तीन तलाक ख़त्म, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला – 22 August, 2017

RuchiraBills and Laws: Salient Features, Polity Notes3 Comments

स्वतंत्रता दिवस के ठीक 1 week के बाद मुस्लिम महिलाएँ भी स्वतंत्र हो गयीं. सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा judgment दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने 22 August, 2017 को तीन तलाक को ख़त्म कर दिया. आज से और अभी से मुस्लिम पुरुष तीन बार तलाक बोलकर/लिखकर अपनी पत्नी को आसानी से तलाक नहीं दे सकता. पाँच जजों के बेंच ने … Read More

भारतीय संविधान की मूलभूत संरचना से सम्बंधित Landmark Cases

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes2 Comments

सर्वोच्च न्यायालय ने कई मामलों में बताया है कि संविधान के आधारभूत ढाँचे में कौन-कौन से तत्व उपस्थित हैं. यह सूची सर्व-समावेशी (all inclusive) या अंतिम (final) न हो कर सिर्फ examples के लिए हैं. न्यायालय समय-समय पर कुछ तत्वों को इस सूची में शामिल करता रहा है और भविष्य में भी कर सकता है. आज हम कुछ ऐसे  ही … Read More

भारतीय संविधान के स्रोत – Sources of Indian Constitution

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes14 Comments

जब भारतीय संविधान सभा (Constituent Assembly) ने संविधान को बनाने की प्रक्रिया प्रारम्भ की तो संविधान निर्माताओं ने सोचा कि जिन देशों में संविधान पहले से लिखे जा चुके हैं, क्यों न उन संविधानों के उपबंधों (appropriate provisions) का प्रयोग भारतीय संविधान के लिए किया जाए? फिर क्या था? संविधान निर्माताओं ने अमेरिका, ब्रिटेन और कई अन्य देशों के संविधानों … Read More

विधानसभा और विधान परिषद् के बीच अंतर – Difference between Legislative Assembly and Council

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes13 Comments

विधानसभा और विधान परिषद् को संविधान के द्वारा अलग-अलग कार्य दिए गए हैं. यदि देखा जाए तो शक्ति और अधिकार के मामले में विधानसभा विधान परिषद् से कहीं आगे है. वही हाल हमें केंद्र में देखने को मिलता है जहाँ लोक सभा राज्य सभा से अधिक शक्तिशाली है. ऐसे कुछ ही मामले हैं जिनमें विधान परिषद् विधानसभा की बराबरी कर … Read More

विदेशी निवासियों के विशेष दर्जे (Special Statuses of Foreign Residents)

Sansar LochanIndian Constitution, Polity Notes4 Comments

जो लोग विदेश में रहते हैं, उनको भारत सरकार नागरिकता से भिन्न एक विशेष दर्जा देती है, जिसका सम्बन्ध उस व्यक्ति को भारत सरकार की ओर से मिलने वाली सुविधाओं से होता है. विशेष दर्जों में ये तीन दर्जे महत्त्वपूर्ण हैं – अनिवासी भारतीय (NRI- Non-Residents Indians) भारतीय मूल के व्यक्ति (PIO – Persons of Indian Origin) भारत के समुद्रपारीय … Read More

ज्वार-भाटा क्या है और कैसे उत्पन्न होता है? Types of Tides

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल9 Comments

ज्वार-भाटा (tide) वे तरंग हैं…In fact वे सागरीय तरंगे हैं, जो पृथ्वी, चाँद और सूर्य के आपस के आकर्षण से उत्पन्न होते हैं. जब समुद्री जल ऊपर आती है तो उसे “ज्वार” और जब नीचे आती है तो “भाटा” कहते हैं. चंद्रमा के आकर्षण शक्ति का पृथ्वी के सागरीय जल पर सर्वाधिक प्रभाव पड़ता है. ज्वार-भाटा चंद्रमा और सूर्य के पृथ्वी … Read More

भौतिक भूगोल : महत्त्वपूर्ण शब्दावली और तथ्य – Geography Glossary

Sansar LochanGeography, विश्व का भूगोल16 Comments

आज हम भौतिक भूगोल के महत्त्वपूर्ण शब्दावली (Geography related Glossary in Hindi) को विवरण के साथ (with detail) आपके सामने रखेंगे. भूगोल के सभी पोस्ट आपको इस पेज पर देख सकते हैं>> भूगोल नोट्स भूगोल से सम्बंधित शब्दावली उपसौर और अपसौर पृथ्वी की परिक्रमा की दिशा पश्चिम से पूर्व है, जिस कक्षा में सूर्य पृथ्वी की परिक्रमा करती है, वह … Read More

[Quiz] औद्योगिक क्रांति से सम्बंधित सवाल-जवाब

Sansar LochanQuiz3 Comments

आज हम औद्योगिक क्रान्ति से सम्बंधित सवाल को हल करेंगे. इस Quiz/MCQ को खेलने से पहले हमारा यह पोस्ट जरुर पढ़ लें ताकि आप अधिक से अधिक सवाल को सही हल कर सकें >> Industrial Revolution Summary of Sansar Quiz औद्योगिक क्रांति की परिभाषा. औद्योगिक क्रान्ति की शुरुआत किस देश से हुई थी? औद्योगिक क्रांति के फलस्वरूप समाज में एक … Read More

औद्योगिक क्रांति – Industrial Revolution in Hindi

Dr. SajivaWorld History17 Comments

औद्योगिक क्रांति

“क्रांति” शब्द से साधारणतया आकस्मिक उथल-पुथल का बोध होता है. लेकिन औद्योगिक क्रांति (Industrial Revolution) के साथ हम वैसी बात नहीं पाते हैं. साधारणतः लोहे, काँसे और दूसरी-दूसरी चीजों के उत्पादन के ढंग में आमूल परिवर्तन को “औद्योगिक क्रांति (Industrial Revolution)” की संज्ञा दी जाती है. दस्तकारी के स्थान पर वैज्ञानिक अनुसंधानों के परिणामस्वरूप कारखानों का जन्म हुआ, उत्पादन में … Read More

IAS परीक्षा के लिए कितने Period का Current Affairs पढ़ना जरुरी है?

Sansar LochanCivil Services Exam, Video24 Comments

[vc_row][vc_column][vc_column_text]अक्सर लोग मुझसे यह सवाल पूछते हैं कि IAS परीक्षा में कितने दिन/महीने/साल तक के Current Affairs related topics cover किये जाते हैं. 1 साल या, 6 महीने….??? आखिर कितने period तक का Current Affairs इस परीक्षा के लिए पढ़ना पर्याप्त होगा ? हाल ही में हमने विडियो के जरिये आपको अपने सवाल रखने का अवसर प्रदान किया है, उसी … Read More