Sansar डेली करंट अफेयर्स, 11 December 2020

Sansar LochanSansar DCALeave a Comment

Sansar Daily Current Affairs, 11 December 2020


GS Paper 1 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Art and Culture.

Topic : Hampi stone chariot now gets protective ring

संदर्भ

हाल ही में, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India – ASI) ने हम्पी में विजय विट्ठल मंदिर के सामने प्रतिष्ठित पत्थर निर्मित रथ (chariot) को छूने अथवा उस पर चढ़ने और किसी भी तरह की क्षति से बचाने के लिए एक चेन बैरिकेड लगा दिया है.

ये पत्थर निर्मित रथ, हम्पी में सर्वाधिक अधिक देखे जाने वाले स्मारकों में से एक हैं और इसे अतिरिक्त सुरक्षा की आवश्यकता है.

hampi

पत्थर निर्मित रथ के विषय में

  1. मंदिर परिसर में स्थापित यह पत्थर निर्मित रथ, ‘गरुड़को समर्पित एक मंदिरहै, हालांकि इसमें से गरुड़ की प्रतिमा अब विद्यमान नहीं है.
  2. हम्पी का रथ भारत के तीन प्रसिद्ध रथों में से एक है, अन्य दो पत्थर निर्मित रथ कोणार्क, ओडिशा और महाबलीपुरम, तमिलनाडु में स्थापित हैं.
  3. कला इतिहासकारों के अनुसार- हम्पी के रथ मंदिर की सूक्ष्म कलाकारी, विजयनगर शासकों (14–17 शताब्दीईसवी) के संरक्षण में मंदिर वास्तुकला उच्च कौशल को दर्शाती है.

हम्पी

  • चौदहवीं शताब्‍दी के दौरान मध्‍यकालीन भारत के महानतम साम्राज्‍यों में से एक विजयनगर साम्राज्‍य की राजधानी हम्‍पी कर्नाटक राज्‍य में स्थित है.
  • हम्पी, उत्तर में तुंगभद्रा नदी और अन्‍य तीन ओर से पथरीले ग्रेनाइट के पहाड़ों से घिरा हुआ है. हम्पी के चौंदहवीं शताब्‍दी के भग्‍नावशेष यहाँ लगभग 26 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैले हुए हैं.
  • विजयनगर शहर के स्मारक जिन्हें विद्या नारायण संत के सम्‍मान में विद्या सागर के नाम से भी जाना जाता है, को वर्ष 1336-1570 ईस्वी के बीच हरिहर-I से लेकर सदाशिव राय आदि राजाओं ने बनवाया था. यहाँ पर सबसे अधिक इमारतें तुलुव वंश (Tuluva Dynasty) के महान शासक कृष्णदेव राय (1509 -30 ईस्वी) ने बनवाई थीं.
  • हम्‍पी के मंदिरों को उनकी बड़ी विमाओं, पुष्प अलंकरण, स्‍पष्‍ट नक्काशी, विशाल खम्‍भों, भव्‍य मंडपों एवं मूर्ति कला तथा पारंपरिक चित्र निरुपण के लिये जाना जाता है, जिसमें रामायण और महाभारत के विषय शामिल किये गए हैं.
  • हम्‍पी में मौजूद विठ्ठल मंदिर विजय नगर साम्राज्य की कलात्मक शैली का एक उत्‍कृष्‍ट उदाहरण है. एक पत्‍थर से निर्मित देवी लक्ष्‍मी, नरसिंह तथा गणेश की मूर्तियाँ अपनी विशालता एवं भव्‍यता के लिये उल्‍लेखनीय हैं. यहाँ स्थित जैन मंदिरों में कृष्‍ण मंदिर, पट्टाभिराम मंदिर, हजारा राम चंद्र और चंद्र शेखर मंदिर प्रमुख हैं.

मेरी राय – मेंस के लिए

 

ईको फ्रैंडली टूरिज्म आज नई अवधारणा नहीं है, बल्कि वर्तमान परिस्थितियों ने इसे पर्यटन का एक अनिवार्य अंग बना दिया है. सामान्य शब्दों में कहें तो ईको फ्रैंडली टूरिज्म का अर्थ है, किसी भी स्थल की यात्रा और सैर-सपाटे के दौरान अपने क्रियाकलापों से उस स्थान विशेष के पर्यावरण और पारिस्थितिकी को किसी भी प्रकार की क्षति न पहुंचाना. सच्चाई तो यह है कि यह बात हम सबकी सिविक सेंस से भी जुड़ी है.

