Sansar डेली करंट अफेयर्स, 31 October 2019

Sansar LochanSansar DCA1 Comment

Sansar Daily Current Affairs, 31 October 2019


GS Paper 1 Source: PIB

pib_logo

UPSC Syllabus : Indian culture will cover the salient aspects of Art Forms, Literature and Architecture from ancient to modern times.

Topic : Gottiprolu

संदर्भ

आंध्र प्रदेश के गोटीप्रोलु में भारतीय पुरातत्त्व सर्वे के द्वारा किये गये उत्खनन से पता चलता है कि यह स्थान प्राचीन काल में एक व्यापार केंद्र रहा था.

उत्खनित वस्तुओं और ईंटों के आकार के आधार पर इन्हें प्रथम शताब्दी ई.पू. के आस-पास का अर्थात् 2000 वर्ष पुराना कहा जा रहा है.

गोटीप्रोलु कहाँ है?

गोटीप्रोलु त्रिपति और नेल्लोर से 80 किलोमीटर दूर स्वर्णमुखी नामक नदी की सहायक नदी के दायें तट पर स्थित है.

पृष्ठभूमि

  • दिसंबर, 2018 में राज्य के गोटीप्रोलु में खुदाई शुरू की गई थी.
  • ASI ने विभिन्न आकृतियों में ईंट-निर्मित संरचनाओं का पता लगाया. कृष्ण घाटी के सातवाहन/इक्ष्वाकु काल में ईंटों के आकार सामान्य थे.
  • इसके अतिरिक्त, टीम ने भगवान विष्णु की चार सशस्त्र मूर्तियों की खोज की. मूर्तिकला का संबंध पल्लव काल से है, जो हेडगियर और ड्रैपर के विश्लेषण से पता चला है.
  • इसके अलावा, टूटी हुई टेराकोटा पाइपों की एक श्रृंखला पाई गई है. इससे पता चलता है कि इस अवधि में जल निकासी की अच्छी व्यवस्था थी.
  • अब तक, ASI ने पहले चरण में लगभग 10% साइट की खुदाई की है. दूसरा चरण की खुदाई नवंबर या दिसंबर, 2019 में शुरू होने वाली है.

स्वर्णमुखी नदी

स्वर्णमुखी नदी दक्षिण भारत में स्थित है. तिरुपति शहर में इस नदी के पार कल्याणी बांध बनाया गया है. मंदिर तिरुपति और कालाहस्ती नदी के किनारे स्थित हैं.


GS Paper 2 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Important International institutions, agencies and fora, their structure, mandate.

Topic : International Solar Alliance

संदर्भ

भारत अंतर्राष्ट्रीय सौर संघ (ISA) की दूसरी विधानसभा की मेजबानी कर रहा है. नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय इस कार्यक्रम की मेजबानी कर रहा है. ISA विधानसभा उच्चतम निर्णय लेने वाली संस्था है. यह वित्तीय और प्रशासनिक मुद्दों पर निर्देश देता है.

ISA क्या है?

  • ISA (International Solar Alliance) की स्थापना CoP21 पेरिस घोषणा के अनुसार हुई है. 6 दिसम्बर, 2017 को ISA का फ्रेमवर्क समझौता लागू हो गया और इसके साथ ही यह संधि पर आधारित एक अंतर्राष्ट्रीय अंतर-सरकारी संगठन के तौर पर औपचारिक रूप से अस्तित्व में आया.
  • इस संघ काउद्देश्य है सौर ऊर्जा के उत्पादन को बढ़ावा देना जिससे पेट्रोल, डीजल पर निर्भरता कम की जा सके.
  • सौर संघ का प्रधान लक्ष्य विश्व-भर में 1,000 GW सौर ऊर्जा का उत्पादन करना और इसके लिए 2030 तक सौर ऊर्जा में 1,000 बिलियन डॉलर के निवेश का प्रबंध करना है.
  • यह एक अंतर्राष्ट्रीय, अंतर-सरकारी संघ है जो आपसी समझौते पर आधारित है.
  • अब तक 54 देशों ने इसके फ्रेमवर्क समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.
  • यह 121 ऐसे देशों का संघ है जो सौर प्रकाश की दृष्टि से समृद्ध हैं. (Source : ISA official website)
  • ये देश पूर्ण या आंशिक रूप से कर्क और मकर रेखा के बीच स्थित हैं.
  • इसका मुख्यालय भारत में है और इसका अंतरिम सचिवालय फिलहाल गुरुग्राम में बन रहा है.

GS Paper 3 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Security challenges and their management in border areas; linkages of organized crime with terrorism.

Topic : Jammu and Kashmir Public Safety Act (PSA)

संदर्भ

जम्मू-कश्मीर जन सुरक्षा अधिनियम के तहत जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला की हिरासत की अवधि को तीन महीने के लिए बढ़ा दिया गया है.

जम्मू-कश्मीर जन सुरक्षा अधिनियम क्या है?

