Sansar डेली करंट अफेयर्स, 23 June 2018

Sansar LochanSansar DCA5 Comments

Print Friendly, PDF & Email

Sansar Daily Current Affairs, 23 June 2018

GS Paper 1 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Ambubachi Mela

  1. अम्बुबाची मेला चार दिनों चलने वाला एक मेला है जो कामाख्या देवी मन्दिर परिसर में प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है.
  2. यह मेला पूरब का महाकुम्भ कहलाता है क्योंकि इसमें लाखों भक्त दुनिया के कोने-कोने से आते हैं.
  3. गुवाहाटी में नीलाचल पर्वत पर स्थित कामाख्या मंदिर भारत के 51 शक्तिपीठों में से एक है.
  4. विदित हो कि प्रत्येक शक्तिपीठ में भगवान् शिव की पत्नी सती के अलग-अलग अंग गिरे थे, ऐसी मान्यता है.

GS Paper 2 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Ashgabat Agreement

  1. अश्गाबात समझौता दरअसल मध्य एशिया और फारस की खाड़ी के बीच सामान के आवाजाही को सुगम बनाने वाला एक अंतर्राष्ट्रीय परिवहन और पारगमन गलियारा है.
  2. इसके तहत भारत को फारस की खाड़ी के रास्ते मध्य एशिया में दाखिल होने की सुविधा हासिल होगी. यह समझौता ट्रांजिट और माल परिवहन से जुड़ा है.
  3. इसका नाम तुर्केमेनिस्तान की राजधानी अश्गाबात पर पड़ा है.
  4. ईरान, ओमान, तुर्केमेंनिस्तान और उज्बेकिस्तान इस समझौते के संस्थापक देश हैं.
  5. इसके अलावा कजाकिस्तान भी अश्गाबात समझौते का हिस्सा है.
  6. इस समझौते से जुड़कर भारत को यूरेशियाई इलाके के देशों के साथ व्यापार और व्यावसायिक मेलजोल बढ़ाने में मदद मिलेगी.
  7. भारत लम्बे अरसे से मध्य एशिया के साथ कनेक्टिविटी के लिए विकल्प खोजता रहा है.
  8. भारत के लिए पाकिस्तान को दरकिनार कर यूरोप और मध्य एशिया तक पहुँचना नामुमकिन है. ऐसी स्थिति इसलिए है कि भारत का वह हिस्सा जो सीधे अफगानिस्तान से मिलता था अभी पाकिस्तान के अवैध कब्जे में है.
  9. इस बीच भारत चीन की OROB परियोजना (One Belt One Road) के विकल्प भी ढूँढ़ रहा है.
  10. अश्गाबात समझौते से जुड़ने के बाद भारत के लिए नई राहें खुल जायेंगी.

GS Paper 2 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Chabahar port

  1. हाल ही में अमेरिका ने ईरान पर प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है. तथापि भारत ईरान स्थित चाबहार बंदरगाह चालू करने पर विचार कर रहा है.
  2. विदित हो कि भारत ने ही चाबहार बंदरगाह बनाया है.
  3. इसका उद्देश्य है कि चारों तरफ जमीन से घिरे अफगानिस्तान को फारस की खाड़ी (Persian Gulf) तक पहुँचने के लिए एक ऐसा यातायात गलियारा मिले जो पाकिस्तान होकर नहीं गुजरे क्योंकि पाकिस्तान से इसकी अक्सर ठनी रहती है.
  4. आशा है कि इस गलियारे के चालू हो जाने से अरबों रुपयों का व्यापार हो सकता है.
  5. ईरान का चाबहार बंदरगाह ओमान की खाड़ी पर स्थित उस देश का एकमात्र बन्दरगाह है.
  6. चाबहार के बंदरगाह से भारत को मध्य एशिया में व्यापार करने में सुविधा तो होगी ही अंतर्राष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण गलियारे (International North-South Transport Corridor) तक उसकी पहुँच भी हो जाएगी.
  7. ज्ञातव्य है कि अंतर्राष्ट्रीय उत्तर-दक्षिण गलियारा ईरान से लेकर रूस तक जाता है और इसमें यह एक भूमि मार्ग है जिसमें समुद्र, रेल, सड़क यातायात का सहारा लिया जायेगा.
  8. विदित हो कि चीन ने खाड़ी तक अपनी पहुँच बनाने के लिए पाकिस्तान को ग्वादर नामक बंदरगाह बनाने में मदद की है जिससे उसका क्षेत्र में दबदबा हो जाए.
  9. चाबहार बंदरगाह भारत को चीन के इस दबदबे का प्रतिकार करने में सक्षम बनाएगा.