पर्यटन के बढ़ते शौक के कारण पर्यटन स्थलों पर भीड़ बढ़ने लगी और उसके साथ व्यवसायीकरण भी. लंबे समय तक मौज-मस्ती के शौकीन पर्यटकों के गैर जिम्मेदारीपूर्ण रवैये के बने रहने और व्यवसायीकरण के बढ़ते अनपेक्षित दबाव ने ऐसे स्थलों के पर्यावरण पर विपरीत असर डाला ही, साथ ही वहां की सुंदरता को भी प्रभावित करना शुरू कर दिया. पर्यावरणविद् और शोधकर्ताओं ने इसके खतरनाक परिणामों को जब सबके सामने रखना प्रारंभ किया, तब ‘ईको-फ्रैंडली टूरिज्म’ की धारणा ने जन्म लिया. ‘हमारा पर्यावरण सुरक्षित है तो हमारी पृथ्वी सुरक्षित है’. इस शाश्वत सत्य को समझते हुए संयुक्त राष्ट्र ने सदस्य राष्ट्रों का ध्यान ईको टूरिज्म की ओर आकर्षित किया.

इन सभी प्रयासों के बावजूद सच्चाई यह है कि सरकारी व गैर सरकारी संगठनों द्वारा किए जा रहे इन प्रयासों से तभी सकारात्मक परिणाम हासिल किए जा सकते हैं, जब सैलानी भी इस धारणा को समझते हुए अपनी जिम्मेदारी को समझे और तथा अपने व्यवहार और गतिविधियों को पर्यावरण के अनुकूल बनाएं, जिसके लिए सुधार की शुरुआत हमें खुद से करनी होगी.


GS Paper 2 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Bilateral, regional and global groupings and agreements involving India and/or affecting India’s interests

Topic : ASEAN DEFENCE MINISTERS’ MEETING PLUS

संदर्भ

हाल ही में रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने एडीएमएम-प्लस की 10वीं वर्षगांठ पर वियतनाम के हनोई में ऑनलाइन आयोजित 14वें आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लिया. इस दौरान उन्होंने अपने संबोधन में क्षेत्र में शान्ति बनाये रखने पर बल दिया.

वार्ता के मुख्य बिन्दु

  • अपने संबोधन के दौरान, श्री राजनाथ सिंह ने एशिया में एक बहुलवादी, सहकारी सुरक्षा व्यवस्था के लिए बातचीत और सामंजस्य को बढ़ावा देने में आसियान- केन्द्रित मंच की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में चर्चा की.
  • उन्होंने रणनीतिक संवाद और व्यावहारिक सुरक्षा कार्यक्रमों के माध्यम से बहुपक्षीय सहयोग को आगे बढ़ाने में पिछले एक दशक में एडीएमएम प्लस की सामूहिक उपलब्धियों पर प्रकाश डाला.
  • उन्होंने समुद्री सुरक्षा, मानवीय सहायता और आपदा राहत, आतंकवाद निरोध और शांति रक्षा अभियानों सहित प्रमुख क्षेत्रों में सर्वोत्तम प्रचलनों को साझा करने में सात विशेषज्ञ कार्य समूहों की उपलब्धियों की सराहना की.
  • उन्होंने कहा कि हिन्द-प्रशांत क्षेत्र विशेष रूप से कई पारंपरिक और गैर-पारंपरिक सुरक्षा खतरों का सामना कर रहा है.
  • रक्षा मंत्री ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में एक खुली और समावेशी व्यवस्था कायम करने, देशों की अखंडता, बातचीत के माध्यम से विवादों का शांतिपूर्ण समाधान और अंतर्राष्ट्रीय नियमों व कानूनों का पालन करने आदि पर जोर दिया. उन्होंने समुद्री कानून पर संयुक्त राष्ट्र के कन्वेंशन (यूएनसीएलओएस) के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय जल में सभी के लिए नेविगेशन की स्वतंत्रता हेतु भारत के समर्थन को दोहराया.

 ADMM-PLUS क्या है?

