Blogging- कब और कैसे start करें-tips and tricks

Sansar LochanOffbeat Jobs9 Comments

blogging
Print Friendly, PDF & Email

ब्लॉगिंग की दुनिया- World of Blogging

वैसे तो आपने कई बार ब्लॉग से सम्बंधित आर्टिकल (articles) पढ़ा होगा पर आज जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ वह कुछ ख़ास है. चलिए, कुछ प्रश्न और उत्तर के जरिये हम ब्लॉग के बारे में गहराई से जानते हैं.

 

क्या है ब्लॉग? What is a blog?

ब्लॉग शब्द अंग्रेजी के “वेब-ब्लॉग” का संक्षिप्त रूप है. इसकी शुरुआत 1998 ई. में हुई. ब्लॉग वेब-दुनिया पर उपलब्ध एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ आप एक लेखक के रूप में अपनी बातों को पूरी दुनिया के समक्ष रख सकते हैं. ब्लॉग लिखना ही ब्लॉगिंग कहलाता है और लिखने वाला एक ब्लॉगर.

 

ब्लॉग-होस्ट करना क्या होता है? What is blog-hosting?

web_hositng_providers

ब्लॉग-होस्ट एक ऐसी जगह है जहाँ से आप अपने डोमेन  (domain) को और फाइल-फोल्डर (file-folder)जैसे तमाम आवश्यक चीजों को नियंत्रित करते हैं. जब आपको एक पेड-साईट बनाना होता है तो आपको डोमेन नेम और ब्लॉग होस्टिंग दोनों खरीदनी पड़ती हैं. अधिकांश ब्लॉग होस्टिंग प्रोवाइडर आपको एकीकृत “वर्डप्रेस-ब्लॉग” (wordpress blog)और “डोमेन नेम” (domain name) दोनों देते हैं. ब्लॉग-होस्टिंग प्रोवाइडर में मुख्यतः गो-डैडी (godaddy), बिग-रॉक (bigrock), ब्लू-होस्ट (bluehost) इत्यादि का नाम प्रचलित (famous) है. Hostinger.in एक फ्री-होस्टिंग प्रोवाइडर (free hosting provider) है जिसमें आप फ्री अकाउंट बनाकर लिमिटेड वेब-स्पेस (limited web-space) के साथ अपना ब्लॉग बना सकते हैं.

 

क्या ब्लॉगिंग फ्री है? (Is blogging free?)

हाँ, ब्लॉगिंग करना बिल्कुल फ्री है. पर आजकल हर क्षेत्र में टर्म एंड कंडीशन का फंडा रहता है जो ब्लॉगिंग पर भी लागू होता है. आप बेहिचक ब्लॉगिंग प्लेटफार्म पर अपना अकाउंट बनाकर बिना पैसे लगाए ब्लॉगिंग कर सकते हैं पर यदि आप चाहें कि आपका ब्लॉग www.yourchosenname.com के फॉर्मेट में हो तो यह फ्री सर्विस में संभव नहीं होगा.

फ्री ब्लॉग  www.yourchosenname.blogprovidername.com  के फॉर्म में होगा. कस्टम डोमेन के लिए आपको होस्टिंग और डोमेन-नेम दोनों खरीदना पड़ेगा और इसका वार्षिक खर्च आपको लगभग 4000 रु. से 7000 रु. के बीच पड़ेगा. यदि आपको अपने चुने हुए नाम के साथ ब्लॉग प्लैटफ़ोर्म प्रोवाइडर का नाम नहीं चुभ रहा हो तो आप बेहिचक फ़्री-ब्लॉगिंग की शुरुआत कर सकते हैं और सच मानिये एक फ़्री-ब्लॉग और एक पेड-ब्लॉग को गूगल समान रूप से प्यार करता है.

 

कौन से ब्लॉग प्लैटफ़ोर्म प्रोवाइडर अच्छे हैं? (which blog-platform providers are good?)

ब्लॉगर की दुनिया में “वर्डप्रेस” को सबसे अधिक सराहा जाता है क्योंकि वर्डप्रेस में बने ब्लॉग गूगल सर्च-फ़्रैन्डली होते हैं. यदि आपको अपने ब्लॉग-सब्जेक्ट पर अच्छी पकड़ है और आप लिखने की कला में माहिर हैं तो आप जल्द ही गूगल सर्च-इंजन में शीर्ष स्थान पाने लगेंगे जिससे पाठकों की भीड़ आपके ब्लॉग पर टूट पड़ेगी. अन्य ब्लॉग प्लेटफार्म प्रोवाइडर ब्लागस्पॉट, जूमला, ड्रुपल इत्यादि हैं. आप अपना ब्लॉग यहाँ निःशुल्क बनाकर कालांतर में इन्हें पैसे देकर कस्टम डोमेन और अथाह वेब-स्पेस पा सकते हैं.

 

हमें पढ़ेगा कौन? (Who will read our blog?)

