तन के खतरे, सतत विकास और गरीबी उन्मूलन के प्रयासों के लिए वैश्विक प्रतिक्रिया को सुदृढ़ करने के संदर्भ में पूर्व-औद्योगिक स्तरों के 1.5°C से अधिक के वैश्विक तापन और सम्बंधित वैश्विक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन पाथवे के प्रभावों का अध्ययन करता है.
  8. सरकार द्वारा भारत के HCFC को चरणबद्ध तरीके से हटाने की प्रबंधन योजना (HPMP) – मोंट्रियल प्रोटोकॉल के अंतर्गत, हाइड्रोक्लोरोफ्लोरोकार्बन (HCFCs) को त्वरित गति से चरणबद्ध तरीके से हटाने का कार्य वर्ष 2030 तक HCFCs को चरणबद्ध तरीके से हटाने की प्रक्रिया के साथ-साथ चल रहा है. भारत द्वारा पहले ही HPMP चरण – I को सफलतापूर्वक कार्यान्वित किया जा चुका है. HPMP – II के तहत, भारत ने वर्ष 2020 तक मोंट्रियल प्रोटोकॉल के तहत अनुपालन लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु वर्ष 2017 से 2023 तक HCFC के 8,190 मीट्रिक टन के उपभोग को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने हेतु मोंट्रियल प्रोटोकॉल के कार्यान्वयन के लिए बहुपक्षीय निधि से 1 मिलियन अमेरिकी डॉलर प्राप्त किये हैं. कौशल और प्रशिक्षण के प्रभाव में वृद्धि करने हेतु HPMP II के तहत रेफ्रिजरेशन एंड एयर कंडीशनिंग (RAC) क्षेत्र के प्रशिक्षण को स्किल इंडिया मिशन के साथ समन्वित करने के लिए पर्याप्त ध्यान दिया गया है.
  9. जैव विविधता वित्त पहल (BIOFIN) – पेज 11
  10. कार्य निष्पादन, उपलब्धि और व्यापार (PAT) योजना
  11. ग्रेट डाईंग – सामूहिक विलोपन की परिघटना, जिसे “ग्रेट डाईंग” के रूप में भी जाना जाता है, लगभग 252 मिलियन पूर्व घटित हुई थी. यह परिघटना पर्मियन भूगर्भिक काल के अंत को भी चिन्हित करती है. अवसादों एवं जीवाश्मिक जीवों पर किये गये अध्ययन से ज्ञात होता है कि यह परिघटना पृथ्वी पर जीवन को समाप्त करने वाली अब तक की सबसे बड़ी आपदा थी. इसके कारण 65 मिलियन वर्ष पूर्व डायनासोर की प्रजाति पूर्ण रूप से विलुप्त हो गई थी.
  12. कृषि निर्यात नीति, 2018 – केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 06 दिसंबर 2018 को देश की पहली कृषि निर्यात नीति, 2018 को स्वीकृति प्रदान की. इस नीति का उद्देश्य 2022 तक कृषि उत्पादों का निर्यात 60 अरब डॉलर करना है ताकि किसानों की आय दोगुनी हो सके. वर्तमान में कृषि उत्पादों का निर्यात 37 अरब डॉलर के समतुल्य है. कृषि निर्यात नीति व्यवस्था के माध्यम से किसानों को निर्यात के अवसरों का लाभ मिलेगा. इस नीति से अधिकतर जैविक और प्रसंस्कृत आहार के निर्यात पर अंकुश समाप्त हो जाएगा तथा कृषि उत्पादों के निर्यात के कई मार्ग खुल जाएँगे. केन्द्रीय मंत्रालय ने एक निगरानी फ्रेमवर्क की स्थापना को भी स्वीकृति प्रदान की है. यद्यपि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय इसके लिए नोडल एजेंसी होगा, इसमें अन्य विभागों, एजेंसियों और राज्य सरकारों का भी प्रतिनिधित्व रहेगा.
  13. मातृत्व, नवजात और बाल स्वास्थ्य के लिए सहभागिता (PMNCH) – PMNCH का full-form है – Partnership for Maternal, Newborn and Child Health PMNCH 77 देशों के हजार से अधिक संगठनों का एक गठबंधन है जहाँ स्वास्थ्य से सम्बंधित विभिन्न मुद्दों, जैसे – मातृ, नवजात एवं बाल स्वास्थ्य, यौन-स्वास्थ्य, प्रजनन, नवजात, बच्चे और किशोरों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने पर चर्चा होती है. यह साझेदारी एक बोर्ड द्वारा संचालित है जो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के जिनेवा स्थित परिसर में कार्यशील है. For more info> Click
  14. उज्ज्वला सैनिटरी नैपकिन पहल
  15. ग्लोबल जिओथर्मल अलायन्स – इसका आरम्भ दिसम्बर 2015 में पेरिस (फ़्रांस) में आयोजित जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UNFCCC) के अंतर्गत COP21 में लांच किया गया था. इस गठबंधन में भारत सहित 46 सदस्य और 33 भागीदार शामिल हैं.
  16. चांग ई-4 मिशन (युतु-2)
  17. रणनीतिक नीति समूह (Strategic Policy Group)
  18. एकीकृत सरकारी ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम (iGOT)
  19. वेब आधारित मानचित्रण सेवा “भुवन”
  20. ग्लोबल स्टॉकटेक
  21. क्लोजिंग द स्किल गैप टास्क फ़ोर्स
  22. पेमेंट्स कौंसिल ऑफ़ इंडिया
  23. री-इन्वेस्ट (RE-Invest), 2018 – यह नवीकरणीय ऊर्जा के विकास एवं परिनियोजन के लिए रणनीतियों के अन्वेषण हेतु एक वैश्विक मंच है. यह भारत के स्वच्छ ऊर्जा बाजार तथा सामाजिक, आर्थिक और पारिस्थितिक रूप में संधारणीय तरीकों से राष्ट्रीय ऊर्जा की माँग की पूर्ति करने के लिए क्षमता में वृद्धि करने के लिए सरकार के प्रयासों को प्रदर्शित करता है.
  24. बिग ट्रंक रूट – बिग ट्रंक रूट उत्तरी-अटलांटिक समुद्री मार्ग है. यह मार्ग विश्व के दो औद्योगिक रूप से विकसित क्षेत्रों उत्तरी-पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका और उत्तरी-पश्चमी यूरोप को जोड़ता है. इस मार्ग पर विदेशी व्यापार शेष विश्व के कुल व्यापार की तुलना में अधिक है. इस मार्ग पर विश्व के एक-चौथाई विदेशी व्यापार का संचालन होता है. इसलिए यह विश्व का व्यस्ततम समुद्री मार्ग है और इसे “बिग ट्रंक रूट” कहा जाता है.
  25. हाथी गणना – देश में हाथियों की वन्य आबादी की अखिल भारतीय गणना प्रत्येक पाँच वर्ष के अंतराल पर की जाती है. पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा जारी गणना 2017 के अनुसार, हाथियों की सर्वाधिक संख्या कर्नाटक, असम और केरल में है.

Click for previous SGQ Links Series

Books to buy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.