  • जम्मू-कश्मीर जन सुरक्षा अधिनियम अप्रैल 8, 1978 से लागू है.
  • यह अधिनियम विशेषकर इसलिए पारित किया गया था कि इमारती लकड़ियों की तस्करी को रोका जा सके.
  • इस अधिनियम के अनुसार सरकार चाहे तो 16 वर्ष से ऊपर की आयु वाले किसी भी व्यक्ति को बिना मुक़दमे के दो वर्ष तक बंदी बना सकती है.
  • अधिनियम के अनुसार, यदि कोई व्यक्ति राज्य की सुरक्षा के विरुद्ध कार्य कर रहा है तो उसे दो वर्ष तक प्रशासनिक बंदी के रूप से बंदी बनाया जा सकता है. साथ ही यदि कोई व्यक्ति विधि-व्यवस्था के लिए खतरा हो तो उसे एक वर्ष के लिए बंदी बनाया जा सकता है.
  • अधिनियम के अंतर्गत किसी को बंदी बनाने के लिए आदेश प्रमंडल आयुक्त अथवा जिला मजिस्ट्रेट द्वारा निर्गत किया जा सकता है.
  • अधिनियम के अनुभाग 22 के अनुसार बंदी बनाए गये व्यक्ति के विरुद्ध न्यायालय में कोई वाद नहीं चलाया जा सकता.
  • अधिनियम के अनुभाग 23 में सरकार को यह शक्ति दी गई है कि वह अधिनियम के प्रावधानों के अनुरूप नियमावली बना सकती है.

इस कानून को “निर्मम” (DRACONIAN) क्यों कहा जाता है?

जम्मू-कश्मीर जन सुरक्षा अधिनियम का प्रारम्भ से दुरूपयोग होता रहा है. अलग-अलग सरकारों ने अपने राजनैतिक प्रतिद्वंदियों के विरुद्ध इस कानून का बार-बार दुरूपयोग किया है. अगस्त, 2018 में इस कानून को और भी कठोर करते हुए यह व्यवस्था की गई कि राज्य के बाहर का कोई भी व्यक्ति बंदी बनाया जा सकता है. बंदी बनाते समय अधिकारी चाहे तो अपनी कार्रवाई का कारण नहीं बता सकता है और कह सकता है कि ऐसा करना जनहित में नहीं है.

अधिनियम में बंदी बनाने के लिए जो आधार दिए गये हैं, वह अस्पष्ट हैं. इस कारण अधिकारियों की शक्ति बेलगाम हो जाती है. अधिनियम किसी बंदीकरण की न्यायिक समीक्षा का प्रावधान भी नहीं करता है. यदि उच्च न्यायालय किसी बंदी को छोड़ने का आदेश देता है तो सरकार उसे दुबारा बंदी बना कर के उसे कारावास में डाल देती है. इस अधिनियम का प्रयोग मानवाधिकार कर्मियों, पत्रकारों आदि के विरुद्ध होता रहा है.


GS Paper 3 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Effects of liberalization on the economy, changes in industrial policy and their effects on industrial growth.

Topic : NIRVIK scheme

संदर्भ

भारतीय निर्यात ऋण गारंटी निगम (ECGC) को पूरी आशा है कि भारत सरकार द्वारा पिछले दिनों घोषित NIRVIK योजना निर्यात ऋण और उसकी बीमा को बहुत बड़ा बढ़ावा देगी.

NIRVIK योजना की मुख्य विशेषताएँ

  • इसके अंतर्गत गारंटी की गई बीमा ऋण के मूल और ब्याज का 90% कवर करेगी.
  • यह सुनिश्चित किया जाएगा कि ब्याज विदेश निर्यात के लिए 4% से कम और रूपये में निर्यात के लिए 8% से कम रहे.
  • इस बीमा के अन्दर सामान भेजने के पहले और सामान भेजने के बाद दोनों ऋण आएंगे.
  • रत्न, गहने और हीरे का व्यापार करने वाले तथा 80 करोड़ रु. से ऊपर के खाते वाले निर्यातकों के लिए प्रीमियम की दर अन्य निर्यातकों की तुलना में अधिक होगी क्योंकि उनके माल में क्षति का अनुपात अधिक होता है.
  • जिन निर्यातकों के खाते 80 करोड़ रु. से कम के हैं उनके लिए प्रीमियम की दर प्रत्येक वर्ष 60 घटा दी जायेगी तथा जिनके खाते 80 करोड़ रु. से ऊपर के हैं उनके लिए दरें 0.72 प्रतिवर्ष होंगी.
  • 10 करोड़ रु. से ऊपर की क्षति की जाँच के लिए ECGC कर्मचारी बैंक के कागजात एवं अभिलेखों का निरिक्षण करेंगे.
  • मूल और ब्याज की राशि पर ECGC को बैंकों द्वारा प्रत्येक महीने एक निश्चित प्रीमियम का भुगतान किया जायेगा.