यह एक सहज प्रश्न है कि हम जैसे निरीह प्राणी जिसकी अरबों की इस दुनिया में कोई पहचान ही न हो तो उसका लिखा कोई पढ़े ही क्यों? लोग ब्लॉग पढेंगे तो अमिताभ बच्चन और नरेंद्र मोदी की, भला मेरी क्यों? यदि आप ऐसा सोच रहे हैं तो यह एक बिलकुल गलत सोच है. आपके लिखने की कला और आपका क्रिएटिव माईंड आपको दुनिया में एक नयी पहचान दे सकता है. इस वेब-दुनिया में पाठकों की कोई कमी नहीं है. कमी है तो हममें है जो सब कुछ होते हुए भी श्रीगणेश करने से पहले ही कंधा गिरा लेते हैं. आपका टेक्निकल ज्ञान, आपकी पाक कला, औरों को सहयोग देने का आपका व्यक्तित्व, आपकी आवाज़ आपको ब्लॉगिंग के उस शिखर पर पहुँचा सकती है जहाँ आप स्वयं को एक सेलिब्रिटी से कम नहीं आकेंगे.

 

क्या ब्लॉगिंग से कमाई संभव है? (Is it possible to earn from blogging?)

instamojo_logo

ब्लॉगिंग की दुनिया आपको दौलत और शोहरत दोनों देने में सक्षम है. ब्लॉगिंग के जरिये पैसे कमाने के कई साधन हैं. यह आपके क्रिएटिव स्किल पर निर्भर करता है कि आप अपने ब्लॉग पर आने वाले ऑडियंस को किस तरह विवश करते हैं कि वह आपको कुछ आर्थिक सहयोग देकर ही आपके ब्लॉग से बाहर निकले. पर यह है कैसे संभव? आप अपने ब्लॉग पर ई-बुकों का विक्रय कर सकते हैं. आप अपने ज्ञान को पी.डी.ऍफ़. फॉर्मेट में संकलित करके उसका विक्रय कर सकते हैं. “INSTAMOJO” एक ऐसा वेबसाइट है जो आपको ई-बुक (e-books) बेचने की सुविधा और मात्र 5% पर ट्रांजेक्शन-चार्ज लेकर फ्री पेमेंट-गेटवे सेट-अप (free payment gateway set-up) की सुविधा उपलब्ध कराता है. “गूगल ऐडसेन्स” पैसा कमाने का सबसे प्रभावशाली जरिया है. गूगल एडसेंस आपके ब्लॉग को सर्वप्रथम जाँचता-परखता है. यदि उसे आपका ब्लॉग अच्छा लगे तो वह आपके अकाउंट को अप्रूव करके आपके पोस्टल अड्रेस पर एक कोड भेजता है जिसे आपको अपने ऐडसेंस अकाउंट पर डालना होता है. फिर आप अपने ब्लॉग पोस्ट पर गूगल ऐडसेंस (google adsense earning) का ऐड-कोड डालकर प्रति यूजर क्लिक से हर महीने एक सैलरीड पर्सन से भी अधिक कमा सकते हैं.

 

मेरा यह मानना है कि ब्लॉगिंग को एक पैशन के रूप में देखना ही ठीक है. पैसे आपको खूब मिलेंगे पर पैसे के बाहर भी एक दुनिया है. यदि हम ब्लॉगिंग को सिर्फ कमाई का जरिया बना दें तो हमारा ब्लॉग एक बाजारू ब्लॉग ही रह जायेगा. हमें अपने कंटेंट पर ध्यान देना चाहिए.

 

कंटेंट ऐसा रहना चाहिए जिसमें सच्चाई हो, जो केवल अपना हो, क्रिएटिविटी से भरा हो.

 

ऐसा होने पर लोग स्वयं आपके ब्लॉग पर खिंचे चले आयेंगे और जाहिर है कि कमाई भी खूब होगी और आपको इस अरबों की भीड़ में एक ख़ास पहचान मिलेगी.

ब्लॉग के लिए और भी tips and tricks आगे भी discuss करूँगा….तब तक अपना ख्याल रखिये.

 

Tags: Blogging- कब और कैसे start करें-tips and tricks

 

Read them too :

9 Comments on “Blogging- कब और कैसे start करें-tips and tricks”

  1. Sir mai cuch bhi likh sakti hu apni uper bhi mai apni atm ktha likna chahti hu plese mughe rsta dikayi sir m bhut presan hu es sid ko gam kasi clye

  2. सर मेरे से ब्लॉग साईट बन नहीं रही है क्या नाम रखु……

    1. आप किस टॉपिक पर ब्लॉग बना रहे हैं? उसी से सम्बंधित कुछ मजेदार नाम रखें.

  3. Sir,,,ek sum gajab article h,,,,sir Maine apna blogspot content WordPress par transfer kiya tha lekin ,sir Jo mere blogspot ke article h vo Google index ho rage h ,,,,,,jis karan COPYSCAPE me 77℅ contents copy dikha raha h,,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.