भारत में निर्वाचन आयोग (Election Commission in India)

भारत में निर्वाचन आयोग (Election Commission in India)

भारत एक प्रजातन्त्रात्मक देश है. यहाँ प्रत्यक्ष मतदान द्वारा व्यवस्थापिका का संगठन किया जाता है. आम चुनाव के निष्पक्षतापूर्वक सम्पादन हेतु एक निर्वाचन आयोग की स्थापना संविधान के अनुच्छेद 324 के अनुसार की गई है. निर्वाचन आयोग पर कार्यपालिका अथवा न्यायपालिका किसी का भी नियंत्रण नहीं होता है और यह आयोग निष्पक्षतापूर्वक अपने कार्य को संपन्न […]

मंत्रिपरिषद का संगठन, नियुक्ति, प्रकार, योग्यता और वेतन

मंत्रिपरिषद का संगठन, नियुक्ति, प्रकार, योग्यता और वेतन

भारतीय संविधान में मंत्रिपरिषद से सम्बंधित दो अनुच्छेद अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैं. अनुच्छेद 47 में लिखा है कि राष्ट्रपति को उसके कार्यों में सहायता देने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक मंत्रिपरिषद के परामर्श के विषय में कोई भी न्यायिक कार्यवाही नहीं हो सकेगी. अनुच्छेद 74 के शब्द इस प्रकार हैं – ” राष्ट्रपति को अपने कार्यों को पूरा […]

मौलिक अधिकार: Fundamental Rights in Hindi

भारतीय संविधान के तृतीय भाग में नागरिकों के मौलिक अधिकारों (fundamental rights) की विस्तृत व्याख्या की गयी है. यह अमेरिका के संविधान से ली गयी है. मौलिक अधिकार व्यक्ति के नैतिक, भौतिक और आध्यात्मिक विकास के लिए अत्यधिक आवश्यक है. जिस प्रकार जीवन जीने के लिए जल आवश्यक है, उसी प्रकार व्यक्तित्व के विकास के लिए मौलिक अधिकार. […]

[Quiz] भारत सरकार अधिनियम, 1919 से सम्बंधित Questions

1919 के अधिनियम को ब्रिटिश संसद ने भारतीय प्रशासन में सुधार लाने तथा भारतीयों के असंतोष को दूर करने के लिए पास किया था. हालाँकि इस विधेयक के द्वारा विकेंद्रीकरण की नीति को प्रोत्साहन दिया गया, लेकिन साथ-ही-साथ केन्द्रीय व्यवस्थापिका को और भी ज्यादा शक्तिशाली बनाने का प्रयत्न किया गया था. आप भारतीय संविधान के […]

राज्य के नीति-निर्देशक तत्त्व (Directive Principles) के विषय में जानें

राज्य के नीति-निर्देशक तत्त्व (Directive Principles) के विषय में जानें

संविधान के चतुर्थ अध्याय में राज्यों के लिए कुछ निर्देशक तत्त्वों (directive principles) का वर्णन है. ये तत्त्व आयरलैंड के संविधान से लिए गए हैं. ये ऐसे उपबंध हैं, जिन्हें न्यायालय का संरक्षण प्राप्त नहीं है. अर्थात्, इन्हें न्यायालय के द्वारा बाध्यता नहीं दी जा सकती. तब प्रश्न यह उठता है कि जब इन्हें न्यायालय […]

[Quiz] उच्चतम न्यायालय: MCQ on Supreme Court

Uchtam Nyayalaya ya Sarvoch Nyayalaya se jude Prashn (MCQ)

टॉपिक: उच्चतम न्यायालय (Supreme Court of India) कुल सवाल: 12 पास मार्क्स: 50% [alert-announce]नोट: उच्चतम नयायालय के इस MCQ को सोल्व करने से पहले यह पोस्ट जरुर पढ़ लें:> सर्वोच्च न्यायालय के विषय में जानकारियाँ. तब जाकर आप इन प्रश्नों का सही-सही हल कर सकेंगे.[/alert-announce] अपना मार्क्स कमेंट में जरुर शेयर करें. अन्य Quiz/MCQ के लिए क्लिक […]

सर्वोच्च न्यायालय के विषय में जानकारियाँ

सर्वोच्च न्यायालय के विषय में जानकारियाँ

संघात्मक शासन के अंतर्गत सर्वोच्च, स्वतंत्र और निष्पक्ष न्यायालय का होना आवश्यक बताया जाता है. भारत भी एक संघीय राज्य है और इसलिए यहाँ भी एक संघीय न्यायालय का प्रावधान है, जिसे सर्वोच्च न्यायालय कहते हैं. सर्वोच्च न्यायालय संविधान का व्याख्याता, अपील का अंतिम न्यायालय, नागरिकों के मूल अधिकारों का रक्षक, राष्ट्रपति का परामर्शदाता और संविधान का […]

राष्ट्रपति का निर्वाचन, शक्ति, कार्यकाल और विशेषाधिकार

Aaj hum bharat ke Rashtrapati ka nirvachan/niyukti kaise hota hai, uski shaktiyaan kya-kya hain, uska kaarykaal kitne varsh ka hota hai, use kaun se vishesh adhikaar praapt hain, in sab ke vishay men jaanenge.

राष्ट्रपति का निर्वाचन, शक्ति, कार्यकाल और विशेषाधिकार

भारत के संविधान में औपचारिक रूप से संघ की कार्यपालिका की शक्तियाँ राष्ट्रपति को दी गयी है. पर वास्तव में प्रधानमंत्री के नेतृत्व में बनी मंत्रिपरिषद् के माध्यम से राष्ट्रपति इन शक्तियों का प्रयोग करता है. वह पाँच वर्ष के लिए चुना जाता है. राष्ट्रपति पद के लिए सीधा जनता के द्वारा निवार्चन नहीं होता. उसका […]

Background and details of Nepal New Constitution हिंदी में पढ़ें

Background and details of Nepal New Constitution हिंदी में पढ़ें

आज क्यों चर्चा में है नेपाल? Why is Nepal in news these days? 500 मील तक फैली हुई बुद्ध की भूमि नेपाल (Nepal, the land of Buddha) आज फिर चर्चा में है. भूकंप त्रासदी के बाद कई वर्षों से हो रही राजनैतिक उठा-पटक के बाद नेपाल एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के रूप में स्थापित हो गया […]