डार्क स्काई रिजर्व क्या है? | Dark Sky Reserve in Hindi

Richa KishoreScience TechLeave a Comment

भारत का पहला “डार्क स्काई रिजर्व” (Dark Sky Reserve)

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST) ने अगले तीन महीनों में लद्दाख के “हानले” में भारत का पहला “डार्क स्काई रिजर्व”  स्थापित करने की घोषणा की है। यह समुद्र तल से 4,500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित होगा और हनले डार्क स्काई रिजर्व (HDSR) चांगथांग वन्यजीव अभयारण्य के भीतर आएगा।

dark_Sky

डार्क-स्काई रिजर्व क्‍या होता है?

  • डार्क-स्काई रिजर्व, आमतौर पर पार्क या वेधशाला के आसपास एक ऐसा क्षेत्र होता है जो “कृत्रिम प्रकाश प्रदूषण” (artificial light pollution) को रोकता है।
  • “डार्क-स्काई मूवमेंट” का उद्देश्य आम तौर पर खगोल विज्ञान को बढ़ावा देना और खगोलीय अवलोकन के दौरान बाधा से बचना है।
  • अमेरिका का एक गैर-लाभकारी संगठन “इंटरनेशनल डार्क स्काई एसोसिएशन (IDSA)” निर्धारित मानदंडों के आधार पर ‘स्थानों’ को Internationak Dark Sky Place, पार्क, अभयारण्य और रिजर्व के रूप में नामित करता है।
  • इन क्षेत्रों का चुनाव IDSA पांच श्रेणियों (categories) में करता है – International Dark Sky Park, समुदाय, रिजर्व, अभयारण्य और शहरी नाइट स्काई क्षेत्र।
  • प्रमाणन प्रक्रिया ठीक उसी तरह है जैसे यूनेस्को द्वारा किसी क्षत्र को विश्व धरोहर स्थल टैग प्रदान किया जाता है या किसी क्षेत्र को बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में मान्यता दी जाती है। 2001 और जनवरी 2022 के बीच, विश्व स्तर पर 195 क्षेत्रों को International Dark Sky Places के रूप में मान्यता दी गई है.

हानले

  1. लद्दाख में चांगधांग की ‘हानले’ घाटी में नीलमखुल मैदान में सरस्वती पर्वत के ऊपर स्थित “हानले” एक शुष्क, ठंडा रेगिस्तान है जिसमें विरल मानव आबादी है।
  2. इसके निकट “हानले बौद्ध मठ” स्थित है।
  3. बादल रहित आसमान और कम वायुमंडलीय जल वाष्प इसे ऑप्टिकल, इन्फ्रोरेड, सब-मिलीमीटर और मिलीमीटर वेवलेंथ के लिए विश्व के सबसे अच्छे स्थलों में से एक बनाते हैं।

परियोजना के लिए लद्दाख को क्यों चुना गया?

लद्दाख एक अनोखा ठंडा रेगिस्तान है जो समुद्र तल से लगभग 3,000 मीटर ऊंचे पहाड़ी इलाकों में स्थित है। यहाँ बहुत ही ज्यादा सर्दी पड़ती है और न्यूनतम तापमान माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाती है, जिससे लद्दाख रहने योग्य नहीं रह जाता है।

लद्दाख शुष्क, सीमित वनस्पति वाला, अत्यधिक ऊंचाई और विरल आबादी वाला एक विशाल क्षेत्र है. इन कारकों के चलते यह क्षेत्र दीर्घकालिक खगोलीय वेधशालाओं और डार्क स्काई वाले स्थानों के लिए उपयुक्त है.

Read all articles about Science – Science Notes for UPSC in Hindi

Read them too :
[related_posts_by_tax]

Leave a Reply

Your email address will not be published.