Sansar डेली करंट अफेयर्स, 23 December 2017

RuchiraSansar DCA4 Comments

Sansar Daily Current Affairs, 23 December 2017 GS Paper 3: Topic: गंगा ग्राम प्रोजेक्ट – Ganga Gram Project नमामि गंगे योजना (Namami Ganga Project) के अंतर्गत जिन पाँच राज्यों (उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल) से होकर गंगा बहती है, के तट पर स्थित कुल  4,470 गाँवों को खुले शौच से मुक्त (open defecation-free – ODF) कर दिया गया … Read More

विभिन्न PCS Exams में History से पूछे गए सवाल

Sansar LochanQuiz4 Comments

विभिन्न PCS Exams में History से पूछे गए सवाल – UPPSC, MPSC, RPSC, BPSC, JPSC. इतिहास के सवाल in Quiz format/MCQ with answers in Hindi. Practice questions and share your score in comment. Summary of Quiz Who made khajuraho temple Niralamba Saraswati First muslim president of congress बौद्ध संघ-जीवन के नियमों का संग्रह A post–dated cheque on a crumbling bank – whose … Read More

मौर्यकालीन अधिकारी और उनके कार्य – Mauryan Officers

Dr. SajivaAncient History, HistoryLeave a Comment

मौर्यकालीन प्रशासनिक व्यवस्था (Mauryan Administrative System) की जानकारी हमें मुख्य रूप से कौटिल्य के अर्थशास्त्र और आंशिक रूप से अशोक के शासनादेशों (शिलालेख, स्तम्भ लेख आदि) से मिलती है. यूनानी विवरणों में भी कुछ मौर्यकालीन अधिकारीयों (mauryan officers) के नाम आते हैं. अर्थशास्त्र में मौर्य शासन की विस्तृत जानकारी दी गई है. इससे पता चलता है कि उस समय शासन की एक सुदृढ़ व्यवस्था थी जिसके बल … Read More

52nd Amendment – दल-बदल पर कानूनी रोक in Hindi

RuchiraIndian Constitution, Polity NotesLeave a Comment

राजनीतिक दल-बदल लम्बे समय से भारतीय राजनीति का एक रोग बना हुआ था और 1967 से ही राजनीतिक दल-बदल पर कानूनी रोक (anti-defection law) लगाने की बात उठाई जा रही थी. अन्ततोगत्वा आठवीं लोकसभा के चुनावों के बाद 1985 में संसद के दोनों सदनों ने सर्वसम्मति से 52nd Amendment विधेयक पारित कर राजनीतिक दल-बदल पर कानूनी रोक लगा दी. इसे संविधान … Read More

Ockhi Cyclone के बारे में Full Information in Hindi

Sansar LochanCurrent Affairs1 Comment

भारत में हर साल भारतीय तट विशेष रूप से पूर्वी तट, अनेक चक्रवात संबंधी तूफानों को झेलता है. इस साल, Ockhi नामक एक शक्तिशाली चक्रवात पूर्वी तट से भारत में आकर भारी तबाही का कारण बना. इस तूफ़ान ने तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के जीवन को व्यापक रूप से नुकसान पहुँचाया है. Ockhi दक्षिणी तमिलनाडु और केरल में भारी … Read More

संसद और विधान मंडल की तुलना : (विधेयक के सन्दर्भ में)

RuchiraIndian Constitution, Polity Notes2 Comments

कई बार परीक्षाओं में संसद (राज्य सभा+लोक सभा) या विधान मंडल (विधान परिषद्+विधान सभा) से इतने पेचीदे सवाल आ जाते हैं कि दिमाग ख़राब हो जाता है. इसलिए मैंने कोशिश किया है कि संसद और विधानमंडल के बीच अंतर या यूँ कहें कि तुलना (comparison) स्थापित करके तथ्यों को आपके सामने रखूँ. धन विधयेक को छोड़कर अन्य विधेयकों (other bills) … Read More

विदेशी यात्री – Foreign Travellers in Indian History

Dr. SajivaAncient History, History2 Comments

foreign travellers in india

आज हम भारत के प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक काल में विदेशों से आये यात्रियों की list आपको बताने वाले हैं. ये विदेशी यात्री (foreign travellers) भारतीय इतिहास में बहुत ही महत्त्वपूर्ण स्थान रखते हैं. इनमें से कई यात्रियों की किताबें (books) भारत के अमूल्य इतिहास को ताजा करती हैं. उनकी किताबों से हमें पता चलता है कि उस समय भारत … Read More

भारत की प्रमुख नदियाँ और उनके उद्गम स्थल – Rivers and Origin

Sansar LochanGeography, भारत का भूगोल16 Comments

bharat_ki_nadiyan

भारत की नदियों (Rivers of India) को चार समूहों में वर्गीकृत किया जा सकता है – 1) हिमालय की नदियाँ 2) प्रायद्वीपीय नदियाँ 3) तटीय नदियाँ 4) अन्तःस्थलीय प्रवाह क्षेत्र की नदियाँ. आज हम भारत की प्रमुख नदियों के विषय में बात करेंगे और वे कहाँ से निकलती (origin) हैं, उनकी सहायक नदी (Tributary river) कौन हैं और ये कहाँ … Read More

मदन मोहन मालवीय (1861-1946 ई.) – Biography in Hindi

Dr. SajivaBiography, History, Modern HistoryLeave a Comment

madan_mohan_malviya

मदन मोहन मालवीय Biography पंडित मदन मोहन मालवीय जा जन्म एक ब्राह्मण परिवार में 1861 ई. में प्रयाग (इलाहाबाद) में हुआ था. उनके सात भाई-बहन थे. 1884 ई. में स्नातक की परीक्षा पास करने के बाद पंडित मदन मोहन मालवीय कानून के छात्र बने और 1886 ई. में कानून की परीक्षा पास करने के बाद कांग्रेस के संपर्क में आये. उन्हें महामना की उपाधि दी … Read More

Credit Rating Agencies क्या हैं और इनके क्या काम हैं?

Sansar LochanEconomics Notes, Finance6 Comments

credit rating agencies

नाम से ही स्पष्ट है कि Credit Rating का अर्थ कुछ इस तरह निकला जा सकता है – आपके क्रेडिट की रेटिंग. यानी कोई ऐसी संस्था है जो किसी बड़े कंपनी के मालिक के पॉकेट को check करेगी कि उसके पास कितने पैसे हैं? उसके पास पैसे की कितनी क्षमता है? पर सवाल यह उठता है कि आखिर ये संस्था … Read More