  • ADMM-Plus का पूरा नाम है – ASEAN Defence Ministers’ Meeting Plus
  • ADMM-Plus की स्थापना के लिए सिंगापुर में 2007 में सम्पन्न ADMM की दूसरी बैठक में अवधारणा पत्र अंगीकृत किया गया था.
  • ADMM-Plus वह रक्षा मामलों से सम्बंधित मंच है जो क्षेत्रीय सुरक्षा से सम्बन्धित हैं. इसके माध्यम से आसियान देशों और उनके आठ संवाद भागीदारों के बीच सामरिक संवाद एवं व्यावहारिक सहयोग को बढ़ावा दिया जाता है.
  • इसका पहला सम्मेलन 2010 में वियतनाम की राजधानी हनोई में हुआ था. उस सम्मलेन में रक्षा मंत्रियों ने आपस में व्यवहारिक सहयोग के लिए पाँच विषयों पर सहमति दी थी. ये विषय हैं – सामुद्रिक सुरक्षा, आतंकवाद निरोध, शान्ति बनाए रखने की कारर्वाइयाँ, मानवीय सहायता एवं आपदा राहत तथा सैन्य औषधियाँ.
  • 2013 में इस सूची में एक नया क्षेत्र भी जोड़ा गया जो है – मानवीयता पर आधारित खदान सुरक्षा.

उद्देश्य

  • यह देखते हुए भी कि अलग-अलग आसियान देशों की अपनी-अपनी क्षमता है, ADMM –Plus आसियान देशों को लाभ पहुँचाने और साझा सुरक्षा चुनौतियों से निबटने के लिए क्षमता वर्धन का काम करता है.
  • आसियान देशों के रक्षा स्थापनाओं के बीच पारस्परिक विश्वास और भरोसा बढ़ाने के लिए संवाद और पारदर्शिता पर बल देना.
  • क्षेत्र के समक्ष उपस्थित अंतर्देशीय सुरक्षा चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए रक्षा और सुरक्षा में सहयोग के माध्यम से क्षेत्रीय शान्ति और स्थिरता को बढ़ावा देना.
  • बाली समझौता 2 में वर्णित क्षेत्र में शान्ति, स्थिरता व लोकतंत्र और समृद्धि विषयक आसियान की आकांक्षा को देखते हुए आसियान सुरक्षा समुदाय को साकार करने में योगदान करना.
  • शांतिपूर्ण, सुरक्षित और समृद्ध आसियान बनाने तथा संवाद भागीदारों एवं अन्य मित्रों के साथ बाह्य सम्बन्धों की अग्रगामी रणनीतियाँ अंगीकृत करने के लिए Vientiane Action Programme का कार्यान्वयन करने में सहायता करना.

GS Paper 3 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Awareness in IT.

Topic : QUANTUM SUPREMACY

संदर्भ

शोधकर्ताओं ने एक क्वांटम कंप्यूटर आद्यरूप (प्रोटोटाइप) निर्मित किया है, जो विश्व के सबसे उन्‍नत सुपर कंप्यूटर की तुलना में लगभग 100 ट्रिलियन गुना तेजी से निश्चित गणना करने में सक्षम है.

इसके साथ ही, चीन यह तकनीक विकसित करने वाला विश्व का प्रथम देश बन गया है. पिछले वर्ष, गूगल ने सिकमा (Sycamore) नाम से एक कंप्यूटर का निर्माण किया था. जिसने एक निश्चित गणना को करने में 200 सेकंड का समय लिया था, जिसे स्पष्ट रूप से पूरा करने में तीव्रतम सुपर कंप्यूटरों को लगभग 10,000 वर्ष का समय लगेगा, इसलिए इसके माध्यम से क्वांटम सुप्रीमेसी का दावा किया गया था.

क्वांटम सुपेर्मेसी क्या है?

आमतौर पर इलेक्ट्रॉनों या फोटॉनों जैसे उप-परमाणु कणों को एक समूह में इस प्रकार से जोड़ा जा सकता है जो बाइनरी बिट्स की समान संख्या से अधिक प्रसंस्करण शक्ति की अनुमति देता है. उन गुणों में से एक को सुपरपोजिशन के रूप में जाना जाता है और दूसरे को उलझाव कहा जाता है.

