इटली का एकीकरण – Unification of Italy in Hindi

Dr. SajivaHistory, World History20 Comments

unification of italy

एकीकरण के पूर्व इटली एक “भौगोलिक अभिव्यक्ति” मात्र था. वह अनेक छोटे-छोटे राज्यों में विभाजित था. राज्यों में मतभेद था और सभी अपने स्वार्थ में लिप्त थे. एकीकरण (Unification) के मार्ग में अनेक बाधाएँ थीं. लेकिन इटली (Italy) के कुछ प्रगतिवादी लोगों ने एकता की दिशा में कदम उठाया. इटली के एकीकरण (Unification of Italy) में आर्थिक तत्त्वों की भूमिका … Read More

उग्रवाद का उदय (बाल, लाल और पाल) – गरम दल 1905

Dr. SajivaHistory, Modern History, Video1 Comment

garam dal

1885 से 1905 तक भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन की बागडोर कांग्रेस के उदारवादी दल के हाथ में थी. 1905 ई. से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का दूसरा चरण प्रारम्भ होता है, जिसे उग्रवादी युग (garam dal) की संज्ञा दी गई है. जब ब्रिटिश साम्राज्यवाद का वरदान मानने वाले तथा उनकी न्यायप्रियता में अटूट विश्वास रखनेवाले उदारवादी नेताओं का विश्वास टूटकर बिखर गया तब … Read More

[विश्व इतिहास] फ्रांस की क्रांति – 1789 French Revolution

Dr. SajivaHistory, World History50 Comments

france_ki_kranti

फ्रांस की क्रांति (French Revolution): भूमिका 18वीं शताब्दी के 70-80 के दशकों में विभिन्न कारणों से राजा और तत्कालीन राजव्यवस्था के प्रति फ्रांस के नागरिकों में विद्रोह की भावना पनप रही थी. यह विरोध धीरे-धीरे तीव्र होता चला गया. अंततोगत्वा 1789 में राजा लुई 16वाँ (Louis XVI) को एक सभा बुलानी पड़ी. इस सभा का नाम General State था. यह सभा … Read More

Rowlatt Act (1919) क्या है? जानिए in Hindi

Dr. SajivaHistory, Modern History23 Comments

rowlatt-act

1918 के नवम्बर मास में यूरोप का पहला महायुद्ध समाप्त हो चुका था. जर्मनी और उसके साथियों को पूरी तरह परास्त करके वह पक्ष जीत गया था , जिसका सबसे बड़ा भागीदार ब्रिटेन था. इस जीत ने भारत के वातावरण को बिल्कुल बदल दिया था. युद्ध के दिनों अँगरेज़ शासकों में जो थोड़ा-बहुत भी विनय का भाव दिखता था, विजय … Read More

प्रथम विश्वयुद्ध – First World War [1914-18]

Dr. SajivaHistory, World History23 Comments

world_war

प्रथम विश्वयुद्ध की भूमिका (Background of First World War) 1914-18 ई. का प्रथम विश्वयुद्ध (First World War) साम्राज्यवादी राष्ट्रों की पारस्परिक प्रतिस्पर्द्धा का परिणाम था. प्रथम विश्वयुद्ध का सबसे महत्त्वपूर्ण कारण गुप्त संधि प्रणाली थी. यूरोप में गुप्त संधि की प्रथा जर्मन चांसलर बिस्मार्क ने शुरू की थी. इसने यूरोप  को दो विरोधी गुटों में विभाजित कर दिया. दो गुटों … Read More

[Quiz] गाँधीवादी चरण : Gandhian Phase MCQ in Hindi

Dr. SajivaQuiz27 Comments

Subhas_Chandra_Bose_with_Gandhi_Ji

टॉपिक: राष्ट्रीय आन्दोलन का गाँधीवादी चरण कुल सवाल: 12 पास मार्क्स: 50% अपना मार्क्स कमेंट में जरुर शेयर करें. गाँधी – 11 सूत्रीय योजना के बारे में पढ़ें या अन्य Quiz/MCQ के लिए क्लिक करें:>>> GK Quiz: सामान्य ज्ञान क्विज  

यूरोपीय व्यापारिक कंपनियों का भारत में आगमन

Dr. SajivaHistory, Modern History5 Comments

european_bharat_agman

प्राचीन काल से ही भारत का व्यापारिक सम्बन्ध पश्चिमी देशों से था. 1498ई. में Vasco-Da-Gama नामक पुर्तगाली (Portuguese) कालीकट पहुँचा (SSC Grad. 3 2003). 1500 ई. में पुर्तगाली व्यापारियों ने कोचीन में एक कोठी बनायी. 1506 ई. में गोवा नगर पर उन्होंने कब्ज़ा कर लिया. अल्बूकर्क के समय पुर्तगाली शक्ति का काफी विकास हुआ. पुर्तगालियों की बढ़ती हुई शक्ति से बीजापुर, अहमदनगर और कालीकट के शासक … Read More