श्री महाकाल लोक परियोजना, उज्जैन

Sansar LochanCurrent AffairsLeave a Comment

हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा मध्यप्रदेश के उज्जैन में श्री महाकाल लोक में “महाकाल लोक परियोजना” का पहला चरण राष्ट्र को समर्पित किया गया।

UPSC Syllabus: विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकारी नीतियां और हस्तक्षेप और उनके डिजाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे.

महाकाल लोक परियोजना के बारे में

उल्लेखनीय है कि लगभग 900 मीटर लम्बाई वाले ‘महाकालेश्वर मंदिर कॉरिडोर’ के विकास की परियोजना दो चरणों में क्रियान्वित की जाएगी।

इस परियोजना का उद्देश्य इस पूरे क्षेत्र में भीड़भाड़ को कम करना और विरासत संरचनाओं के संरक्षण और जीर्णोद्धार पर विशेष जोर देना है।

इसमें भगवान शिव और देवी शक्ति की लगभग 200 मूर्तियां और अन्य देवी-देवताओं की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी।

परियोजना की कुल लागत लगभग 850 करोड़ रुपये है। इस मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों की संख्या वर्तमान में लगभग 1.5 करोड़ प्रति वर्ष है और इसके दोगुना होने की आशा है।

प्रधान मंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार, ‘महाकाल लोक’ परियोजना के पहले चरण से तीर्थयात्रियों को विश्व स्तरीय आधुनिक सुविधाएं प्रदान करके मंदिर में आने वाले उनके अनुभव को समृद्ध बनाने में मदद मिलेगी।

“परियोजना के तहत, मंदिर परिसर का लगभग सात गुना विस्तार किया जाएगा। पूरी परियोजना की कुल लागत लगभग ₹850 करोड़ है। परियोजना के विकास की योजना दो चरणों में बनाई गई है,” पीएमओ ने कहा।

shri-mahakal-project

Click for – 

Current Affairs in Hindi

 

Print Friendly, PDF & Email
Read them too :
[related_posts_by_tax]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.