योजना के लाभ

  • NIRVIK योजना से निर्यातकों के लिए ऋण लेना सुगम और सुलभ हो जायेगा.
  • इससे भारत से होने वाले निर्यातों में प्रतिस्पर्धात्मकता आएगी.
  • इससे ECGC की प्रक्रियाएँ निर्यातकों के अनुकूल हो जाएँगी.
  • बीमा कवर के कारण ऋण की लागत नीचे आ जाएगी.
  • NIRVIK योजना से निर्यात प्रक्षेत्र को समय पर और पर्याप्त रूप से काम करने के योग्य पूँजी उपलब्ध हो जाएगी.

ECGC क्या है?

  • यह एक पूर्णतः सरकारी कम्पनी है जिसकी स्थापना 1957 में साख से जुड़ी बीमा सेवा के लिए की गई थी.
  • निर्यात साख प्रतिभूति निगम (ECGC) एक निर्यात साख देने वाली भारत सरकार की एजेंसी है जो देश के निर्यात को सुविधाजनक बनाने के लिए राष्ट्रीय साख बीमा सेवा उपलब्ध कराती है.
  • यह एजेंसी निर्यातकों को साख बीमा योजनाओं का प्रस्ताव देती है. यह बीमा निर्यातकों को होने वाले उस घाटे से बचाती है जो विदेशी क्रेताओं के द्वारा राजनीतिक अथवा वाणिज्यिक कारणों से भुगतान करने में देरी करने से होता है.

GS Paper 3 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Science and Technology- developments and their applications and effects in everyday life Achievements of Indians in science & technology; indigenization of technology and developing new technology.

Topic : Air-independent propulsion

संदर्भ

DRDO पनडुब्बियों में स्वदेशी वायु स्वतंत्र उद्वेग प्रणाली (Air-independent propulsion system – AIP system) लगाने की दिशा में एक कदम बढ़ा चुका है क्योंकि इसने इसका भूमि-आधारित परीक्षण सफलतापूर्वक कर लिया है.

वायु स्वतंत्र उद्वेग प्रणाली क्या है?

  • यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें अ-परमाणविक पनडुब्बी को वायुमंडल के ऑक्सीजन के बिना चलाया जा सकता है. विदित हो कि ऐसी पनडुब्बी के लिए जल स्तर से ऊपर आकर अथवा किसी स्नोर्कल (snorkel) के माध्यम से ऑक्सीजन लेते रहना आवश्यक होता है.
  • ऐसी पनडुब्बी में लगी उद्वेग प्रणाली डीजल-बिजली से चलती है.
  • संभावना है कि यह नई तकनीक वर्तमान प्रणाली का स्थान ले ले अथवा इसे और भी सशक्त बना दे.
  • नई प्रणाली भंडारित ऑक्सीजन और इथनोल को प्रज्वलित किया जाता है. इसके बल पर बैटरी से चलने वाला उद्वेग उत्पन्न होता है.

माहात्म्य

  • वायुमंडल के ऑक्सीजन पर निर्भर नहीं होने के कारण नई प्रणाली से युक्त पनडुब्बी पानी के अन्दर छुप कर अपना काम सरलतापूर्वक कर सकती है. इस प्रणाली में बिजली और बैटरी चार्ज करने का काम पानी के अन्दर-अन्दर ही हो जाता है.
  • AIP प्रणाली में बिजली पैदा की जाती है और ऑक्सीजन भी बनाया जाता है.
  • इसी बिजली से पनडुब्बी चलाने वालों को प्रकाश के साथ-साथ अन्य सुविधाएँ मिल जाती हैं.
  • वस्तुतः AIP बैटरी प्रधान प्रणाली है. अतः इसमें आवाज शून्य के बराबर होती है.

Prelims Vishesh

Cyclone Maha :-

  • भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, चक्रवाती तूफान महा जो कि पूर्व-मध्य अरब सागर पर था, पिछले छह घंटों में 19 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ गया है.
  • गुजरात के किसानों को ‘क्यार’ तूफान के बाद अब ‘महा’ नामक चक्रवात का सामना करना पड़ सकता है.

Serious Fraud Investigation Office (SFIO) :-

  • सरकार ने गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थानों की प्रमुख असफलता, गायब होने वाली कंपनियों संबंधी घटनाओं, प्लानटेशन कंपनियों और हाल के शेयर बाजार घोटाले की पृष्ठ भूमि में कारपोरेट धोखाधड़ियों की जाँच हेतु एक बहु-विषयक संगठन गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (SFIO) स्थापित किया था.
  • इसने 01 अक्टूबर, 2003 से काम करना प्रारंभ कर दिया है.
  • इसे कंपनी अधिनियम, 2013 के तहत वैधानिक शक्तियाँ प्राप्त हुईं.

Click here to read Sansar Daily Current Affairs – Sansar DCA

September, 2019 Sansar DCA is available Now, Click to Download

Books to buy

One Comment on “Sansar डेली करंट अफेयर्स, 31 October 2019”

  1. Aapne dca weekly quiz kyon band kr diya h ?? Plz if it is possible then start that again . That help us a lot to test the current knowledge .
    I HOPE YOU WILL DO SOMETHING ON THAT .

    Thankue .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.