लाभ

  • क्वांटम कंप्यूटिंग का उपयोग हम वैश्विक मुद्दों और अनुसंधान परियोजनाओं के दृष्टिकोण को बदलने के लिए कर सकते हैं. ये मशीनें अंततः कुछ तकनीकों को सुरक्षित करने के लिए उपयोग की जाने वाली एन्क्रिप्शन तकनीकों को हराने में सक्षम हो सकती हैं, जैसे कि कंप्यूटर द्वारा किए गए वित्तीय लेनदेन.
  • इस टेक्नोलॉजी के जरिए हैल्थकेयर, कम्यूनिकेशन, फाइनेंशियल सर्विसेज, ट्रांसपोर्ट, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के क्षेत्र में बड़े कार्य होंगे.
  • साइबर सुरक्षा को बड़ा खतरा भी है क्योंकि इससे परंपरागत इंटरनेट सिक्योरिटी प्रोग्रामों को भी ब्रेक किया जा सकता है.
  • क्वांटम प्रोसेसर सुपरकंडक्टिविटी यानी पूर्ण जीरों डिग्री तापमान पर कार्य करते हैं. तापमान में अंतर से क्यूबिट पर प्रभाव पड़ता है.

GS Paper 3 Source : The Hindu

the_hindu_sansar

UPSC Syllabus : Inclusive growth and issues arising from it.

Topic : LAF and MSF

संदर्भ

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (RRBs) को समायोजन सुविधा (Liquidity Adjustment Facility- LAF) व सीमांत स्थायी सुविधा (Marginal Standing Facility- MSF) व्यवस्था का लाभ उठाने की अनुमति प्रदान की है और साथ ही कॉल या नोटिस मनी मार्केट की अनुमति प्रदान की है.

वर्तमान में, RRBs को RBI की चलनिधि व्यवस्थाओं तक पहुंच के साथ-साथ कॉल या नोटिस मनी मार्केट की सुविधा प्राप्त करने की अनुमति नहीं है.

उद्देश्य

इस कदम का उद्देश्य इन ऋणदाताओं के लिए बेहतर तरलता प्रबंधन की सुविधा प्रदान करना और मुद्रा बाजार (money market) में उनकी भागीदारी का विस्तार करना है.

LAF

LAF का उपयोग मौद्रिक नीति में किया जाता है, जो राज्य सरकार की प्रतिभूतियों सहित केंद्र सरकार की प्रतिभूतियों की संपार्श्विकता के आधार पर पुनर्खरीद समझौते (रेपो) {(repurchase agreement (repo)} के माध्यम से बैंकों को RBI से धन उधार लेने या रिवर्स रेपो (reverse repo) का उपयोग करके RBI को ऋण देने में सक्षम बनाता है.

MSF

अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों के लिए एक अत्यधिक अल्पकालिक उधार योजना है. RBI द्वारा सीमांत स्थायी सुविधा की शुरुआत इंटर-बैंक मार्केट में एक दिवसीय (overnight) उधार दरों में अस्थिरता को कम करने और वित्तीय प्रणाली में सहज मौद्रिक संचरण को सक्षम करने के लिए की गई थी. सामान्यतः MSF  दर रेपो दर से अधिक होती है.

कॉल/नोटिस मनी मार्केट

भारतीय मुद्रा बाजार के एक महत्वपूर्ण माग का निर्माण करता है. कॉल मनी मार्केट (मांग मुद्रा बाजार) के तहत एक दिन के आधार पर धन का लेन-देन किया जाता है जबकि नोटिस मनी मार्केट के तहत, 2 से 14 दिनों के बीच की अवधि के लिए धन का लेन-देन किया जाता है.

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के बारे में

  • RRBs वित्तीय संस्थान हैं, जो कृषि और अन्य ग्रामीण क्षेत्रकों के लिए पर्याप्त ऋण सुनिश्चित करते हैं.
  • इसका उद्देश्य में, व्यापार और उद्योग के विकास के लिए लघु, सीमांत और जनसंख्या के सामाजिक-आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए ऋण का संवितरण करना है.
  • RRBs को नरसिम्हम कार्यकारी समूह (वर्ष 1975) की अनुशंसाओं के आधार पर, और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक अधिनियम, 1976 (RRB Act, 1976) की विधि के तहत स्थापित किया गया था. इसमें केंद्र सरकार, संबंधित राज्य सरकार और प्रायोजक बैंक 50:15:55 के अनुपात में इक्विटी धारक हैं.

इस टॉपिक से UPSC में बिना सिर-पैर के टॉपिक क्या निकल सकते हैं?

रेपो रेट क्या होता है?