GS Paper 2 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Sustainable Development Goals (SDG) 2018 Report

  1. हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ ने सतत विकास लक्ष्य (SDG) से सम्बंधित 2018 का वार्षिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया है.
  2. ज्ञातव्य है कि 2015 में सभी देशों ने सर्व-सहमति से सतत विकास के लिए 17 लक्ष्यों का निर्धारण किया था.
  3. रिपोर्ट से यह स्पष्ट होता है कि सतत विकास के लक्ष्य पाने की दिशा में हुई अब तक की प्रगति असमान तो है ही, यह अति धीमी भी है.
  4. इसकी धीमी गति से 2030 तक गरीबी, स्वास्थ्य और समानता से सम्बंधित लक्ष्यों की प्राप्ति संभव प्रतीत नहीं हो रही है.
  5. इन लक्ष्यों की प्राप्ति में कुछ तत्त्व आड़े आ रहे हैं. ये हैं – जलवायु में तेजी से होता परिवर्तन, युद्ध, असमनता, कुछ क्षेत्रों में दरिद्रता का निवारण नहीं हो पाना, भुखमरी तथा त्वरित शहरीकरण.
  6. इस रिपोर्ट के अनुसार अब विश्व में 2015 की तुलना में 2016 में 18 ऐसे देश हो गये हैं जहाँ भूख की समस्या बनी हुई है.

GS Paper 3 Source: The Hindu

the_hindu_sansar

Topic : Unispace+50

  1. आज से कई वर्ष पूर्व संयुक्त राष्ट्र ने बाह्य अन्तरिक्ष (outer space) में खोज करने और उसके शांतिपूर्ण उपयोग के विषय में एक सम्मलेन आयोजित किया था.
  2. हाल ही में इस आयोजन की 50वीं वर्षगाँठ Unispace +50 नाम से मनाई गई.
  3. इस कार्यक्रम का आयोजन संयुक्त राष्ट्र के वियेना अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में हुआ.
  4. इस कार्यक्रम में भूतकाल में बाह्य अन्तरिक्ष में हुई खोजों और गतिविधियों तथा भविष्य में उसके सम्भावित उपयोगों के विषय में चर्चा हुई.

Read Sansar Daily Current Affairs >> Sansar DCA

Books to buy

5 Comments on “Sansar डेली करंट अफेयर्स, 23 June 2018”

  1. Hello sir I m prakash bhardwaj from roorkee uk .. N mai upsc preparation kr rha hu. N 2019 mera target h so maine study to start kr di hai jisme mere ncert books political science, geo, n eco ki 2 time reading ho chuki h…. N polity ke liye ek bar m.laxmikant 5th edition ki bi reading ho chuki h but fir bi sir bahut cnfusn n doubts hai… So aap kuch tips de skte hai

    N kya aap kisi bi individual sbjct ke according kuch chapters share kr skte hai jisme se exam me ques aate hai bcz Hume itni knowledge nhi h ki kya pdhna or kya nhi… Or mai sab kuch hi pdh rha hu books me se so plz can u help me sir

    1. hi prakash, i can understand your problem.
      Blog ke jarie sab kuch bata paana mushkil ho jata hai. islie maine naya youtube channel khola hai…jispe kaam karna jald hi start karne wala hu.

      aapke doubts wahi pe poori karuga, youtube pe sansar lochan search kar ke subscribe kar le.

  2. Sir plz help me Mai IAS ki preparation ke liye ncrt start karna chahti hu but mujhe ye nahi samajh aaraha hai ki jab Mai bookstall pe book Leni jaaungi to kon kon si ncrt books lungi hindi english sari kuch samajh nahi aa Raha or old ncrt lu ya new ncrt or ncrt hindi me available hai ya nahi sir plz btaaoge or ek or question hai sir Mai hindi medium se hu sir meri English kuch khasa weak nahi hai but Mai English chijo Ko samajh to leti ho easily Lekin unhe yaad kiye bager likh nahi Sakti bahot jyada or hindi me bhi easily samajh paati hu or ek Baar padhne ke Baad easily likh leti hu to mujhe samajh nahi aa Raha ki hindi me du exam ya English me or hindi me koi newspaper bhi achha samajh nahi aata the Hindu English me hai Sabse best kya Karu

    1. यदि आप हिंदी भाषा में सहज हो तो हिंदी माध्यम से ही तैयारी करें.
      बुकस्टोर में जाकर छठी से बारहवीं तक के भूगोल, अर्थशास्त्र, इतिहास, राजनीति विज्ञान की NCERT किताबें खरीद लें. हर विषय हर क्लास में उपलब्ध नहीं हैं. इसलिए इन विषयों की जितनी भी किताबें मिलें उन्हें खरीद कर पढ़ना शुरू कर दें.
      यदि कुछ और भी पूछना है तो मुझे मेल करें >> sansarlochan@gmail.com

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.