बैंक अपने रोज के खर्चों को चलाने के लिए RBI से पैसा उधार लेते हैं. बैंक जिस दर पर रिज़र्व बैंक से उधार लेते हैं, उसे रेपो रेट कहते हैं. इससे उलट, जब बैंक अपना पैसा रिज़र्व बैंक में जमा करते हैं, तो उन्हें ब्याज़ मिलता है. इस ब्याज की दर को ही रिवर्स रेपो रेट कहते हैं.

दीर्घावधि रेपो परिचालन (LTRO) क्या है?

  • रेपो रेटअल्पावधि के लिए होता है. वहीं लॉन्ग टर्म रेपो ऑपरेशन्स एक से तीन साल तक के लिए होता है. यानी बैंक आरबीआई से एक से तीन साल तक के लिए कर्ज ले सकते हैं.
  • RBI तरलता समायोजन सुविधा (Liquidity Adjustment Facility- LAF) औरसीमांत स्थायी सुविधा (Marginal Standing Facility- MSF) के माध्यम से बैंकों को उनकी तत्काल ज़रूरतों हेतु से 28 दिनों के लिये ऋण मुहैया कराता है, जबकि LTRO के माध्यम से RBI द्वारा रेपो रेट पर ही उनको 1 से 3 वर्ष के लिये ऋण उपलब्ध कराया जाएगा.

Prelims Vishesh

Mahaparinirvan Diwas :-

  • 6 दिसंबर को डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर की पुण्यतिथि की याद में महापरिनिर्वाण दिवस के रूप में मनाया जाता है.
  • महापरिनिर्वाण परिनिर्वाण, बौद्ध धर्म के प्रमुख सिद्धांतों और लक्ष्यों में से एक है. यह संस्कृत शब्द (पाली के परिनिब्बाना का रूप) है, जिसका अर्थ है “मृत्यु के बाद निर्वाण”, जो मृत्यु के पश्चात निर्वाण प्राप्त करने की उपलब्धि को संदर्भित करता है.
  • बौद्ध ग्रंथ,’महापरिनिब्बान सुत्त’ के अनुसार, 80 वर्ष की आयु में भगवान बुद्ध की मृत्यु को मूल रूप में महापरिनिर्वाण माना जाता है.

Plant Based Vaccine – PBV :-

  • यह वैक्सीन रोगों के विरुद्ध टीकाकरण के लिए एक वहनीय और कुशल विकल्प के रूप में उभर रही है.
  • PBVs एक प्रकार के पुनः संयोजक टीके हैं, जो चयनित पौधों में विशेष रोगजनकों के विरुद्ध एंटीजन का प्रवेश कराते हैं.
  • इसका उद्देश्य वायरस की प्रतिकृति बनाने की बजाय, जीवित पौधों में वायरस सदृश्य प्रोटीन का निर्माण करना है.
  • जब यह टीका लगाया जाता है तब एक (9 एक वायरस का अनुकरण करता है और प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा पहचाना जाता है, तब इस प्रकार एक सुरक्षात्मक प्रतिक्रिया उत्पन्न होती है. एक वैक्सीन में सामान्यतः किसी रोग के रोगाणु का मृत या दुर्बल संस्करण विद्यमान होता है.

Diem :-

  • यह फेसबुक समर्थित क्रिप्टोकरेंसी है, जिसे पूर्व नाम ‘लिब्रा’ से नवीन नाम डिएम (Diem) दिया गया है.
  • यह बहुविध सिक्के होंगे तथा प्रत्येक सिक्का एक भिन्‍न मुद्रा द्वारा समर्थित होगा, जिनका मुद्रा के स्थान पर कारोबार किया जा सकता है. विदित हो कि क्रिप्टोकरेंसी एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा है, जो सुरक्षा और जालसाजी विरोधी उपायों के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करती है.

PASSEX 2020 :-

  • यह पूर्वी हिंद महासागर क्षेत्र (IOR) में भारतीय और रूसी नौसेनाओं के मध्य संयुक्त नौसेना अभ्यास है.
  • संयुक्त अभ्यास इंद्र, सितंबर 2020 में उत्तरी हिंद महासागर में दोनों देशों के मध्य आयोजित किया गया था.

Click here to read Sansar Daily Current Affairs – Sansar DCA

November, 2020 Sansar DCA is available Now, Click to Download

Leave a Reply

Your email address will not be published.